--Advertisement--

आमरस घी संग खाएंगे तो मिलेगा पूरा फायदा, मेडिकल साइंस और आयुर्वेद ने भी माना, ऐसे समझें

आम के साथ घी का सेवन किया तो यह आपका पाचन खराब नहीं होने देगा, क्योंकि यह काफी गर्म होता है।

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 03:55 PM IST
आम के साथ घी का सेवन किया तो यह आम के साथ घी का सेवन किया तो यह

हेल्थ डेस्क. आम को फलों का राजा कहा जाता है, लेकिन वह अपने सारे फायदे शरीर को तब देता है, जब उसके साथ घी का सेवन हो। कई लोग आम को पचा नहीं पाते हैं, इसके लिए इसमें घी डालना चाहिए। इस उपाय से ही आमरस का पूरा लाभ सेहत को भी मिलेगा। एक कटोरी आम रस में एक चम्मच घी डाला तो रस नुकसान नहीं करेगा। आम के साथ घी का सेवन किया तो यह आपका पाचन खराब नहीं होने देगा, क्योंकि यह काफी गर्म होता है। इसीलिए आम को खाने से एक घंटा पहले पानी में भिगाया जाता है, ताकि उसमें जो अतिरिक्त गर्मी है, वह निकल सके, साथ ही उसके छिलके पर जो गंदगी है, वह भी समाप्त हो सके। आधुनिक विज्ञान के साथ आयुर्वेद में भी ये कहा गया है कि आम के साथ घी का सेवन करना चाहिए। मुंबई की होम्योपैथ व न्यूट्रीशनिस्ट डॉ. श्रीलेखा हाड़ा से जानते हैं ऐसा क्यों है?

मेडिकल साइंस : घी के साथ आमरस लेने से कई कई पोषक मिलते
आम में 20 से अधिक विटामिन रहते हैं, साथ ही कई प्रकार के माइक्रो न्यूट्रीएंट्स भी होते हैं। एक कप कटे हुए आम में 100 कैलोरी, एक ग्राम प्रोटीन, 0.5 ग्राम फैट, 25 ग्राम कार्ब्स, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन बी-6, विटामिन के और पोटेशियम होता है। आम की वजह से शरीर को कॉपर, कैल्शियम और आयरन भी मिलता है। साथ ही जिकसेनथिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं। इसमें से अधिकांश माइक्रो-न्यूट्रीएंट्स या तो पानी में घुलने वाले होते हैं, या फिर फैट में। इसमें घी डालने पर यह इतने सारे विटामिन और माइक्रोन्यूट्रीएंट्स के लिए ट्रांसपोर्टेशन का काम करता है। एक प्रकार से इसोफेगस यानी आहारनली से लेकर आंतों तक घी आमरस के लिए एक अच्छा वातावरण बना देता है। जिससे उसके पाचन में तकलीफ नहीं होती। कहने का तात्पर्य यह कि यदि आप पर्याप्त आम खा रहे हैं और साथ में घी का सेवन नहीं करते हैं तो विटामिन्स का लाभ शरीर को नहीं मिल सकेगा।

आयुर्वेद: घी पाचन सुधारता है
गर्मी के कारण शरीर में पाचन की अग्नि बहुत धीमी रहती है। ऐसे में आम को पचाने के लिए पर्याप्त अग्नि चाहिए, जो घी दे सकता है। पित्त और अग्नि एक दूसरे से संबंधित हैं, जो चीज पित्त को संतुलित करती है, वह पाचन की शक्ति को भी कम कर देती है। लेकिन घी में ऐसा नहीं है। यह पित्त को भी खत्म करता है और पाचन की ताकत भी बढ़ाता है। यदि किसी व्यक्ति में पाचन का सामर्थ्य नहीं हो तो घी उसे भी बढ़ा देगा। अनेक गुणों में घी दूध के समान है, क्योंकि यह उसी से बनने वाला उत्पाद है। फिर भी दूध के कारण कुछ लोगों को पेट में गड़बड़ी की शिकायत हो जाती है, लेकिन घी से पाचन सुधरता है।

एक्स्ट्रा शॉट
आम उसी फैमिली में आता है, जिसमें पिस्ता और काजू आते हैं। जिन लोगों को पिस्ता और काजू से एलर्जी है, उन्हें आम से भी परहेज कर लेना चाहिए।

X
आम के साथ घी का सेवन किया तो यह आम के साथ घी का सेवन किया तो यह
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..