• Hindi News
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • News
  • Ranchi News flight equivalent of flight to premium trains air travel from ranchi increased to 15 lakh passengers in four years train reduced by 12 lakh

फ्लाइट के समकक्ष प्रीमियम ट्रेनों का किराया; रांची से हवाई सफर के लिए चार साल में 15 लाख यात्रियों की संख्या बढ़ी, ट्रेन में 12 लाख घटे

News - रांची समेत झारखंड के लाेगाें को हवाई सफर ज्यादा पसंद आ रहा है। वाजिब किराया और समय की बचत इसका मुख्य कारण है। पिछले...

Nov 11, 2019, 07:27 AM IST
रांची समेत झारखंड के लाेगाें को हवाई सफर ज्यादा पसंद आ रहा है। वाजिब किराया और समय की बचत इसका मुख्य कारण है। पिछले 4 सालों में विमान के यात्रियाें की संख्या में लगातार बढ़ाेतरी हाे रही है, जबकि ट्रेन में यात्रियाें की तेजी से गिरावट अाई है। वर्ष 2015-16 में रांची स्टेशन से ट्रेन में 1.03 कराेड़ यात्रियों ने सफर किया, वहीं वर्ष 2018-19 में यह संख्या घटकर 91.68 लाख पहुंच गई। इन चार साल में ट्रेन में सफर करने वाले 11.70 लाख यात्रियाें की कमी अार्इ है। वहीं वर्ष 2015-16 में विमान से 8.10 लाख यात्रियाें ने सफर किया। लेकिन वर्ष 2018-19 में यह संख्या बढ़कर 23.12 लाख पहुंच गई है। इसका सबसे बड़ा कारण ट्रेन अाैर फ्लाइट का किराया अाैर समय। यात्री अब समय अाैर किराया दाेनाें देखकर टिकट ले रहे है। बिरसा मुंडा एयरपाेर्ट अॅथाेरिटी के अनुसार कई प्रमुख रूटों पर विमान सेवा नहीं होने के बावजूद यात्रियाें की संख्या में बढ़ोतरी हाे रही है। इधर रेलवे के अफसरों के अनुसार यात्रियों की संख्या में कमी अाने का मुख्य कारण धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन बंद होना है।

रांची स्टेशन से यात्रियाें की संख्या, सालाना

2015-16

2016-17

2017-18

2018-19

एयरपाेर्ट से यात्रियाें की संख्या, सालाना

2015-16

2016-17

2017-18

2018-19

1,03,44,100

93,22,100

86,57,800

91,68,800

8,10,202

11,68,868

19,68,093

23,12,363

रेलवे ने कहा- धनबाद-चंद्रपुरा लाइन बंद का असर

यात्रियाें काे विमान कंपनियाें के बीच फेयर वार का भी फायदा

रांची से दिल्ली फ्लाइट का किराया औसतन 2500 से 3500 रुपए है अाैर समय भी दो घंटे लग रहा है। पिक सीजन में किराया थाेड़ा ज्यादा हाेता है, लेकिन यात्री यह साेच कर किराया देेते है कि डेढ़ घंटे में दिल्ली या अन्य शहर पहुंच जा रहे हैं। पहले रांची से विमान की संख्या कम थी, ताे किराया ज्यादा लिया जा रहा था। लेकिन अब िवमान की संख्या बढ़ा दी गई है, ताे किराया घट गया है। विमान कंपनियाें के बीच फेयर वार का फायदा यात्रियाें काे मिल रहा है।

राजधानी ट्रेन का थर्ड एसी का किराया तीन हजार रुपए

रेलवे ने प्रीमियम ट्रेनाें का किराया काफी बढ़ा दिया है। राजधानी जैसी प्रीमियम ट्रेन मंे एसी थर्ड का किराया करीब तीन हजार रुपए के अासपास है। राजधानी के अलावे अन्य प्रीमियम ट्रेनाें मंे किराया फ्लैक्सी फेयर लगाया गया है। जैसे-जैसे सीटें बुक हाेगी। किराया बढ़ता जाएगा। इसका असर अब दिख रहा है कि यात्री राजधानी या प्रीमियम ट्रेन काे छाेड़ फ्लाइट की अाेर मूव कर रहे है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना