1 अप्रैल से 53 होमगार्ड करेंगे जनरल अस्पताल और हेल्थ सेंटरों की सुरक्षा

Panchkula Bhaskar News - इमरजेंसी, गायनी, साइकेट्रिक, एसएनसीयू, लैब को छोड़ किसी भी डिपार्टमेंट में नहीं सुरक्षा पंचकूला के 300 बेडेड...

Feb 15, 2020, 07:36 AM IST
Panchkula News - from april 1 53 homeguards will protect general hospitals and health centers
{इमरजेंसी, गायनी, साइकेट्रिक, एसएनसीयू, लैब को छोड़ किसी भी डिपार्टमेंट में नहीं सुरक्षा

पंचकूला के 300 बेडेड जनरल अस्पताल से लेकर 10 हेल्थ सेंटरों पर अब सुरक्षा बंदोबस्त 53 होमगार्ड के जवानों के हाथ में होंगे। इसके लिए हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से पंचकूला स्वास्थ्य विभाग को फरमान जारी किया गया है, जिसमें पंचकूला जिले के अस्पताल में 35 होमगार्ड तैनात रहेंगे, जबकि 7 प्राइमरी हेल्थ सेंटर के अलावा 3 कम्यूनिटी हेल्थ सेंटरों पर 16 होमगार्ड तैनात रहेंगे।

एक ओर जहां विभाग की ओर से जिले को मात्र 53 होमगार्ड दिए जा रहे है। वहीं, दूसरी ओर जनरल अस्पताल की ओर से डीजी हेल्थ ऑफिस में 76 होमगार्ड ओर भेजे जाने के लिए डिमांड भी कर दी है। ऐसा इसलिए क्यों कि, अभी जनरल अस्पताल में 47 सिक्योरिटी गार्ड काम कर रहे है। इन सबकी 3 अलग अलग शिफ्टों में ड्यूटी लगाई जा रही है। इसके अलावा 47 सिक्योरिटी गार्ड होने के बावजूद अस्पताल में सिर्फ इमरजेंसी, गायनी वार्ड, लैब, पीडियाट्रिक वॉर्ड और लेबर रूम में ही लगाया जा सकता है। सिक्योरिटी गार्ड की कमी से रात काे कई एंट्रेंस तक बंद करनी पड़ती है।

जनरल अस्पताल से गैंगस्टर भी भाग चुके हैं

जनरल अस्पताल में चोरी के मामले आम बात है। यहां डॉक्टरों और मरीजों के बीच गाली-गलौच तक हो जाती है। हालात काबू करने के लिए मजबूरन अस्पताल में पुलिस बुलाई जाती है। यहां तक की सिक्योरिटी एेसे है कि हाई प्रोफाइल गैंगस्टर तक इमरजेंसी से फरार हो चुके है। ऐसे में अस्पताल की सिक्योरिटी पर भी कई बार सवाल खड़े हो चुके है। हरियाणा के अस्पतालों में डॉक्टरों के साथ झगड़ों से लेकर लापरवाही के मामले सामने आने के बाद ही हरियाणा गृह मंत्री अनिल विज ने अस्पतालों से लेकर हेल्थ सेंटरों पर होमगार्ड लगाने का फैसला लिया।

47 सिक्योरिटी गार्ड्स की नौकरी खतरे में

विभाग की ओर से अब होमगार्ड के हवाले सिक्योरिटी को सौंपा जा रहा है। जिसके बाद अस्पताल और हेल्थ सेंटरों में पहले से ही लगे सिक्योरिटी गार्डों पर भी खतरा मंडराने लग गया है। जनरल अस्पताल में कुल 47 सिक्योरिटी गार्ड है, होमगार्ड को तैनात करने से पहले इन सिक्योरिटी का क्या करना है, इसके लिए कोई फरमान नहीं आया है। ऐसे में यही अनुमान लगाया जा रहा है कि होमगार्ड की ज्वाइनिंग से पहले सिक्योरिटी गार्ड्स को हटा दिया जाएगा। इस वजह से आने वाले दिनों में अपना काम बंद कर स्ट्राइक करने की भी प्लानिंग बना रहे है।

अभी ये है हालात.. अभी सबसे ज्यादा सिक्योरिटी गार्ड मॉर्निंग शिफ्ट में लगाए जाते है। जबकि, इवनिंग और नाइट ड्यूटी में इनसे कम सिक्योरिटी गार्ड होते है। मॉर्निंग शिफ्ट में 21 सिक्योरिटी गार्ड ड्यूटी कर रहे है, जिन्हें इमरजेंसी, डीएडिक्शन, लेबर रूम, गायनी ओपीडी, आउटर एरिया, डेंटल, सीएमओ ऑफिस, यूएसजी, फार्मेसी में लगाया जाता है। इसमें 2 रिलीवर भी होते है। इसके अलावा 13 इवनिंग शिफ्ट में होते है और 12 सिक्योरिटी गार्ड को नाइट शिफ्ट में लगाया जा रहा है। सिक्योरिटी गार्ड की कमी के कारण रात को कई वार्ड से लेकर एंट्रेंस और एग्जिट लॉक कर दिए जाते है।

एंट्रेंस-एग्जिट प्वाइंट, ओपीडी की सुरक्षा को लेकर भेजी डिमांड


- डॉ. सरिता यादव, पीएमओ, जनरल अस्पताल।

हेल्थ डिपार्टमेंट का फरमान: अस्पताल में 47 सिक्योरिटी गार्ड्स पर गिरेगी गाज

X
Panchkula News - from april 1 53 homeguards will protect general hospitals and health centers
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना