पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कानून का दुरुपयोग: मर्जी से शादी न होने पर पिता-भाई पर तो कहीं पैसे ऐंठने महिलाएं लगा रहीं रेप के झूठे आरोप

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

पानीपत. महिलाओं के साथ गलत व्यवहार न हो और उन्हें समाज में खुलकर मर्जी से रहने का माहौल मिले। इसलिए दुष्कर्म, रेप और छेड़छाड़ जैसी घटनाओं के लिए लगातार कानून को सख्त किया जा रहा है। वहीं, कुछ महिलाएं अपने मामूली फायदे के लिए इस कानून का गलत इस्तेमाल कर रही हैं। कहीं पैसे एंेठने के लिए गैंग बनाकर महिलाएं काम कर रही हैं, तो कहीं मर्जी से बनाए संबंधों को बाद में दुष्कर्म बता दिया जाता है। यही नहीं पारिवारिक रिश्तों में भी इस तरह के झूठे आरोप काफी लगने लगे हैं। 

 

बढ़ रहे फर्जी शिकायत के मामले
समाज की बिगड़ती दिशा का नतीजा है कि कुछ लड़कियां अपने पिता, भाई या रिश्तेदार पर भी ऐसे झूठे आरोप लगाने में नहीं हिचकिचाती हैं। इसका बड़ा कारण लव मैरिज है। अब तक प्रदेश में जो केस झूठे मिले हैं, उनमें पारिवारिक रिश्तों में लगाए आरोपों के केस सबसे ज्यादा हैं। जांच में सामने आया कि लड़की को मनमर्जी की जगह शादी करनी थी। पिता या भाई ने मना किया तो उन पर झूठे आरोप लगा दिए। कुछ मामलों में आपसी रंजिश के चलते झूठे आरोप लगाकर अपना पक्ष मजबूत करते हैं। वहीं हनीट्रैप के केस भी कम नहीं है, जहां महिलाओं ने रकम ऐंठने के लिए बड़े व्यापारियों को झांसे में फंसाकर अश्लील वीडियो बनाकर फिर लाखों रुपए में समझौता कर लिया।

 

हर चौथा मामला निकल रहा फर्जी

प्रदेश में दर्ज हो रहे दुष्कर्म, छेड़छाड़ आदि के मामलों की पड़ताल में सामने आया है कि दर्ज होने वाले मामलों में हर चौथा केस झूठा मिल रहा है। 1 जनवरी से मई माह तक 6 जिलों से जुटाए आंकड़ों के अनुसार कुल 266 दुष्कर्म के केस दर्ज हुए। इनमें 50 फर्जी साबित हुए हैं। कुछ पुलिस जांच में ही साफ हो गए तो कुछ कोर्ट में गवाहों के मुकरने से रद्द हो गए। बाकी मामले भी कोर्ट में विचाराधीन हैं। उल्टा कोर्ट ने झूठे केस दर्ज करवाने वालों को नोटिस देने समेत अन्य कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

 

कोर्ट भी कर चुकी टिप्पणी 

फतेहाबाद में एक महिला के विरुद्ध अपराध के लिए गठित विशेष अदालत के जज आरएस ढांडा ने 50 वर्षीय व्यक्ति को दुष्कर्म के झूठे आरोप में फंसाने के आरोप में पीड़िता की मां को सीआरपीसी की धारा 344 के तहत शो कॉज नोटिस देने का निर्णय लिया। अदालत ने फैसले में टिप्पणी करते हुए कहा कि यह आम देखने में आ रहा है कि निर्दोष लोगों को ब्लैकमेल करने के लिए दुष्कर्म के झूठे केस दर्ज करवाए जाते हैं। बाद में सेटलमेंट कर गवाह मुकर जाते हैं। इसके चलते बेटी से दुष्कर्म की झूठी गवाही देने वाली मां को नोटिस जारी किया और आराेपित को बरी किया।

 

बहन को बचाने के लिए जेठ पर आरोप 

अम्बाला में जनवरी में मुकेश ने ट्रेन से कट जान दी। उस समय वह एक महिला संग लिव इन रिलेशन में रहता था। जीआरपी ने महिला व उसके पति समेत एक अन्य पर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में केस दर्ज किया। लिहाजा केस में नामजद आरोपी महिला को बचाने के चक्कर में बहन ने मुकेश के बड़े भाई राकेश पर रेप का आरोप लगा दिया। मगर पुलिस जांच में महिला के आरोप टिक नहीं पाए।

 

शादी से मना किया तो रेप का केस कराया

साढौरा (यमुनानगर) में एक युवती ने 27 अप्रैल को जहरीला पदार्थ निगल लिया और अपने प्रेमी के घर चली गई। हालात बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने बयान लिए तो उसने अपने प्रेमी पर रेप का आरोप लगा दिया। पुलिस जांच में सामने आया कि युवक ने शादी से मना किया, इसलिए युवती ने रेप का आरोप लगाया। बाद में दोनों ने शादी कर ली और केस कैंसिल हो गया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने काम को नया रूप देने के लिए ज्यादा रचनात्मक तरीके अपनाएंगे। इस समय शारीरिक रूप से भी स्वयं को बिल्कुल तंदुरुस्त महसूस करेंगे। अपने प्रियजनों की मुश्किल समय में उनकी मदद करना आपको सुखकर...

    और पढ़ें