--Advertisement--

शिवलिंग पर जल चढ़ाकर रोज बोलें कोई 1 शिव मंत्र, भाग्योदय के लिए पूजा में चावल, बिल्व पत्र, दूध जैसी शुभ चीजें शिवलिंग पर जरूर चढ़ाएं

शनि हो या राहु-केतु शिवजी की पूजा से सभी नौ ग्रहों के दोष दूर हो सकते हैं।

Danik Bhaskar | Jun 22, 2018, 12:22 PM IST

रिलिजन डेस्क। शिव पुराण के अनुसार शिवजी की पूजा से कुंडली के दोष और सभी समस्याएं खत्म हो सकती हैं। शिवलिंग पर जल चढ़ाते समय किसी एक शिव मंत्र का जाप करते रहना चाहिए। उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी और ज्योतिर्विद पं. सुनील नागर के अनुसार छोटी-छोटी 7 स्टेप्स में शिव पूजा कर सकते हैं। शिवजी की इच्छा से ही ब्रह्माजी ने इस संपूर्ण सृष्टि की रचना की है और भगवान विष्णु पालन कर रहे हैं। सभी ग्रह और नक्षत्र शिवजी के ही अधीन माने गए हैं। इसीलिए शिवलिंग की पूजा करते रहने से ग्रहों के दोषों से मुक्ति मिल सकती है।

शिव पूजा की विधि

हर रोज सुबह जल्दी उठें। स्नान करते समय शिव मंत्रों का, तीर्थों का, सभी नदियों का ध्यान करें। नहाने के बाद शिव पूजा के लिए सफेद वस्त्र पहनें। किसी शिव मंदिर जाएं या घर के मंदिर में ही शिव पूजा की व्यवस्था करें।

अब जानिए शिव पूजा की स्टेप्स...

1. शिवलिंग पर जल चढ़ाएं। पंचामृत से अभिषेक करें। मंत्र ऊँ नम: शिवाय, ऊँ महेश्वराय नम:, ऊँ शंकराय नम:, ऊँ रुद्राय नम: आदि मंत्रों का जाप करें।

2. चंदन, फूल, प्रसाद चढ़ाएं। धूप और दीप जलाएं।

3. शिवजी को बिल्वपत्र, धतूरा, चावल अर्पित करें।

4. भगवान को प्रसाद के रूप में फल या दूध से बनी मिठाई अर्पित करें।

5. पूजन के बाद धूप, दीप, कर्पूर से आरती करें।

6. शिवजी का ध्यान करते हुए आधी परिक्रमा करें।

7. भक्तों को प्रसाद वितरित करें।

ये पूजा की सामान्य विधि है। इस विधि से ब्राह्मण की मदद के बिना भी शिव पूजा कर सकते हैं।

Related Stories