--Advertisement--

शुक्रवार को है शुभ तिथि, 8 उपाय दिला सकते हैं लक्ष्मी कृपा

11 मई की रात लक्ष्मी पूजन करें। कमल के फूल चढ़ाएं। कमल गट्टे की माला से ऊँ महालक्ष्मयै नम: मंत्र का जाप करें।

Danik Bhaskar | May 10, 2018, 03:53 PM IST

रिलिजन डेस्क। शुक्रवार, 11 मई को अचला एकादशी है। गीताप्रेस गोरखपुर द्वारा प्रकाशित स्कंद पुराण अंक के वैष्णव खंड में एकादशी का महत्व बताने वाला एकादशी महात्म्य का अध्याय है। इस अध्याय में श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर को सालभर की सभी एकादशियों के बारे में बताया है। सभी एकादशियों पर भगवान विष्णु की पूजा विशेष रूप से की जाती है। यहां जानिए उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी और ज्योतिर्विद पं. सुनील नागर के अनुसार एकादशी पर कौन-कौन से उपाय किए जा सकते हैं...

1. आज रात लक्ष्मी पूजा करें और कमल के फूल चढ़ाएं। कमल गट्टे की माला से लक्ष्मी मंत्र ऊँ महालक्ष्मयै नम: का जाप 108 बार करें। इससे देवी लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

2. एकादशी पर जल, तुलसी, तिल, फूल और पंचामृत से भगवान विष्णु की पूजा करें। यह व्रत रखने वाले व्यक्ति को सिर्फ फलाहार करना चाहिए। अगले दिन द्वादशी तिथि पर किसी जरुरतमंद व्यक्ति को भोजन कराएं, दान-दक्षिणा दें। इसके बाद भोजन ग्रहण करना चाहिए।

3. भगवान विष्णु और महालक्ष्मी की पूजा एकसाथ करें। पूजा में शंख, मोती, सीप, कौड़ी भी जरूर रखें। ये सभी चीजें देवी लक्ष्मी को प्रिय हैं। पूजा के बाद इन चीजों को धन स्थान पर रखने से धन वृद्धि हो सकती है।

4. इस दिन लक्ष्मी-विष्णु पूजा के बाद प्रमुख द्वार पर लक्ष्मी के गृहप्रवेश करते हुए चरण स्थापित करें।

5. श्रीयंत्र, कनकधारा यंत्र, कुबेर यंत्र को सिद्ध कराकर पूजा स्थान पर या तिजोरी में रखें। इस उपाय से धन लाभ मिलने की संभावनाएं बढ़ सकती हैं।

6. एकादशी पर दक्षिणावर्ती शंख की पूजा करें। इससे घर में सुख-समृद्धि बढ़ती है।

7. इस दिन आंकड़े के गणेश की पूजा करनी चाहिए। पूजा के बाद घर के मंदिर में गणेशजी की ये प्रतिमा स्थापित करें। इससे धन की कमी दूर हो सकती है।

8. लक्ष्मी पूजा में एकाक्षी नारियल या समुद्री नारियल भी रखें। तिजोरी में ये नारियल रखने से कार्यों में सफलता मिल सकती है।

Related Stories