--Advertisement--

केतु ग्रह कर सकता है बुद्धि खराब और व्यक्ति हो जाता है बुरी आदतों का शिकार

जिस व्यक्ति की कुंडली में केतु ग्रह अशुभ होता है, उसे दिमागी कामों में सफलता नहीं मिल पाती है।

Danik Bhaskar | Jun 19, 2018, 10:45 AM IST

रिलिजन डेस्क। ज्योतिष में कुल नौ ग्रह बताए गए हैं। सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुरु, शुक्र, शनि और राहु-केतु। राहु और केतु को छाया ग्रह माना जाता है। ये ग्रह बहुत ही रहस्यमयी होते हैं। कोलकाता की एस्ट्रोलॉजर डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार कुंडली में केतु की अशुभ स्थिति से व्यक्ति की बुद्धि खराब हो सकती है। व्यक्ति नशा, जुआं जैसी बुरी आदतों का शिकार हो सकता है। अगर ये ग्रह शुभ हो तो व्यक्ति को धनवान भी बना सकता है।

केतु को क्रूर ग्रह माना जाता है। ये ग्रह व्यक्ति को भ्रम में फंसाकर रखता है। इस ग्रह की वजह से व्यक्ति सही निर्णय नहीं कर पाता है और परेशानियों में उलझ जाता है। जब किसी व्यक्ति की कुंडली में राहु और केतु के बीच सभी ग्रह आ जाते हैं तो कालसर्प दोष बन जाता है।

यहां जानिए डॉ. राठी के अनुसार केतु के अशुभ असर को कम करने के लिए कौन-कौन से उपाय किए जा सकते हैं। ये उपाय सभी 12 राशि के लोग कर सकते हैं।

1. केतु के अशुभ असर से बचने के लिए मां सरस्वती और गणेशजी की पूजा रोज करनी चाहिए। इन दोनों देवी-देवता की पूजा करने से बुद्धि तेज चलती है और सुख-समृद्धि की प्राप्ति हो सकती है। साथ ही, इनकी कृपा से घर-परिवार और समाज में मान-सम्मान भी मिल सकता है।

2. केतु के लिए लाल चंदन के 108 मोतियों की माला गले में पहननी चाहिए। इसके लिए ये माला किसी बाह्मण से अभिमंत्रित करवा लेनी चाहिए।

माला धारण करने से पहले केतु मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए। केतु का मंत्र : ऊँ केतवे नम:

3. केतु के दोषों को दूर करने के लिए लहसुनिया धारण करना चाहिए। ध्यान रखें ये रत्न नकली नहीं होना चाहिए। सही लहसुनिया ही धारण करें, वरना फायदे की जगह नुकसान भी हो सकता है।

4. केतु के लिए घर के मंदिर में केतु यंत्र रख सकते हैं। इस यंत्र के शुभ असर से घर पर किसी की बुरी नजर भी नहीं लगती है।

5. इस ग्रह की शांति के लिए काले कंबल, काले तिल, जूते-चप्पल का दान शनिवार को करें। ये उपाय महीने में कम से कम एक बार जरूर करें। शनि की पूजा करने से भी केतु के दोष दूर हो सकते हैं।

Related Stories