--Advertisement--

विश्व कप: पहली बार रूस क्वार्टर फाइनल में, 2010 की चैम्पियन स्पेन को पेनल्टी शूट आउट में 4-3 से हराया

इस हार के साथ ही स्पेन का अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में पिछले 23 मैचों में अपराजेय रहने का सिलसिला भी टूट गया।

Danik Bhaskar | Jul 02, 2018, 11:12 AM IST
मैच जीतने के बाद अपने गोलकीपर अकीनफीव तक स्लाइड मारकर पहुंचते रूस के खिलाड़ी। मैच जीतने के बाद अपने गोलकीपर अकीनफीव तक स्लाइड मारकर पहुंचते रूस के खिलाड़ी।

  • रूस के खिलाफ हार के बाद स्पेन के आंद्रे इनिएस्ता ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास ले लिया
  • इनिएस्ता ने 2010 विश्व कप फाइनल में नीदरलैंड के खिलाफ गोल कर टीम को चैम्पियन बनाया था
  • इग्नासेविच (38 साल 352 दिन) विश्व कप में आत्मघाती गोल करने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं
  • विश्व कप में स्पेन का मैच 7वीं बार और रूस का तीसरी बार एक्स्ट्रा टाइम में पहुंचा

मॉस्को (रूस). विश्व कप के तीसरे प्री-क्वार्टर फाइनल मैच में रविवार को रूस ने 2010 के चैम्पियन स्पेन को पेनल्टी शूट आउट में 4-3 से हरा दिया। वह विश्व कप में पहली बार क्वार्टर फाइनल में पहुंचा है। रूस 1970 में भी क्वार्टर फाइनल में पहुंचा था लेकिन तब वह सोवियत संघ का हिस्सा था। इससे पहले फुल टाइम तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं। फिर मैच एक्सट्रॉ टाइम में गया, लेकिन 30 मिनट बाद भी दोनों टीमें गोल करने में नाकाम रहीं। इसके बाद मैच पेनल्टी शूटआउट में पहुंचा। ये विश्व कप इतिहास का 27वां मैच रहा, जिसमें पेनल्टी शूट आउट में फैसला हुआ। इससे पहले रूस के इवान इग्नासेविच ने 12वें मिनट में आत्मघाती गोल किया। इसके बाद रूस के डिज्यूबा ने 41वें मिनट में पेनल्टी से गोल कर टीम को बराबरी दिलाई थी।

पेनल्टी शूट आउट में चूके स्पेन के कोके और एस्पास

पेनल्टी संख्या स्पेन रूस
1 इनिएस्ता-सफल स्मोलोव-सफल
2 पीके- सफल इग्नाशेविच-सफल
3 कोके-नाकाम गोलोविन-सफल
4 मोस-सफल चेरीशेव-सफल
5 एस्पास-नाकाम

जरूरत नहीं रही

विश्व कप में मेजबान देशों ने पेनल्टी शूट आउट में पिछले 5 मुकाबले जीते

साल मेजबान देश खिलाफ मैच विजेता
2018 रूस स्पेन प्री-क्वार्टर फाइनल रूस
2014 ब्राजील चिली प्री-क्वार्टर फाइनल ब्राजील
2006 जर्मनी अर्जेंटीना क्वार्टर फाइनल जर्मनी
1998 फ्रांस इटली क्वार्टर फाइनल फ्रांस
1990 इटली अर्जेंटीना सेमीफाइनल अर्जेंटीना
1986 मैक्सिको वेस्ट जर्मनी क्वार्टर फाइनल वेस्ट जर्मनी

विश्व कप इतिहास में पहली बार हुआ मैच में चौथा बदलाव

विश्व कप इतिहास में पहली बार चौथा बदलाव रूस ने किया। उसने 97वें मिनट में कुज्येव की जगह इरोखिन को मैदान पर भेजा। स्पेन ने पहला चौथा बदलाव करते हुए 104वें मिनट में मार्को एसेंसियो की जगह रोड्रिगो को मैदान पर भेजा।

रूस ने मैच में किया पहला रिप्लेसमेंट

रूस ने मैच में बदलाव करते हुए 46वें मिनट में झिरकोव की जगह ग्रैनेट, 61वें मिनट में सामेदोव की जगह चेरीशेव और 65वें मिनट में डिज्यूबा की जगह स्मोलोव को मैदान पर भेजा। वहीं, स्पेन ने पहला बदलाव करते हुए 67वें मिनट में डेविड सिल्वा की जगह अांद्रे इनिएस्ता को मैदान पर उतारा। उसके बाद उसने 70वें मिनट में नाचो की जगह कार्वाहल और डिएगो कोस्टा की जगह 80वें मिनट में इयागो एस्पास को भेजा।

स्पेन ने रूस के मुकाबले गोल करने के चार गुना ज्यादा पास किए

टीम गोल का प्रयास कॉर्नर बॉल पजेशन पास पास एक्यूरेसी यलो कार्ड
स्पेन 25 6 74% 1137 91% 1
रूस 6 5 26% 285

71%

2

रेमोस ने की कैसिलास की बराबरी

स्पेन के सर्जियो रेमोस का ये 17वां विश्व कप मैच है। स्पेन के लिए विश्व कप में सबसे ज्यादा मैच खेलने के मामले में उन्होंने पूर्व कप्तान इकस कैसिलास की बराबरी की। 1966 के बाद विश्व कप में दो आत्मघाती करने वाली रूस पहली टीम बन गई है। तब बेल्जियम ने ऐसा किया था।

टीमें:
स्‍पेन (शुरुआती एकादश): डेविड डी गिया, गेरार्ड पीके, नाचो मोनरील, सर्जियो बुस्केट्स, कोक, सर्जियो रेमोस, जोर्डी अल्बा, डिएगो कोस्टा, मार्को असेंसियो, डेविड सिल्वा, इस्को।
रूस (शुरुआती एकादश): इगोर अकीनफीव, मारियो फर्नांडेज, इल्या कुटेपोव, इवान इग्नासेविच, डालेर कुज्येव, रोमन जोबिन, फेडर कुद्रीशोव, एलेक्जेंडर गोलोविन, युरी झिरकोव, एलेक्जेंडर सामेदोव, अर्टयोम डिज्यूबा।

स्पेन के कोके का पेनल्टी शॉट रोकते रूस के गोलकीपर अकीनफीव। स्पेन के कोके का पेनल्टी शॉट रोकते रूस के गोलकीपर अकीनफीव।
स्पेन के खिलाफ गोल करने के बाद खुशी मनाते रूस के डिज्यूबा। स्पेन के खिलाफ गोल करने के बाद खुशी मनाते रूस के डिज्यूबा।
रूस के खिलाफ गोल होने के बाद खुशी मनाते स्पेन के कप्तान सर्जियो रेमोस (आगे)। रूस के खिलाफ गोल होने के बाद खुशी मनाते स्पेन के कप्तान सर्जियो रेमोस (आगे)।
स्पेन के नाचो मैच के दौरान चोट लगने के कारण मैदान पर गिर गए। स्पेन के नाचो मैच के दौरान चोट लगने के कारण मैदान पर गिर गए।