Hindi News »Sports »Other Sports »Hockey» FIH Champions Trophy Final Match, India V/S Australia, Live, News And Updates

ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया

चैम्पियंस ट्रॉफी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को आखिरी बार 2002 में हराया था। तब से उसके खिलाफ वह जीत नहीं हासिल कर पाया है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 02, 2018, 08:38 AM IST

  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    चैम्पियंस ट्रॉफी में दूसरे स्थान पर रही भारतीय हॉकी टीम के खिलाड़ी सिल्वर मेडल के साथ।
    • ऑस्ट्रेलिया ने लगातार दूसरी बार इस टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम किया है
    • भारत 40 साल में एक बार भी चैम्पियंस ट्रॉफी नहीं जीत सका
    • अर्जेंटीना को 2-0 से हराकर नीदरलैंड टूर्नामेंट में तीसरे स्थान पर रहा

    ब्रेडा (नीदरलैंड).ऑस्ट्रेलिया ने रविवार को यहां भारत को हराकर चैम्पियंस ट्रॉफी का खिताब अपने नाम कर लिया। उसने लगातार दूसरी और कुल 15वीं बार यह खिताब जीता है। फाइनल मुकाबले का फैसला पेनल्टी शूट आउट में हुआ। फुल टाइम तक दोनों टीमों का स्कोर 1-1 से बराबर था। लेकिन पेनल्टी शूट आउट में ऑस्ट्रेलिया ने 3-1 से यह मुकाबला जीत लिया। भारतीय टीम लगातार दूसरी बार फाइनल में पहुंची थी, लेकिन इस बार भी उसे निराशा ही हाथ लगी। टूर्नामेंट का यह 37वां संस्करण है, लेकिन भारत एक बार भी चैम्पियन नहीं बन सका है। आज के मैच के बाद भारत चैम्पियंस ट्रॉफी में दो बार उपविजेता, एक बार तीसरे (1982) और 7 बार (1983,1996, 2002, 2003, 2004, 2012, 2014) चौथे स्थान पर रहा है। चैम्पियंस ट्रॉफी की शुरुआत 1978 में हुई थी।

    पेनल्टी शूट आउट में इस तरह जीती ऑस्ट्रेलियाई टीम

    पेनल्टी शूट आउट में दोनों टीमों के लिए 5-5 मौके तय किए थे। पहला मौका ऑस्ट्रेलिया को मिला।
    पहला मौकाःऑस्ट्रेलिया के एरन जालेवस्की ने भारतीय गोलकीपर पीआर श्रीजेश को चकमा देते हुए गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया।
    दूसरा मौकाःसरदार सिंह ऑस्ट्रेलियाा के गोलकीपर टेलर लवल के किले को भेद नहीं सके और भारत 0-1 से पीछे हो गया।
    तीसरा मौकाः ऑस्ट्रेलिया के डेनियल बीएले ने अपनी टीम के लिए एक और गोल किया। ऑस्ट्रेलिया 2-0 से आगे हो गया।
    चौथा मौकाः हरमनप्रीत सिंह ने गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचाने की काफी कोशिश की, लेकिन टेलर लवल फिर दीवार बन गए। भारत 0-2 से पीछे रहा।
    पांचवां मौकाःपीआर श्रीजेश ने ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू स्वान की कोशिश को नाकाम कर दिया, लेकिन उनकी टीम अब भी मुकाबले में 0-2 से पीछे थी।
    छठा मौकाःमनप्रीत सिंह ने टेलर लवल को छकाते हुए गेंद को गोलपोस्ट में पहुंचा दिया। हालांकि अब भी वह 1-2 से पीछा था, लेकिन उसके पास बराबरी का मौका था।
    सातवां मौकाःश्रीजेश ऑस्ट्रेलिया के जेरेमी एडवर्ड्स के प्रयास को नाकाम नहीं कर पाए। नतीजा ऑस्ट्रेलिया 3-1 से आगे होने के साथ ही टूर्नामेंट का चैम्पियन भी बन गया।

    विवेक ने दिलाई थी मैच में बराबरी

    फुल टाइम में विवेक सागर प्रसाद के गोल से भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बराबरी हासिल की थी। 43वें मिनट में चिंगलेनसाना ने विवेक को पास दिया। उन्होंने इसे गोल में बदलने में कोई गलती नहीं की। ऑस्ट्रेलिया की ओर से ब्लेक गोवर्स ने 24वें मिनट में मिले पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदला था। इससे पहले भारत को 4 पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन वह एक भी गोल में बदलने में नाकाम रहा था।

    4 पेनल्टी कॉर्नर में एक को भी गोल में नहीं बदल पाया था भारत

    भारत ने 7वें मिनट में पहला पेनल्टी कॉर्नर रिव्यू के जरिए लिया। लेकिन वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बढ़त लेने में असफल रहा। अगले ही मिनट (8वें) उसे फिर पेनल्टी कॉर्नर मिला। हालांकि मनदीप सिंह और वरुण कुमार इसे भी गोल में बदलने में सफल नहीं हुए। इसके बाद भारत को 13वें मिनट में भी गोल करने का मौका मिला, जब सुनील सोमरपेट गेंद को लेकर बिल्कुल ऑस्ट्रेलिया के गोलपोस्ट तक पहुंच गए थे, लेकिन टेलर लवल उनकी कोशिश नाकाम कर दी। 18वें मिनट में भी भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन हरमनप्रीत सिंह ने शॉट लिया, लेकिन इस बार जेरेमी हेवर्ड ने उनके प्रयास पर पानी फेर दिया। हाफटाइम के बाद 38वें मिनट में भारत ने फिर वीडियो रिव्यू लिया। भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन इस बार भी नतीजा सिफर रहा। हाफटाइम तक भारत ने गोल के 3 और ऑस्ट्रेलिया ने 4 शॉट लिए। एक दूसरे के सर्किल में पहुंचने के मामले में भी ऑस्ट्रेलियाई टीम आगे रही। भारत विपक्षी टीम के सर्किल में 10, जबकि ऑस्ट्रेलिया 11 बार पहुंचने में सफल रहा।


    टीमेंः
    भारतः
    हरमनप्रीत सिंह, दिलप्रीत सिंह, जरमनप्रीत सिंह, सुरेंदर कुमार, सरदार सिंह, ललित उपाध्याय, पीआर श्रीजेश, वरुण कुमार, सुनील सोमरपेट, कंगुजम चिंगलेनसाना, विवेक प्रसाद, मनप्रीत सिंह, सिमरनजीत सिंह, मनदीप सिंह, कृष्णा पाठक, बीरेंद्र लाकड़ा, अमित रोहिदास, रमनदीप सिंह।
    ऑस्ट्रेलियाःटॉम क्रेग, एडी ओकेनडेन, जेक व्हीटन, टिम होवर्ड, एरन जालेवस्की, मैथ्यू स्वान, डेनियल बीएले, टेलर लवल, ट्रेंट मिट्टन, टिम ब्रांड, जेरेमी हेवर्ड, लैकलन शॉर्प, जेक हरवेई, जेरेमी एडवर्ड्स, जोहान डर्स्ट, ब्लेक गोवर्स, एरोन केलिनशिमडट, फ्लिन ओजिलवी।

  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर की ट्रॉफी के साथ भारतीय कप्तान पीआर श्रीजेश।
  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में भारत के विवेक सागर ने फील्ड गोल किया।
  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    भारतीय कप्तान और गोलकीपर पीआर श्रीजेश ने सफलतापूर्वक ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी की शॉट को रोक लिया।
  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    टूर्नामेंंट का उद्घाटन मैच भारत और पाकिस्तान के बीच खेला गया था। - फाइल
  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    कॉमनवेल्थ गेम्स में टीम के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद हॉकी टीम के कोच शोर्ड मारिन को हटाकर हरेंद्र सिंह को कोच बनाया गया है। -फाइल
  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    29 जून को नीदरलैंड के खिलाफ हुए मुकाबले में भारतीय खिलाड़ी कई मौकों पर पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलने से चूक गए थे। - फाइल
  • ऑस्ट्रेलिया ने 15वीं बार चैम्पियंस ट्रॉफी जीती, पेनल्टी शूट आउट में भारत को 3-1 से हराया, sports news in hindi, sports news
    +7और स्लाइड देखें
    टूर्नामेंट में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सरदार सिंह अबह तक एक भी गोल नहीं कर सके हैं। - फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hockey

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×