--Advertisement--

5 फीट की मिनी पनडुब्बी ऐसे बचाती है जान, अमेरिका से विशेष विमान में लेकर थाइलैंड की गुफा तक पहुंचे कारोबारी एलन मस्क

थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में फंसे 4 बच्चों को रविवार को सुरक्षित निकाल लिया गया है।

Danik Bhaskar | Jul 10, 2018, 01:41 PM IST

गैजेट डेस्क. टेस्ला और स्पेस एक्स के सीईओ एलन मस्क सोमवार को थाईलैंड की गुफा में फंसे फुटबॉल टीम के बच्चों को बचाने के लिए अपनी मिनी सबमरीन लेकर पहुंच गए हैं। इस किड-साइज सबमरीन को मस्क ने थाईलैंड की लाम थुआंग गुफा में फंसे बच्चों को बचाने के लिए डिजाइन किया है। विशेष विमान से अमेरिका से थाईलैंड पहुंचने के बाद मस्क ने ट्विटर पर लिखा 'यदि जरुरत पड़ी तो छोटी पनडुब्बी तैयार है। यह रॉकेट के पार्ट्स से बनी है। इसका नाम वाइल्ड बोर है।' इस सबमरीन का डेमो वीडियो भी मस्क ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया था और दावा किया जा रहा है कि काफी छोटे साइज में बनी इस सबमरीन से आसानी से बच्चों को बाहर निकाला जा सकता है।

पनडुब्बी में बैठा बच्चा पूरी तरह सुरक्षित रहेगा : मस्क ने बताया कि यह हल्की है। इसे 2 गोताखोर आसानी से ले जा सकते हैं। यह मजबूत है, छोटी है और बहुत संकरी जगह से भी निकल सकती है। इसके अंदर बैठे बच्चे को तैरने की जरूरत नहीं है और न ही यह जानने की ऑक्सीजन बोतलों का किस तरह इस्तेमाल किया जाए। उन्होंने लॉस एंजिल्स स्विमिंग पूल में पनडुब्बी के परीक्षण का वीडियो भी पोस्ट किया है। पिछले सप्ताह मस्क ने कहा था कि वे अपने निजी स्पेस एक्सप्लोरेशन फर्म स्पेस-एक्स एंड इंजीनियरिंग फर्म बोरिंग कंपनी की एक टीम को थाईलैंड भेज रहे हैं।

दरअसल, 23 जून को थाईलैंड की थाम लुआंग गुफा में 12 बच्चे और कोच फंस गए थे। जिसके बाद से 9 दिनों तक चले तलाश अभियान के बाद इन बच्चों के गुफा में फंसे होने की बात पता चली। पिछले 7 दिनों से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है और अभी 8 बच्चे बाहर निकाले जा चुके हैं, जबकि 4 बच्चे और कोच अभी भी गुफा में फंसे हैं।

8 घंटे में बनाई जा सकेगी छोटी सबमरीन: एलन मस्क ने रविवार को ट्विटर पर किड-साइज सबमरीन का वीडियो शेयर किया गया। इस वीडियो में उन्होंने बताया कि ये सबमरीन किस तरह से काम करेगी। ये सबमरीन फॉल्कन रॉकेट के लिक्विड ऑक्सीजन ट्रांसफर ट्यूब के जरिए चलेगी। मस्क ने बताया कि इसका वजन काफी हल्का होगा और 2 डायवर्स इसे आसानी से ले जा सकते हैं।
- उन्होंने बताया कि इस सबमरीन में 8 हिच पॉइंट्स होंगे, जिनमें से 4 आगे और 4 पीछे होंगे। इसके साथ ही लीकेज से बचाने के लिए इसमें 4 एयर टैंक भी दिए गए हैं।
- एलन मस्क ने ये भी बताया कि इस छोटी सबमरीन को 8 घंटों में ही तैयार किया जा सकता है और फ्लाइट के जरिए इसे अमेरिका से थाईलैंड पहुंचने में 17 घंटे का समय लगेगा।

कैसे काम करेगी ये सबमरीन?
- एलन मस्क के ट्विटर अकाउंट पर शेयर किए इस वीडियो में सबमरीन के काम करने का तरीका भी दिखाया गया है। इस सबमरीन का साइज काफी छोटा है, जिसकी लंबाई करीब 5 फीट के आसपास है।
- इसके एक साइड में ऑक्सीजन सिलेंडर लगे हैं, जिसका पाइप सबमरीन के ऊपरी हिस्से से अंदर की तरफ गया है। दूसरी साइडमें प्रोपेलर लगा है, जिसकी मदद से ये सबमरीन चलती है।
- इसमें एक छोटा बच्चा आसानी से लेटकर आ सकता है। इसके लिए बच्चे को पीठ के बल अपने हाथों को फोल्ड करके लेटना होता है। अंदर रोशनी के लिए बच्चे के हाथ में 2 टॉर्च भी रहेगी।
- वीडियो के मुताबिक, इस सबमरीन के ऊपरी हिस्से में पकड़ने के लिए 4 हैंडल दिए गए हैं और सबमरीन को 2 मिनट से भी कम समय में खोला जा सकता है और बच्चे को बाहर निकाला जा सकता है।