• Hindi News
  • Bihar
  • Madhepura
  • Kumarkhand News during the survey in balam garhia 17 people from outside have been identified now they will remain at home

बालम गढ़िया में सर्वे के दौरान बाहर से आए 17 लोगांे को किया गया चिह्नित, अब घर में ही रहेंगे

Madhepura News - ट्रेनों का परिचालन बंद होने तथा शहर में लॉकडाउन रहने के कारण भिखारियों के समक्ष भुखमरी की स्थिति पैदा हो गई है।...

Mar 27, 2020, 07:25 AM IST
Kumarkhand News - during the survey in balam garhia 17 people from outside have been identified now they will remain at home

ट्रेनों का परिचालन बंद होने तथा शहर में लॉकडाउन रहने के कारण भिखारियों के समक्ष भुखमरी की स्थिति पैदा हो गई है। आलम यह है कि वर्षों से दोरम मधेपुरा रेलवे स्टेशन पर आशियाना बनाकर रह रहे एक दर्जन से अधिक भिखारियों को स्टेशन से बाहर कर दिया गया है जिसके कारण उनके पास सिर छिपाने की भी जगह नहीं है। स्थिति अगर यही रही तो कई भिखारी कोरोना से नहीं भूख से दम तोड़ सकते हैं। रेल यात्री सेवा समिति के अध्यक्ष माधव प्रसाद यादव ने जिला प्रशासन से मांग किया कि वे भिखारियों के रहने तथा खाने का इंतजाम करें ताकि दर्जनों बेसहारा लोगों की जिंदगी बचाई जा सके।

जानकारी के अनुसार मधेपुरा रेलवे स्टेशन पर वर्षों से दर्जनों भिखारी रह रहे थे। वे ट्रेनों अथवा बाजार में भीख मांगकर जीवन जी रहे थे। खासकर शुक्रवार को बाजार में निकलने वाले भिखारियों के दल कम से कम इतना रुपए मांग लेते थे जिसमें वे पूरी सप्ताह मौज से गुजार सके। भीषण ठंड के समय में जिला प्रशासन तथा अन्य संस्थाओं द्वारा उन्हें कंबल अथवा कपड़े का इंतजाम कर दिया जाता था। लेकिन कोरोना के कहर ने उनकी बेसहारा जिंदगी को बर्बाद कर दिया है। भिखारन दुखनी देवी ने बताया कि ट्रेन व बाजार बंद हो जाने से उसकी जिंदगी तबाह हो गई है। अब वह कहां जाकर भीख मांगेगी और कहां रहेगी, यह उसे समझ नहीं आता। लिहाजा अब मौत के अलावे उसके पास कोई दूसरा रास्ता नहीं है।

मृत्यु भोज नहीं करने का निर्णय

कुमारखंड | वैश्विक स्तर पर महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस को देखते हुए प्रखंड के भतनी गांव में मृत्यु भोज नहीं करने का मृतक के परिजनों और ग्रामीणों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया। बताया जा रहा है कि गांव के नीतू पोद्दार नामक एक व्यक्ति की 20 मार्च को हार्टअटैक से असामयिक निधन हो गया था। हिंदू परंपरा के अनुसार मृतक के श्राद्ध कर्म के दौरान संपीडन पर मृत्यु भोज का आयोजन होता है। इस बीच कोरोना वायरस के फैलने से सरकार द्वारा जारी निर्देश के बाद लोग घरों में रहकर खुद को सुरक्षित करने में लगे हैं। एक जगह लोगों के इकट्‌ठा होने पर रोक लगा दी गई है। मृतक के पुत्र डॉ. ऋषभ कुमार, स्नेह दीप, सरोज पोद्दार, विनोद पोद्दार, अशोक कुमार, प्रमोद कुमार सहित अन्य परिजन और ग्रामीणों ने बैठक कर इस मुद्दे पर विचार- विमर्श किया। मृतक के पुत्र ने वायरस के प्रकोप को देखते हुए मृत्यु भोज को स्थगित करने की बात रखी। जिसे परिजनों और ग्रामीणों ने एक स्वर में स्वीकारते हुए मृत्यु भोज स्थगित करने का निर्णय लिया। सबों ने खुद को सुरक्षित रखने के लिए ज्यादा से ज्यादा अपने घरों में रहने और नियमित हाथ की सफाई और एक दूसरे से दूरी बनाकर रहने के सरकार के निर्देश का पालन करने का भी निर्णय लिया।

आज पहुंचेगी यूरिया की रैक

मधेपुरा | लॉकडाउन के कारण किसानों काे यूरिया की कमी नहीं होने दिया जाएगा। यूरिया की एक रैक शुक्रवार को दोरम मधेपुरा रेलवे स्टेशन पहुंच रही है। उक्त आशय की जानकारी जिला कृषि पदाधिकारी राजन बालन ने दी। उन्होंने बताया कि अभी किसानों को मक्का में देने के लिए यूरिया की आवश्यकता है। कंपनी से सूचना मिली है कि यूरिया चल चुकी है और रैक शुक्रवार को यहां पहुंच रही है। वहां से संबंधित एजेंसी मालिक को यूरिया उपलब्ध करा दी जाएगी ताकि किसान बिना परेशानी के खरीद सके। बालन ने बताया कि जानकारी मिली है कि लॉकडाउन की आड़ में कुछ खाद विक्रेता अधिक कीमत पर यूरिया की कालाबाजारी कर रहे है। सभी प्रखंड कृषि पदाधिकारियों को निर्देश जारी किया गया है कि वे ऐसे दुकानदारों को चिह्नित कर उसकी सूचना दें ताकि उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए लाइसेंस रद्द किया जा सके। उन्होंने किसानों को आश्वस्त किया कि आप निश्चिंत रहें।

कोरोना को ले पंचायत प्रतिनिधियों की बैठक

शंकरपुर | पंचायतीराज विभाग के मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा के निर्देशानुसार गुरुवार को सभी पंचायतों में एक आमसभा का आयोजन किया गया। जिसमें कोरोना से संबंधित कई बातों की जानकारी दी गई। विदित हो कि 25 मार्च को वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा सभी मुखिया, सरपंच, सहित अन्य जनप्रतिनिधि को कई आवश्यक निर्देश दिया गया था। इसी के आलोक में गुरुवार को बैठक का आयोजन किया गया। विभिन्न पंचायतों में मुखिया अरुण कुमार अकेला, मुखिया राजेंद्र प्रसाद यादव, मुखिया किरण देवी, प्रो. वैद्यनाथ यादव, प्रेमलता कुमारी, वींरेंद्र शर्मा, रंजू देवी, संजय गांधी, सुमित्रा देवी बैठक में शामिल हुईं। इस दौरान सरपंच राजेंद्र यादव राजा, योगेंद्र यादव, शंकर सरदार, उपमुखिया प्रतिनिधि राजीव रंजन, मुखिया प्रतिनिधि अमर कुमार, उपमुखिया बबलू कुमार आदि थे।

कोरेंटाइन सेंटर के नाम पर खानापूर्ति

घैलाढ़ | कोरोना वायरस के संक्रमण से सतर्कता के लिए क्षेत्र में बाहर से लौट रहे लोगों के लिए पंचायत में सरकार के द्वारा कोरेंटाइन सेंटर की व्यवस्था की गई है। बीडीओ राघवेंद्र शर्मा ने बताया कि पूरे प्रखंड में 9 कोरेंटाइन सेंटर बनाया गया है। जिसमें घैलाढ़ पंचायत में दुर्गा उच्च विद्यालय, चिति मध्य विद्यालय, मध्य विद्यालय चिक्नॉटवा, श्रीनगर पंचायत सरकार भवन, भतरंधा परमानपुर सरकार भवन, मध्य विद्यालय बरदाहा, मध्य विद्यालय भान, उच्च विद्यालय रतनपुरा को कोरेंटाइन भवन के रूप में चिह्नित किया गया है। इसके साथ ही सभी पंचायत के प्रतिनिधि पंचायत के विकास मित्र सेविका सहायिका आशा आदि कर्मी को पत्र के माध्यम से जानकारी भी दे दी गई है कि बाहर से आए व्यक्तियों को चिह्नित कर कोरेंटाइन सेंटर में रखकर वरीय पदाधिकारी को सूचना दें। उसके बाद जांच टीम सेंटर पर जाएगी। लेकिन यहां देखने से प्रतीत होता है कि यह सब सिर्फ कागजी तौर हो रहा है, जिसकी पड़ताल के बाद देखा गया कि भतरंधा परमानपुर पंचायत सरकार भवन बरदाहा मध्य विद्यालय बंद पाया गया। वहां कोई कर्मी नहीं पाया गया। वहीं झिटकिया में मात्र दो सीएलटीएस राजेश कुमार सुशील कुमार मौजूद थे।

गुरुवार को पंचायत का सर्वे करते मुखिया और एएनएम।

भास्कर न्यूज | मधेपुरा

कोरोना वायरस के संक्रमण पर रोेक को लेकर सरकार के आदेश पर जिला प्रशासन ने पंचायतों में लॉकडाउन को शत-प्रतिशत लागू करने का निर्देश जारी किया है। इसी आलोक में गुुरुवार को जिला पदाधिकारी नवदीप शुक्ला के निर्देश पर सदर प्रखंड के आदर्श ग्राम पंचायत बालम गढ़िया में पंचायत के मुखिया डॉ. अनिल अनल की अध्यक्षता में पंचायत भवन में पंचायत प्रतिनिधियों की बैठक हुई। इसमें निर्णय लिया गया कि प्रदेश से गांव आने वाले लोगों को चिह्नित किया जाए। चिह्नित लोगों को 14 दिन के अंदर घर में एकांतवास करने का निर्देश दिया जाए। अगर वे पंचायत के इस फैसले को नहीं मानते हैं तो उन्हें जिला प्रशासन के हवाले किया जाए। मुखिया डॉ. अनल ने कहा कि कोरोना पूरे विश्व में महामारी का रूप धारण कर लिया है। हम सावधानी, सुरक्षा और एहतियात के नाम पर खानापूर्ति नहीं होने देंगे। पंचायत की जनता की जिंदगी हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है।

सेहत के लिए जरूरी है कि संपूर्ण लॉकडाउन पंचायत में लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर कोरोना का सामना करेंगे तथा इसे पंचायत में किसी भी हालत में प्रवेश नहीं करने देंगे। बैठक में पूर्व मुखिया चुनचुन कुमार, सरपंच विशेश्वर सुतिहार, पंकज यादव, भूषण यादव, दिलीप सम्राट, नीतीश कुमार, प्रेमसागर उर्फ खुशखुश तथा रघु यादव सहित अन्य भी मौजूद थे।

मेडिकल टीम ने की लोगों की जांच : प्रशासनिक निर्देश के आलोक में मुखिया के नेतृत्व में बाहर से आए 17 लोगांे को मेडिकल टीम ने चिह्नित किया। सर्वे के दौरान पता चला कि 15 से 24 मार्च के बीच आंध्र प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, जालंधर व टाटा से एक-एक, दिल्ली से नौ, पंजाब से दो तथा हरियाणा से दो लोग घर आए हैं। चिह्नित किए गए लोगांे के परिजनों से आग्रह किया गया कि वे इन्हें 14 दिन तक घर के अलग कमरे में रखें। सर्वे के दौरान एएनएम रुकमणी कुमारी, कमलापति सिंहा, एचएससी बालम गढ़िया की एएनएम पुष्पा कुमारी सहित अन्य भी माैजूद थीं।

परदेस से गांव में आए चिह्नित लोगों से 14 दिन के अंदर घर में ही रहने की अपील

भिखारियों से खाली कराया गया रेलवे स्टेशन

X
Kumarkhand News - during the survey in balam garhia 17 people from outside have been identified now they will remain at home

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना