--Advertisement--

विश्व कप: क्रोएशिया और डेनमार्क का मुकाबला थोड़ी देर में, छठी बार दोनों टीमें आमने-सामने

क्रोएशिया का विश्व कप में सबसे अच्छा प्रदर्शन 1998 में रहा था, जब वह तीसरे नंबर पर रही थी।

Dainik Bhaskar

Jul 01, 2018, 11:15 PM IST
पेनल्टी शूट आउट में क्रोएशिया पेनल्टी शूट आउट में क्रोएशिया

  • जोर्गेंसन (58 सेकंड) विश्व कप इतिहास में सबसे तेज गोल करने वाले दूसरे खिलाड़ी बने
  • इससे पहले अमेरिका के क्लाइंट डेम्पसे ने 2014 में घाना के खिलाफ 29 सेकंड में गोल किया था
  • क्रोएशिया इस विश्व कप में अब तक एक भी मैच नहीं हारी है, उसने ग्रुप स्टेज में अपने तीनों मैच जीते थे
  • डेनमार्क ने ग्रुप स्टेज में 2 मैच ड्रॉ कराए और एक जीता था, इस हार के साथ उसका पिछले 18 मैच से अपराजेय रहने का क्रम टूट गया
  • एक्स्ट्रॉ टाइम में 2010 के बाद किसी टीम को पेनल्टी मिली, लेकिन क्रोएशिया के कप्तान लुका मोड्रिक उसे गोल में नहीं बदल सके

नोवग्रोद (रूस). विश्व कप में रविवार को चौथे प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में क्रोएशिया ने डेनमार्क को पेनल्टी शूट आउट में 3-2 से हराया। फुल टाइम तक 1-1 की बराबरी पर रहने के बाद मैच एक्स्ट्रा टाइम में भी पहुंच गया लेकिन वहां भी गोल नहीं हुआ। पेनल्टी शूट आउट में क्रोएशिया के गोलकीपर सुबासिच ने 3 गोल रोक कर टीम को जीत दिलाई। इस जीत के साथ क्रोएशिया 20 साल बाद क्वार्टर फाइनल में पहुंचा। जहां उसका मुकाबला 7 जुलाई को मेजबान रूस से होगा। इससे पहले मैच का पहला गोल डेनमार्क के जोर्गेंसन ने पहले मिनट (58 सेकंड) में किया। जोर्गेंसन के बाद क्रोएशिया के मांजुकिच ने चौथे मिनट में गोल कर टीम को बराबरी दिलाई।

पेनल्टी शूट आउट में चूके क्रोएशिया के दो और डेनमार्क के तीन खिलाड़ी चूके

पेनल्टी संख्या डेनमार्क क्रोएशिया
1 एरिक्सन-नाकाम बडेल-नाकाम
2 सिमोन- सफल क्रेमेरिच-सफल
3 क्रॉन डेहली-सफल मोड्रिक-सफल
4 शोने-नाकाम पिवारिच-नाकाम
5 जोर्गेंसन-नाकाम

रकिटिच-सफल


32 साल बाद एक ही दिन दो पेनल्टी शूट आउट: विश्व कप के इतिहास में यह दूसरा मौका है, जब एक दिन दो मुकाबलों का नतीजा पेनल्टी शूट आउट से हुआ। रविवार को रूस और स्पेन के बीच खेला गए मैच का फैसला भी पेनल्टी शूट आउट से हुआ। इससे पहले 21 जून, 1986 को फ्रांस ने पेनल्टी शूट आउट में ब्राजील को बाहर का रास्ता दिखाया था, जबकि उसी दिन तत्कालीन पश्चिच जर्मनी ने मैक्सिको को हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई थी।

विश्व कप यह नौवीं बार है जब एक ही दिन में दो मैच एक्सट्रॉ टाइम में पहुंचे। आखिरी बार 2014 में अर्जेंटीना-स्विट्जरलैंड और बेल्जियम-अमेरिका के मैच भी एक्सट्रॉ टाइम तक पहुंचा था।

क्रोएशिया-डेनमार्क ने तोड़ा नाइजीरिया-अर्जेंटीना का रिकॉर्ड: क्रोएशिया और डेनमार्क दोनों ने 4 मिनट के अंदर गोल किया। विश्व कप इतिहास में सबसे कम समय में एक मैच में दोनों टीमों ने गोल करने का रिकॉर्ड बनाया। क्रोएशिया और डेनमार्क ने 3 मिनट 40 सेकंड के अंदर 1-1 गोल किए। इससे पहले 2014 में नाइजीरिया और अर्जेंटीना के बीच हुए मुकाबले में 4 मिनट के अंदर दोनों टीमों ने 1-1 गोल किए थे।

क्रोएशिया ने गोल के 22 प्रयास किए लेकिन एक में ही सफल हुए

टीम गोल का प्रयास कॉर्नर बॉल पजेशन पास पास एक्यूरेसी यलो कार्ड
क्रोएशिया 22 5 53% 625 81% 0
डेनमार्क 15 4 47% 540

79%

1

डेनमार्क ने पहला रिप्लेसमेंट किया: डेनमार्क ने हाफटाइम के बाद मैच में पहला बदलाव करते हुए 46वें मिनट में आंद्रियास क्रिस्टेनसेन की जगह शोने को मैदान पर भेजा। उसके बाद उसने 66वें मिनट में कोरनेलियुस की जगह एन. जोर्गेंसन, 98वें मिनट में डेलाने की जगह क्रॉन डेहली और 105वें मिनट में ब्रैथवेट की जगह सिस्तो को मैदान पर उतारा। वहीं, क्रोएशिया ने 71वें मिनट में ब्रोजोविच की जगह कोवाचिच, 81वें मिनट में स्ट्रिनीच की जगह पिवारिच, 97वें मिनट में पेरिसिच की जगह क्रेमेरिच और 108वें मिनट में मांजुकिच की जगह बडेल को मैदान पर उतारा।

टीमें:

डेनमार्क (शुरुआती एकादश): कैस्पर श्माइकल, साइमन जाएर, नुडसेन, आंद्रियास क्रिस्टेनसेन, थॉमस डेलाने, क्रिस्टियन एरिक्सन, मार्टिन ब्रेथवेट, जोर्नेसन, हेनरिक डाल्सगार्ड, युसूफ युरारी, कोरनेलियुस।

क्रोएशिया (शुरुआती एकादश): डेनिजेल सुबासिच, सिमे वसाल्जको, इवान स्ट्रिनीच, इवान पेरीसिच, डेजान लोवरेन, इवान रेकिटिच, लुका मोड्रिक, मासेर्लो ब्राजोविच, मारियो मांजुकिच, एंटे रेबिच, डोमागोज विडा।

X
पेनल्टी शूट आउट में क्रोएशिया पेनल्टी शूट आउट में क्रोएशिया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..