--Advertisement--

फ्रेंच ओपनः 10 बार के चैम्पियन नडाल 11वीं बार फाइनल में, पहली बार ग्रैंड स्लैम के खिताबी मुकाबले में पहुंचे थीम से होगा मुकाबला

पिछले दो साल में क्ले कोर्ट पर सिर्फ थीम ही नडाल को हरा सके हैं।

Dainik Bhaskar

Jun 09, 2018, 12:05 AM IST
फ्रेंच ओपन के मेन्स सिंगल्स के फाइनल में पहुंचने के बाद स्पेन के राफेल नडाल ने कुछ इस तरह जीत का जश्न मनाया। फ्रेंच ओपन के मेन्स सिंगल्स के फाइनल में पहुंचने के बाद स्पेन के राफेल नडाल ने कुछ इस तरह जीत का जश्न मनाया।

  • डोमिनिक थीम से हारने के बावजूद चिचिनाटो को इनाम के तौर पर 6,58,000 डॉलर मिलेंगे
  • फेडरर के बाद किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में 11 बार पहुंचने वाले नडाल दूसरे खिलाड़ी हैं

पेरिस. लाल बजरी के बादशाह और दुनिया के नंबर वन टेनिस खिलाड़ी शुक्रवार को यहां फ्रेंच ओपन टूर्नामेंट में मेन्स सिंगल्स के फाइनल में पहुंच गए। उन्होंने सेमीफाइनल में अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो को सीधे सेटों में हराया। नडाल इससे पहले 10 बार फाइनल में पहुंचे और हर बार चैम्पियन बने। वे 11वीं बार फ्रेंच ओपन और 24वीं बार किसी भी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचे हैं। अब खिताबी मुकाबले में उनका मुकाबला ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थीम से होगा। 7वीं वरीयता प्राप्त थीम ने गैर वरीयता प्राप्त इटली के मार्को चिचिनाटो को सीधे सेटों में मात दी।

नडाल ने 2 घंटे 14 मिनट में जीता मुकाबला

- फ्रेंच ओपन का 10 बार खिताब जीत चुके नडाल ने दुनिया के 6 नंबर के खिलाड़ी पोत्रो को हराने में 134 मिनट लिए। उन्होंने पोत्रो को 6-4, 6-1, 6-2 से हराया।
- पोत्रो ने पहले सेट में नडाल से कुछ संघर्ष किया, लेकिन बाद के दोनों सेट में दबदबा स्पेन के नडाल का रहा। दूसरे सेट में नडाल एक समय 5-0 से आगे थे, तब लग रहा था कि स्पेन का यह खिलाड़ी पोत्रो को कोई अंक ही बनाने देगा। हालांकि इसके बाद पोत्रो ने 1 अंक बनाया, लेकिन फिर नडाल ने 1 और अंक बनाकर सेट अपने नाम कर लिया।
- तीसरे सेट की कहानी भी कुछ ऐसी ही रही। नडाल के आगे पोत्रो कहीं संघर्ष करते हुए नहीं दिख रहे थे।

नडाल से सिर्फ फेडरर आगे
- नडाल किसी ग्रैंड स्लैम में 11 या इससे अधिक बार पहुंचने वाले दुनिया के दूसरे टेनिस खिलाड़ी हैं। उनसे आगे सिर्फ स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर हैं। फेडरर 12 बार विंबल्डन का फाइनल खेल चुके हैं।
- नडाल का रिकॉर्ड है कि जब भी वे फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचे, तब टूर्नामेंट की ट्रॉफी अपने नाम की।


23 साल बाद किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचा ऑस्ट्रिया का कोई खिलाड़ी
- थीम ने पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के सेमीफाइनल में पहुंचे चिचिनाटो को 7-5 7-6 6-1 हराया। थीम भी पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचे हैं। वे किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंचने वाले दूसरे ऑस्ट्रियाई खिलाड़ी हैं।
- उनसे पहले ऑस्ट्रिया के थॉमस मस्टर 1995 में फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचे थे। तब वे अमेरिका के माइकल चांग को सीधे सेटों में मात देकर फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के चैम्पियन बने थे।

पिछले 2 साल से सेमीफाइनल में हार रहे थे थीम
- थीम पिछले दो साल से सेमीफाइनल में हार रहे थे, लेकिन इस बार उन्होंने 72वीं रैंकिंग के इतालवी खिलाड़ी के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन किया चिचिनाटो ने इस टूर्नामेंट से पहले कभी कोई ग्रैंड स्लेम मैच नहीं जीता था। हालांकि यहां उन्होंने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया।
- 24 साल के थीम ने पहला सेट कड़े संघर्ष में जीता। दूसरे सेट का फैसला टाईब्रेकर में हुआ। उन्होंने टाईब्रेकर में 12-10 से जीत हासिल की।हालांकि तीसरे सेट को उन्होंने मात्र 21 मिनट में निपटाकर मैच अपने नाम कर लिया। यह मुकाबला दो घंटे 17 मिनट तक चला।
- 25 वर्षीय चिचिनाटो ने क्वार्टर फाइनल में पूर्व वर्ल्ड नंबर और 12 बार के ग्रैंड स्लैम चैम्पियन सर्बिया के नोवाक जोकोविक को हराया था। हालांकि सेमीफाइनल में थीम के सामने वे अपने इस करिश्मे दोहरा नहीं सके। थीम ने इस साल क्ले कोर्ट पर सबसे ज्यादा मैच जीते हैं।

मौजूदा समय में ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थीम दुनिया के 8वें नंबर के टेनिस खिलाड़ी हैं। मौजूदा समय में ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थीम दुनिया के 8वें नंबर के टेनिस खिलाड़ी हैं।
X
फ्रेंच ओपन के मेन्स सिंगल्स के फाइनल में पहुंचने के बाद स्पेन के राफेल नडाल ने कुछ इस तरह जीत का जश्न मनाया।फ्रेंच ओपन के मेन्स सिंगल्स के फाइनल में पहुंचने के बाद स्पेन के राफेल नडाल ने कुछ इस तरह जीत का जश्न मनाया।
मौजूदा समय में ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थीम दुनिया के 8वें नंबर के टेनिस खिलाड़ी हैं।मौजूदा समय में ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थीम दुनिया के 8वें नंबर के टेनिस खिलाड़ी हैं।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..