सिर्फ रैली के लिए ही अतिक्रमण हटाया था, निगम की लापरवाही से फिर कब्जा

Panchkula Bhaskar News - करीब 9 साल पहले एचएसवीपी की ओर से सेक्टर-1 माजरी चौक बस स्टैंड के नजदीक करीब 5 एकड़ एरिया में आईएसबीटी बनाने की...

Nov 10, 2019, 07:36 AM IST
करीब 9 साल पहले एचएसवीपी की ओर से सेक्टर-1 माजरी चौक बस स्टैंड के नजदीक करीब 5 एकड़ एरिया में आईएसबीटी बनाने की प्लानिंग की गई थी। हैरानी है कि उस प्लानिंग को कांग्रेस की सरकार में फाइनल किया गया और न ही भाजपा सरकार उसके तहत काम कर पा रही है। मसला है आईएसबीटी की जमीन पर अवैध कब्जा। जिसे हटाने में प्रशासन से लेकर एचएसवीपी व नगर निगम फेल साबित हो रहा है। वहीं, दूसरी ओर 18 अगस्त 2019 को सीएम के संकल्प रैली के दौरान प्रशासन व नगर निगम के अधिकारियों ने मिलकर 48 घंटे के भीतर करीब 2 एकड़ जमीन से कब्जा हटा दिया था ताकि सीएम की संकल्प रैली कालका से पंचकूला माजरी चौक बिना किसी रूकावट के आ सके। ऐसे में सवाल है कि क्या प्रशासन व निगम के अधिकारी सिर्फ सीएम को खुश करने के लिए काम करते हैं या फिर उनकी सह पर अवैध कब्जों का बाजार बसता है। पंचकूला सिटीजन वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान एसके नैय्यर ने बताया कि सीएम खुद अफसरों को निर्देश दें कि वह इन अवैध कब्जों को हटाकर पूरे प्लान्ड प्रोजेक्ट के तहत काम शुरू करवाएं।

दोनों विभाग चुस्ती दिखाते तो यहां बनता आईएसबीटी... एचएसवीपी की ओर से 2010-11 में ओल्ड पंचकूला के करीब 5 एकड़ एरिया में अंतरराष्ट्रिय बस अड्डा यानि कि आईएसबीटी बनाया जाना था। जहां से देश के हरेक कोने के लिए बस सर्विस शुरू होने थी। हैरानी की बात यह है कि एचएसवीपी और नगर निगम की ओर से उक्त जगह पर किए गए अवैध कब्जों को नहीं हटाए जाने की वजह से आईएसबीटी का प्लान कैंसिल कर दिया गया। अवैध कब्जों की वजह से एचएसवीपी की ओर से करोड़ों की प्रॉपर्टी पर किसी भी प्रोजेक्ट की प्लानिंग नहीं की जा रही है।


नगर निगम के ईओ जरनैल सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि माजरी चौक के नजदीक की जगह एचएसवीपी के अधीन है। सीएम साहब के आने की वजह से वहां से उस समय अवैध कब्जा हटाया गया था। अगर एचएसवीपी हमें अभी भी कहता है तो उसके इन्फोर्समेंट विंग के साथ मिलकर यहां धडल्ले से किया गया अवैध कब्जा हटा देंगे और इसके साथ ही भविष्य में भी इस मामले को लेकर कार्रवाई करते रहेंगे।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना