--Advertisement--

इस धातु का छोटा सा कछुआ रख लें घर में, पैसों की किल्लत से मिल सकता है छुटकारा

फेंगशुई के उपायों से घर में सुख-समृद्धि बढ़ सकती है।

Dainik Bhaskar

Apr 13, 2018, 04:54 PM IST
कछुएं के उपाय, fengshui tips in hindi, vastu tips, tortoise in home

यूटिलिटी डेस्क। जिस प्रकार भारत में वास्तु प्रचलित है, ठीक उसी प्रकार चीन में फेंगशुई चलन में है। फेंगशुई नकारात्मक ऊर्जा को दूर करता है और घर में सकारात्मकता बढ़ाता है। अगर घर में सकारात्मकता रहती है पैसों से जुड़ी परेशानियां दूर रहती हैं। फेंगशुई में कई ऐसी चीजें बताई गई हैं, जो घर में रखना शुभ रहता है। ऐसी ही एक शुभ चीज है धातु का कछुआ। बाजार में कई धातुओं के और अलग-अलग प्रकार के कछुए मिलते हैं। हिन्दू धर्म में भी कछुए को पवित्र जीव माना जाता है, क्योंकि प्राचीन काल में समुद्र मंथन के समय भगवान विष्णु ने कच्छप यानी कछुए का अवतार लिया था। यहां जानिए कोलकाता की वास्तु विशेषज्ञ डॉ. दीक्षा राठी के अनुसार किस कछुए से हमें क्या-क्या लाभ मिल सकते हैं...

क्रिस्टल का कछुआ

अगर आप धन संबंधी परेशानियों को दूर करना चाहते हैं तो क्रिस्टल का कछुआ घर या दुकान में रखें। इसे अपने कार्यस्थल पर या तिजोरी में रख सकते हैं।

मिट्टी का कछुआ

अगर किसी के घर में कोई न कोई सदस्य हमेशा बीमार रहता है तो घर में मिट्टी का कछुआ रखना सबसे अच्छा माना जाता है।

कछुए की पीठ पर हों छोटे बच्चे

एक ऐसा भी कछुआ बाजार में मिलता है, जिसकी पीठ पर कछुए के छोटे-छोटे बच्चे भी होते हैं। ऐसा कछुआ घर में रखने से संतान सुख मिलने की संभावनाएं बढ़ सकती हैं।

चांदी का कछुआ

व्यापार में तरक्की चाहते हैं तो दुकान में चांदी का कछुआ रखना शुभ माना जाता है। ऐसा करने से किसी की बुरी नजर भी दुकान पर नहीं लगती है।

पीतल का कछुआ

पढ़ाई और नौकरी से जुड़ी परेशानियों को दूर करने के लिए पीतल का कछुआ घर में रखना चाहिए।

कछुओं का जोड़ा

घर में सुख-शांति बनाए रखने और पति-पत्नी के बीच प्रेम बनाए रखने के लिए कछुओं का जोड़ा घर में रखना चाहिए।

ये भी पढ़ें-

पत्नी रोज करेगी ये एक काम तो पति को मिल सकता है भाग्य का साथ, दूर हो सकती है गरीबी

पति-पत्नी जब भी हों एकांत में तो ये बातें ध्यान रखें, हमेशा सुखी रहेंगे

X
कछुएं के उपाय, fengshui tips in hindi, vastu tips, tortoise in home
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..