--Advertisement--

फोर्टिस को खरीदने की दौड़ में 4 दावेदार, कम से कम 1500 करोड़ के निवेश समेत कई शर्तें शामिल

Dainik Bhaskar

Jun 01, 2018, 06:43 PM IST

नए सिरे से बोली प्रकिया के तहत कंपनी ने किए शॉर्टलिस्ट किए नाम

मुंजाल-बर्मन ने फोर्टिस को खरीदने के लिए पहले 1,800 करोड़ का निवेश प्रस्ताव दिया था।- फाइल मुंजाल-बर्मन ने फोर्टिस को खरीदने के लिए पहले 1,800 करोड़ का निवेश प्रस्ताव दिया था।- फाइल

  • 30 मई को फोर्टिस के तिमाही नतीजे जारी किए जाने थे लेकिन मीटिंग टली
  • 11 जून को बोर्ड मीटिंग में वित्तीय नतीजों को मंजूरी दी जा सकती है

नई दिल्ली. फोर्टिस हेल्थकेयर ने नए सिरे से बोली प्रक्रिया शुरू करने के बाद चार निवेशकों को शॉर्टलिस्ट किया है। इनमें मुंजाल-बर्मन, मनिपाल-टीजीपी कंसोर्टियम, मलेशिया की आईएचएच हेल्थकेयर और रेडिएंट लाइफ केयर शामिल हैं। फोर्टिस ने रेग्युलेटरी फाइलिंग में इसकी जानकारी देते हुए बताया कि कई दूसरी पार्टियों ने भी रुचि दिखाई। कंपनी ने 29 मई को नए सिरे से बोली प्रक्रिया शुरू की और इसमें शामिल होने के लिए 31 मई तक की डेडलाइन तय की।

बोली के लिए नई शर्तें
- प्रेफरेंशियल शेयर अलॉटमेंट के जरिए कम से कम 1,500 करोड़ रुपए का निवेश करना होगा
- आरएचटी हेल्थकेयर ट्रस्ट के अधिग्रहण के लिए फंडिंग का प्लान
- फोर्टिस की डायग्नोस्टिक फर्म एसआरएल से निजी इक्विटी निवेशकों को निकलने का मौका देने का प्लान
- बोली में शर्त नहीं होनी चाहिए, फंडिंग के सोर्स की जानकारी होनी चाहिए
- मौजूदा प्रबंधन और कर्मचारियों को बनाए रखने के लिए विस्तृत योजना

मुंजाल-बर्मन का प्रस्ताव किया था रद्द
फोर्टिस ने 29 मई को मुंजाल-बर्मन के प्रस्ताव को आपसी सहमति से रद्द करने की जानकारी दी और नए सिरे से बोली प्रक्रिया शुरू की थी। 10 मई को बोर्ड बैठक में हीरो एंटरप्राइजेज के सुनील कांत मुंजाल और डाबर ग्रुप के डॉ. आनंद बर्मन के संयुक्त प्रस्ताव पर सहमति जताते हुए बोर्ड ने शेयरधारकों की मंजूरी मांगी।

फोर्टिस बोर्ड में बदलाव: 4 डायरेक्टर बाहर, 3 नए शामिल
10 मई को मुंजाल-बर्मन के प्रस्ताव पर सहमति जताने वाले 4 डायरेक्टर फोर्टिस बोर्ड से बाहर हो चुके हैं। हरपाल सिंह, सबीना वैसोहा, और तेजिंदर सिंह गिल ने 22 मई की ईजीएम से पहले खुद ही इस्तीफा दे दिया था। ब्रायन टेम्पेस्ट को शेयरधारकों ने वोटिंग के जरिए बाहर कर दिया। इन चारों पर शेयरधारकों के हितों में काम नहीं करने के आरोप लगे थे।
- सुवालक्ष्मी चक्रबर्ती, रवि राजगोपाल और इंद्रजीत बनर्जी स्वतंत्र निदेशक के तौर पर कंपनी बोर्ड में शामिल हुए हैं।

अपोलो के बाद फोर्टिस देश की दूसरी सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन है।- फाइल अपोलो के बाद फोर्टिस देश की दूसरी सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन है।- फाइल
X
मुंजाल-बर्मन ने फोर्टिस को खरीदने के लिए पहले 1,800 करोड़ का निवेश प्रस्ताव दिया था।- फाइलमुंजाल-बर्मन ने फोर्टिस को खरीदने के लिए पहले 1,800 करोड़ का निवेश प्रस्ताव दिया था।- फाइल
अपोलो के बाद फोर्टिस देश की दूसरी सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन है।- फाइलअपोलो के बाद फोर्टिस देश की दूसरी सबसे बड़ी हॉस्पिटल चेन है।- फाइल
Astrology

Recommended

Click to listen..