• Hindi News
  • Rajya
  • Delhi NCR
  • News
  • New Delhi News enables employees in entrepreneurship through learning platform 145 lakh people will get job opportunities in 5 years in direct selling

लर्निंग प्लेटफार्म के जरिए कर्मचारियों को आंत्रप्रेन्योरशिप में सक्षम बनाते हैं, डायरेक्ट सेलिंग में 5 साल में 14.5 लाख लोगों को मिलेंगे जाॅब के मौके

News - क्लाउड कंप्यूटिंग, ईआरपी, साइबर सिक्युरिटी, डिजिटल मार्केटिंग में हैं ज्यादा स्कोप डायरेक्ट सेलिंग...

Feb 15, 2020, 07:21 AM IST
New Delhi News - enables employees in entrepreneurship through learning platform 145 lakh people will get job opportunities in 5 years in direct selling
क्लाउड कंप्यूटिंग, ईआरपी, साइबर सिक्युरिटी, डिजिटल मार्केटिंग में हैं ज्यादा स्कोप

डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री 2025 तक 64,500 करोड़ रुपए की होने की संभावना है। यानी यह लगभग नौ गुना बढ़ जाएगी। इसमें लगभग 15 लाख लोगों को स्वरोजगार मिलने की संभावना है। जॉब के मौकों को लेकर मोदीकेयर लिमिटेड के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर राहुल शंकर से दैनिक भास्कर ने बातचीत की।

डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री की पिछले चार वर्षों में 16% से अधिक ग्रोथ

{केपीएमजी की एक रिपोर्ट के मुताबिक डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री वर्ष 2025 तक 64,500 करोड़ रुपए की हो जाएगी।

{फिक्की के मुताबिक वर्तमान में यह इंडस्ट्री 7500 करोड़ रुपए की है। यानी कि अगले पांच साल में लगभग नौ गुना बढ़ जाएगी।

{अगले पांच साल में लगभग 14.5 लाख लोगों को स्वरोजगार मिल सकने की संभावना है।

{डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री पिछले चार वर्षों में 16 प्रतिशत से अधिक की दोहरे अंक की वृद्धि दर्ज कर रही है।

{सबसे ज्यादा डायरेक्ट सेलिंग गुजरात में होती है। यहां लगभग 3,000 करोड़ रुपए का कारोबार है।

{भारत में प्रति एजेंट औसत बिक्री लगभग 20,000 रुपए प्रति वर्ष है, जबकि वैश्विक औसत लगभग 1,20,000 रुपए है। यानी अभी इसमें वृद्धि की अधिक गुंजाइश है।

इन पदों पर है जॉब्स

}मैनेजर }रिलेशनशिप मैनेजर, }नेटवर्किंग एक्सपर्ट }नेटवर्किंग टीम मैनेजर }डिस्ट्रीब्यूशन मैनेजर }टीम लीडर }सेल्स एजेंट }प्रोडक्ट एक्सपर्ट }कस्टमर ग्रीवांस एक्जीक्यूटिव, }आईटी एक्सपर्ट }अकाउंट }लीगल एडवाइजर

 **

मोदीकेयर लिमिटेड के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर

}राहुल शंकर**

{कैसी योग्यता वाले उम्मीदवार चाहिए?

न्यूनतम योग्यता स्नातक है। प्रबंधकीय पदों के लिए उम्मीदवार में पेशेवर योग्यता चाहते हैं। प्रत्येक फंक्शन में विभिन्न भूमिकाओं के आधार पर तकनीकी कौशल भी तलाशते हैं।

{ फ्रेशर्स और पेशेवरों के लिए क्या अवसर हैं?

फ्रेशर्स के लिए मैनेजमेंट ट्रेनी प्रोग्राम है, जिसमें हम टीयर 1 और 2 कॉलेजों के मैनेजमेंट ट्रेनीज को हायर करते हैं। इन्हें सेल्स, ट्रेनिंग, कस्टमर हैप्पी, मार्केटिंग और एचआर डिपार्टमेंट में फ्रंटलाइन पोजिशन के लिए कंपनी में शामिल किया जाता है।

{ इंटरव्यू के लिए तैयारी कैसे करना चाहिए?

नौकरी चाहने वालों को उस कंपनी के बारे में पता होना चाहिए जिसके लिए उन्होंने आवेदन दिया है। अधिक जानकारी लेने के लिए उसकी वेबसाइट और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर सर्च करना चाहिए।

{ कंपनी में सबसे ज्यादा जॉब किस सेगमेंट में है?

बिजनेस की जरूरतों और रणनीति के आधार पर हम सभी कार्यों में मैनपॉवर लेते हैं। अधिकतर कर्मचारी सेल्स और ट्रेनिंग में लिए जाते हैं।

{ आपकी कंपनी में प्रवेश की प्रक्रिया क्या है?

रेफरल नीति, विभिन्न नौकरी पोर्टल पर विज्ञापन, मोदीकेयर वेबसाइट के कॅरियर सेक्शन और ई-मेल के जरिए हमसे संपर्क किया जा सकता है।

{ क्या कर्मचारी दूसरे विभाग में जा सकते हंै?

न केवल जॉब रोटेशन करते हैं, बल्कि जॉब एलिवेशन भी करते हैं, जो कर्मचारियों की प्रोफेशनल शीट में जुड़ जाता है।

{ फ्रेशर्स और अनुभवी पेशेवरों में आपकी कंपनी किस तरह का स्किल चाहती है?

फ्रेशर्स में लिखित और स्पोकन कम्युनिकेशन स्किल होना चाहिए। इसके अलावा, इंटरपर्सनल स्किल, नेगोशिएशन स्किल, क्रिटिकल थिकिंग, प्रॉब्लम सॉल्विंग, एजिलिटी, अनुकूलनशीलता, रचनात्मकता और कल्पना जैसे गुण होना चाहिए।

{ कर्मचारियों में उद्यमशीलता को बढ़ावा देते हैं?

हम कर्मचारियों को एक जबरदस्त लर्निंग प्लेटफार्म प्रदान करते हैं जो उन्हें अपने कॅरियर में उद्यमिता के लिए सक्षम बनाता है। हाल ही में, हमारे ऑपरेटिंग डिपार्टमेंट में एक वरिष्ठ कर्मचारी ने इस्तीफा देकर एक उद्यमी बन गया। वर्तमान में वह एक तकनीकी सलाहकार के रूप में खुद की कंपनी चला रहे हैं।

{ हाल के वर्षों में भर्ती प्रक्रिया में किस तरह का बदलाव हुआ है?

अब भर्ती प्रक्रिया में बहुत अधिक ऑटोमेशन किया जा रहा है और उम्मीदवारों को बेहतर तरीके से आंकने के लिए मूल्यांकन उपकरण उपलब्ध हैं।

{ भविष्य का परिदृश्य क्या होगा?

डिजिटल टेक्नोलॉजी लगभग सभी व्यवसायों और कामकाजी पेशेवरों पर असर डाल रही है। भविष्य में भी इसी का दौर रहेगा। हालांकि तकनीकी कौशल के साथ-साथ सॉफ्ट स्किल्स जैसे टीमवर्क, क्रिएटिविटी, क्रिटिकल थिंकिंग भी जरूरी होगी। नई तकनीक की वजह से कानूनी और नियामक विशेषज्ञों की मांग है। क्लाउड कंप्यूटिंग, ईआरपी, साइबर सिक्युरिटी, डिजिटल मार्केटिंग, कस्टमर सक्सेस मैनेजर के नाम पर जॉब मार्केट में स्कोप है।

New Delhi News - enables employees in entrepreneurship through learning platform 145 lakh people will get job opportunities in 5 years in direct selling
X
New Delhi News - enables employees in entrepreneurship through learning platform 145 lakh people will get job opportunities in 5 years in direct selling
New Delhi News - enables employees in entrepreneurship through learning platform 145 lakh people will get job opportunities in 5 years in direct selling
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना