एजुकेशन लाेन न चुका पाया ताे बीअाईटी के छात्र ने दे दी जान

News - नाैकरी न मिलने से एजुकेशन लाेन नहीं चुका पाया ताे बीअाईटी मेसरा के अाईटी इंजीनियरिंग छात्र शशिकांत सिन्हा ने...

Dec 04, 2019, 09:47 AM IST
नाैकरी न मिलने से एजुकेशन लाेन नहीं चुका पाया ताे बीअाईटी मेसरा के अाईटी इंजीनियरिंग छात्र शशिकांत सिन्हा ने बड़ा तालाब में कूदकर खुदकुशी कर ली। उसका शव दाे दिन तक रिम्स में पड़ा रहा। सुखदेव नगर थाना क्षेत्र में माचिस फैक्ट्री के पास रहने वाले अनिल कुमार ने मंगलवार काे रिम्स में शव की पहचान अपने बेटे के रूप में की। अनिल कुमार ने पुलिस काे बताया कि शशिकांत 2014-18 बैच का बीअाईटी मेसरा से अाईटी इंजीनियरिंग का स्टूडेंट था। एडमिशन के समय उसने दीपाटाेली स्थित एसबीअाई से 7.50 लाख का एजुकेशन लाेन लिया था। पढ़ाई के दाैरान उसकी तबीयत ठीक नहीं रहती थी। इसलिए वह क्लास नहीं कर पाता। कुछ विषयाें में वह फेल हाे गया। डिग्री नहीं मिली ताे उसे जाॅब भी नहीं मिली। इसी दाैरान लाेन राशि बढ़कर 10 लाख रुपए हाे गई। इससे वह परेशान रहने लगा। 27 नवंबर काे पता चला कि गारंटर हाेने की वजह से लाेन की राशि उसके पिता के बैंक अकाउंट से कटने लगी। इसके बाद वह बड़ा तालाब में कूद गया।

लाेन माफी के लिए एक दिन पहले पीएमअाे काे लिखा पत्र

पिता के अकाउंट से लाेन की राशि कटने की जानकारी मिलने के बाद 27 नवंबर की देर रात तक शशिकांत पीएमअाे काे पत्र लिखता रहा। 28 नवंबर काे सुबह उसने मेल किया। 29 नवंबर काे भी जब जवाब नहीं मिला ताे वह परेशान हाे गया अाैर तालाब में कूद गया। एक दिसंबर काे मछली मारने गए लाेगाें ने शव तैरता देखा ताे पुलिस काे सूचना दी।

छह महीने पहले डिप्रेशन में घर छाेड़कर चला गया था

काेतवाली थाना प्रभारी बृज कुमार ने बताया कि शशिकांत लगभग छह माह पहले डिप्रेशन में चला गया था। इसके बाद घर से कहीं चला गया था। हालांकि दाे दिनाें बाद वह घर लाैट अाया था। घर अाने के बाद परिजनाें ने रिनपास में उसका इलाज कराया था।

दाे भाई व दाे बहनाें में तीसरे नं. पर था शशिकांत : शशिकांत दाे भाई अाैर दाे बहनाें में तीसरे नंबर पर था। बड़ा भाई शिवकांत पटना में बैंकिंग की तैयारी करता है। बड़ी बहन सुमन रिम्स में नर्सिंग की पढ़ाई कर रही है। छाेटी बहन भी रांची में पढ़ रही है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना