• परिवार प्रबंधन, family management tips in hindi, tips for wife and husband
--Advertisement--

पति-पत्नी जब भी हों एकांत में तो ये बातें ध्यान रखें, हमेशा सुखी रहेंगे

वैवाहिक में सुख और प्रेम बनाए रखने के लिए पति-पत्नी को तालमेल बनाए रखना चाहिए।

Danik Bhaskar | Apr 11, 2018, 04:32 PM IST

यूटिलिटी डेस्क. वैवाहिक जीवन सुखी और शांत हो तो धरती पर ही स्वर्ग की अनुभूति प्राप्त होती है। आधुनिक युग में अधिकांश लोगों की मेरिड लाइफ से शांति गायब हो गई है। समय के साथ-साथ पति-पत्नी के बीच का प्रेम भी कम होता जाता है। यहां जानिए उज्जैन के भागवत कथाकार पं. मनीष शर्मा के अनुसार कुछ ऐसी बातें जो वैवाहिक जीवन में हमेशा ध्यान रखनी चाहिए...

पहली बात

पति-पत्नी को बेडरूम में इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि एकांत सिर्फ एक-दूसरे की बात करें। किसी तीसरी व्यक्ति के संबंध में बात नहीं करनी चाहिए। एकांत में पति-पत्नी स्वयं की बातें करेंगे तो विवाद की सभी संभवानाएं ही समाप्त हो जाएंगी।

दूसरी बात

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए ये बात ध्यान रखना बहुत जरूरी है। जब जीवन साथी गुस्से में हो तो उस समय दूसरे को शांत रहना चाहिए। यदि पति-पत्नी, दोनों ही एक समय पर गुस्सा करेंगे तो बात बहुत ज्यादा बिगड़ सकती है। क्रोध की अवस्था में सोचने-समझने की क्षमता कम हो जाती है और व्यक्ति सही-गलत का फर्क भी नहीं कर पाता है। अत: क्रोधित जीवन साथी को शांत करने का प्रयास करना चाहिए।

तीसरी बात

वैवाहिक जीवन में कई बार तर्क-वितर्क की परिस्थितियां निर्मित होती हैं। पति-पत्नी किसी एक विषय पर अलग-अलग तर्क रखते हैं और वाद-विवाद होता है। ऐसी स्थिति में ध्यान रखना चाहिए कि अपना तर्क रखें, लेकिन प्रेम के साथ। अपना तर्क प्रस्तुत करते समय हमारी भाषा और हाव-भाव में क्रोध और अहंकार नहीं होना चाहिए। शांति और प्रेम के साथ अपनी बात जीवन साथी के सामने रखेंगे तो झगड़े की नौबत निर्मित नहीं होगी।

चौथी बात

सभी जानते हैं कि अपनी तारीफ सभी को पसंद होती है, खासतौर पर तारीफ जीवन साथी करें तो विशेष खुशी मिलती है। पति-पत्नी, दोनों को हर रोज कम से कम एक अच्छी बात कहनी चाहिए। कुछ ही दिनों इसका सकारात्मक असर दिख सकता है, आपसी प्रेम बढ़ेगा।

ये भी पढ़ें-

मान्यताएं- नमक की वजह से बढ़ सकती है कंगाली, अगर ध्यान नहीं रखी ये बातें
इन 2 राशियों पर मेहरबान रहते हैं शनिदेव, जानिए 5-5 खास बातें

राशिफल- 18 अप्रैल से शनि होगा वक्री, नाम अक्षर से जानें किन राशियों का होगा भाग्योदय

पांचवीं बात

अक्सर कई लोग ऑफिस का तनाव घर लेकर आते हैं। ऑफिस में बॉस या किसी अन्य कर्मचारी के साथ वाद-विवाद का तनाव या काम में असफलता का तनाव। ऐसी परिस्थिति में पत्नी को पति का तनाव दूर करने का प्रयास करना चाहिए। तनाव का कारण जानकर, उसे दूर करने का सही रास्ता बताना चाहिए। पत्नी को एक अच्छी सलाहकार की भी भूमिका निभानी चाहिए। ये बात वैवाहिक जीवन में सुख और शांति के साथ ही प्रेम भी बढ़ाएगी।

छठी बात

यदि पिछले समय में जीवन साथी से कोई गलती हो गई है तो उसका जिक्र वर्तमान में नहीं होना चाहिए। जो अप्रिय घटना बीत गई है उसके संबंध में बातचीत करेंगे तो दुख ही प्राप्त होगा। अत: पुरानी गलतियों को भुलाकर आगे बढ़ना चाहिए।