Hindi News »Sports »Other Sports »Football» Fifa Worldcup 2018 Second Semifinal England Vs Croatia Live News And Updates

क्रोएशिया पहली बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में, 1 गोल से पिछड़ने के बाद एक्सट्रा टाइम में 2-1 से जीता मैच

क्रोएशिया फीफा वर्ल्ड कप फाइनल में पहुंचने वाला दुनिया का 13वां देश

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 12, 2018, 01:54 PM IST

  • क्रोएशिया पहली बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में, 1 गोल से पिछड़ने के बाद एक्सट्रा टाइम में 2-1 से जीता मैच, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    मैच जीतने के बाद अपने देश के झंडे को लेकर मैदान में लेटे क्रोएशिया के वर्साल्को।
    • क्रोएशिया के मांजुकिच ने एक्स्ट्रा टाइम के 109वें मिनट में गोल किया
    • पेरिसिच लगातार दो विश्व कप में 2-2 गोल करने वाले पहले क्रोएशियाई खिलाड़ी
    • सूकर (6) के बाद पेरिसिच (4) क्रोएशिया के लिए सबसे ज्यादा गोल करने वाले दूसरे खिलाड़ी

    मॉस्को (रूस). क्रोएशिया ने फुटबॉल विश्व कप में बुधवार को हुए दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड को 2-1 से हरा दिया। इसके साथ ही वह पहली बार विश्व कप के फाइनल में पहुंचा। अब 15 जुलाई को फाइनल में लुझनिकी स्टेडियम में क्रोएशिया और फ्रांस की टीमें आमने-सामने होंगी। क्रोएशिया 1950 (उरुग्वे) के बाद फाइनल में पहुंचने वाला सबसे छोटा देश है।उसकी आबादी केवल 40 लाख है। वह फाइनल में जगह बनाने वाला सबसे कम रैंकिंग (20) वाला देश भी बना।

    निर्धारित समय तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं। इंग्लैंड के लिए ट्रिपिएर ने 5वें मिनट में फ्री किक से गोल किया। उसके बाद क्रोएशिया के इवान पेरिसिच ने 68वें मिनट में गोल किया। 109वें मिनट में मांजुकिच ने निर्णायक गोल किया। उनका इस विश्व कप में यह दूसरा गोल है। हालांकि गोल्डन बूट की दौड़ में सबसे आगे चल रहे इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन लगातार दूसरे मैच में गोल करने में असफल रहे।

    क्रोएशिया ने लगातार तीन मैच फुल टाइम के बाद जीते: क्रोएशिया ने इस विश्व कप में लगातार तीसरा नॉक आउट मैच फुल टाइम के बाद जीता। इससे पहले उसने प्री-क्वार्टर फाइनल में डेनमार्क और क्वार्टर फाइनल में मेजबान रूस को पेनल्टी शूटआउट में हराया था। क्रोएशिया एक विश्व कप में तीन एक्सट्रा टाइम मैच खेलने वाला दूसरा देश बना। इससे पहले 1990 में इंग्लैंड ने ऐसा किया था। क्रोएशिया को 1998 विश्व कप के सेमीफाइनल में मेजबान फ्रांस के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। वहीं इंग्लैंड का 1966 के बाद फाइनल खेलने का सपना टूट गया। वह 1990 के सेमीफाइनल में भी हार गया था।

    एक्स्ट्रा टाइम में विश्व कप सेमीफाइनल जीतने चौथी टीम बनी क्रोएशिया

    सालविजेताकिसके खिलाफ
    2018क्रोएशियाइंग्लैंड
    2006इटलीजर्मनी
    1970इटलीपश्चिमी जर्मनी
    1954हंगरीउरुग्वे

    लिनेकर और चार्लटन के बराबर पहुंचे ट्रिपिएरःट्रिपिएर विश्व कप के किसी सेमीफाइनल में गोल करने वाले इंग्लैंड के तीसरे खिलाड़ी बने। उनसे पहले गैरी लिनेकर और बॉबी चॉर्लटन ऐसा कर चुके हैं। ट्रिपिएर 1966 के बाद से विश्व कप में डायरेक्ट फ्री किक से गोल करने वाले इंग्लैंड के दूसरे खिलाड़ी भी बने। इससे पहले डेविड बेकहम ने 1998 और 2006 में ऐसा किया था। ट्रिपिएर का गोल इंग्लैंड के लिए इस विश्व कप में 12वां गोल है। इंग्लैंड ने 1966 के 11 गोल का रिकॉर्ड तोड़ा। तब वह चैम्पियन बना था।

    1966 से किसी बड़े टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में इंग्लैंड का प्रदर्शन

    सालटूर्नामेंटकिसके खिलाफविजेता
    2018विश्व कपक्रोएशियाक्रोएशिया
    1996यूरो कपजर्मनीजर्मनी
    1990विश्व कपपश्चिमी जर्मनीपश्चिमी जर्मनी
    1968यूरो कपयूगोस्लावियायूगोस्लाविया
    1966विश्व कपपुर्तगालइंग्लैंड

    क्रोएशिया को मिला मैच का पहला यलो कार्ड: मैच का पहला यलो कार्ड क्रोएशिया के मांजुकिच को 48वें मिनट में मिला। उसके बाद 96वें मिनट में रेबिच को यलो कार्ड मिला। क्रोएशिया ने स्ट्रीनिच की जगह पिवारिच को 95वें मिनट, रेबिच की जगह क्रेमेरिच को 101वें मिनट, मांजुकिच की जगह कोरलुका को 115वें मिनट और कप्तान लुका मोड्रिच की जगह बडेल को 119वें मिनट में मैदान पर उतारा। वहीं इंग्लैंड के वॉल्कर को 54वें मिनट में यलो कार्ड मिला। इंग्लैंड ने मैच में पहला रिप्लेसमेंट करते हुए स्टर्लिंग की जगह रैशफोर्ड को 74वें मिनट में मैदान पर उतारा। उसके बाद 91वें मिनट में एश्ले यंग की जगह रोज, 97वें मिनट में हेंडरसन की जगह एरिक डायर और 112वें मिनट में वॉल्कर की जगह वार्डी को मैदान पर भेजा।

    क्रोएशिया ने इंग्लैंड के मुकाबले 146 पास ज्यादा किए

    टीमगोल का प्रयासकॉर्नरबॉल पजेशनपासपास एक्यूरेसीयलो कार्ड
    क्रोएशिया22854%62779%2
    इंग्लैंड11446%481

    78%

    1

    टीमें :
    इंग्लैंड (शुरुआती एकादश): पिकफोर्ड (गोलकीपर), वाल्कर, स्टोन्स, मैगुएर, जेसी लिंगार्ड, हेंडरसन, हैरी केन, रहीम स्टर्लिंग, ट्रिपिएर, यंग, डेले अली।
    क्रोएशिया (शुरुआती एकादश): डेनियल सुबासिच (गोलकीपर), वर्साल्को, स्ट्रिनिच, पेरिसिच, लोवरेन, रकिटिच, मोड्रिच, ब्रोजोविच, मांजुकिच, रेबिच, विदा।

  • क्रोएशिया पहली बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में, 1 गोल से पिछड़ने के बाद एक्सट्रा टाइम में 2-1 से जीता मैच, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    मैच जीतने के बाद विदा के साथ खुशी मनाते क्रोएशिया मांजुकिच (अपने देश का झंडा लपेटे)।
  • क्रोएशिया पहली बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में, 1 गोल से पिछड़ने के बाद एक्सट्रा टाइम में 2-1 से जीता मैच, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    हार के बाद मैदान पर निराश होकर बैठे इंग्लैंड के खिलाड़ी।
  • क्रोएशिया पहली बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में, 1 गोल से पिछड़ने के बाद एक्सट्रा टाइम में 2-1 से जीता मैच, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    गोल करने के बाद खुशी मनाते क्रोएशिया के इवान पेरिसिच।
  • क्रोएशिया पहली बार फुटबॉल विश्व कप के फाइनल में, 1 गोल से पिछड़ने के बाद एक्सट्रा टाइम में 2-1 से जीता मैच, sports news in hindi, sports news
    +4और स्लाइड देखें
    गोल करने के बाद खुशी मनाते इंग्लैंड के ट्रिपिएर और साथ में कप्तान हैरी केन (9 नंबर की जर्सी में)।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Football

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×