पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Ranchi News Fearing Corona The People Of The City Canceled More Than 8 Thousand Air Tickets From Ranchi

कोरोना के डर से शहर के लोगों ने रांची से 8 हजार से अधिक हवाई टिकट कैंसिल कराए

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

corona effect

इस बार मालदीव जाने की तैयारी थी, पर शायद किस्मत में नहीं थी

श्वेता सिंह, बिजनेस वुमन

विदेश की बात तो दूर, लोकल डेस्टिनेशन के टिकट भी कैंसिल

राकेश जैन, संचालक घूमोजीडॉटकॉम रांची

ऑस्ट्रेलिया जाने का प्रोग्राम था पर कोरोना ने पानी फेर दिया

मीनू जेजानी, बिजनेस वुमन

यही स्थिति कुछ महीने कायम रही तो ट्रैवलिंग व्यवसाय ठप हो जाएगा

सोनी मेहता, संचालिका स्काई लाइन ट्रेवल्स रांची

जिंदगी बचेगी तो फिर घूम लेंगे इसलिए टिकट कैंसिल कराया

पूजा केसरी, जेसीआई उड़ान की मीडिया प्रभारी

बच्चों को घूमाने सिंगापुर ले जाना था, पर सारा प्लान चौपट हो गया

खुशबू जैन, रांची यूटोपियन लेडिज सर्कल

शहरवासियों ने गर्मी की छुट्टियों को ध्यान में रखते हुए अप्रैल-मई के टिकट बुक कराए थे**

कोरोना वायरस के डर से हाल में 8363 से अधिक रांची के हवाई यात्रियों ने अपने टिकट कैंसिल करवा दिए हैं। इनमें 4963 हवाई टिकट अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के हैं। यह टिकट रांची से वियतनाम, कंबोडिया, मलेशिया, नेपाल, ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया, मालदीव, थाईलैंड, सिंगापुर, हांगकांग, चीन और दुबई के लिए खरीदे गए थे। सबसे अधिक टिकट दुबई, सिंगापुर और चीन के हैं। कैंसिल कराए गए टिकटों में अप्रैल और मई माह के टिकट भी हैं। लोगों ने गर्मियों की छुट्टियों को ध्यान में रखते हुए ग्रुप टिकट बुक कराए थे। अब उन्हे डर सता रहा है कि कहीं उन्हे एयरपोर्ट से वापस न भेज दिया जाए। रांची में हवाई और रेलवे टिकट बुक करनेवालों की संख्या 400 से अधिक है। इनमें 15-16 बड़े और 100 से अधिक छोटे ट्रेवल एजेंट हैं, जो महीने में 450 से 500 अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के टिकट बुक करते हैं। इसी तरह अांकड़ों पर अगर नजर डाली जाए, तो पिछले साल फरवरी से मई के दौरान 27 हजार टिकटों बुकिंग हुई थी। इनमें से 12 हजार से अधिक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के थे। इस बार यह अांकड़ा 30 हजार पार करने की उम्मीद की जा रही थी। कोरोना के डर ने बुकिंग कराना तो दूर पहले से बुक कराई गईं टिकटों को कैंसिल कराना शुरू कर दिया है। जहां तक घरेलू उड़ानों की बात है, रांची से दिल्ली के लिए सबसे अधिक इंडिगों की 5 फ्लाइट्स हैं। रांची से बेंगलुरू, हैदराबाद, मुंबई, कोलकाता, भुवनेश्वर तक फ्लाइट्स जाती और अाती हैं। इंडिगो, एयर इंडिया, गो एयर, विस्तारा और एयर एशिया को मिलाकर 25 फ्लाइट्स हवाई यात्रियों को लेकर जाती अाती हैं। इन फ्लाइट्स में 170 से 220 यात्री सीटें हैं।

ट्रेवल एजेंटों की माने तो यहां से हर दिन 4500 से 5 हजार यात्री अाते जाते हैं। इन दिनों कोरोना की दहशत से एयरपोर्ट पर कुल यात्रीभार में 48 फीसदी की गिरावट दर्ज हो रही है। इस वायरस की इतनी दहशत है कि एयरपोर्ट के अलावा रेलवे स्टेशन यात्री, टैक्सी चालक और कुछ कर्मचारी मास्क और रूमाल बांधे नजर आ रहे हैं।

पिछले साल भी जरूरी काम अा जाने के कारण दुबई का प्रोग्राम कैंसिल करना पड़ा था। इस बार मालदीव जाने की तैयारी थी। होटल और एयर टिकट दिसंबर में ही बुक करा लिए थे। क्या मालूम था कि इस बार भी किस्मत में नहीं है। अब तो दूर रांची से बाहर जाने के लिए सोचना पड़ रहा है।

विदेशी टूर के सारे एयर टिकट कैंसिल हो गए हैं। सबसे अधिक मलेशिया, सिंगापुर और थाइलैंड के टिकट कैंसिल हुए। कोई भी देश से बाहर जाना नहीं चाहता है। लोग लोकल डेस्टिनेशन के टिकट भी कैंसिल करा रहे हैं। होलिडे पैकेज भी कैंसिल है। ट्रेैवल और होटल इंडस्ट्री प्रभावित हुई है।

साल में दो बार घूमने का प्रोग्राम बनाते हैं। एक बार देश में कहीं चले जाते हैं और एक बार देश के बाहर चले जाते हैं। इस बार अास्ट्रेलिया के लिए टिकट बुक कराए थे। तीन दोस्तों की फैमिली एक साथ जाने का प्रोग्राम बना था। कोरोना ने प्रोग्राम पर पानी फेर दिया है। टिकट कैंसिल करा दिए हैं।

कोरोना का सबसे बुरा असर टूर-ट्रेवल्स बिजनेस पर पड़ा है। हर साल 200 से 250 टिकट विदेशी टूर की टिकट बुक होती है। इस बार 200 टिकट बुक हुए थे, अब 99 फीसदी टिकट कैंसिल करने पड़े हैं। बिजनेस जीरो हो गया है। एक-दो महीने यही हाल रहा तो यह बिजनेस पूरी तरह खत्म हो जाएगा।


हर साल एक बार देश से बाहर घूमने जाते हैं। इस बार दुबई जाने का मन था, टिकट 15 दिन पहले ही बुक कराए थे। हालांकि मई के टिकट हैं, लेकिन जिस तरह कोरोना फैल रहा है, पहले जिंदगी देखनी है जिंदा रहेंगे, तो फिर कभी जा सकते हैं। इतने दहशत के माहौल में कौन घूमने का मजा अाएगा। .

पिछले कई वर्षों से सिंगापुर जाने का मन बना रहे थे, लेकिन किसी न किसी कारण प्रोग्राम टल जाता था। इस बार बच्चों की गर्मियों की छुट्टियों को देखते हुए जनवरी में एयर टिकट और होटल की बुकिंग कराई थी। सात दिन का प्रोग्राम था, कोरोना की दहशत को देखते हुए सब कैंसिल कराना पड़ा है।
खबरें और भी हैं...