अपकमिंग मूवीज

--Advertisement--

8 महीने मैंने एक मार्शल आर्टिस्ट की लाइफ जी है: राधिका मदान

राधिका ने में फिल्म 'पटाखा' से बॉलीवुड में डेब्यू किया है।अब वे जल्द ही फिल्म 'मर्द को दर्द नहीं होता' में नजर आएंगी।

Dainik Bhaskar

Oct 05, 2018, 04:31 PM IST
Radhika Madan : I'm living the life of a martial artist from last 8 months

बॉलीवुड में इन दिनों राधिका आप्टे और राधिका मदान खूब चर्चा में हैं। राधिका आप्टे नेटफ्लिक्स को लेकर तो वहीं राधिका मदान अपनी हालिया रिलीज फिल्म 'पटाखा' को लेकर चर्चा में हैं। विशाल भारद्वाज की इस फिल्म में अपनी बहन से बेइंतहा नफरत करने वाली चंपा के किरदार में राधिका मदान की खासी चर्चा हो रही है। वे कहती हैं, 'मैं राधिका आप्टे को बहुत एडमायर करती हूं। मैं उनसे 'घोउल' के प्रीमियर पर मिल चुकी हूं। मैंने तो उनसे जाकर इतना तक बोल दिया था कि मैं उनकी दीवानी हूं। मैं खुद को खुशकिस्मत मानती हूं कि मैं स्वरा भास्कर, आलिया भट्ट और उन जैसे बाकी टैलेंटेड एक्ट्रेसेस के दौर में काम कर रही हूं। मैं तो उनमें से हूं जो उनके पास जाकर अपने जज्बात जाहिर भी कर दूं। मैं उस जोन में नहीं हूं कि उनसे अपना कॉम्पिटिटर मानकर उनसे जलूं।'


राधिका आगे बताती हैं, 'मेरी अगली फिल्म 'मर्द को दर्द नहीं होता' है। इसमें मैं भाग्यश्री जी के बेटे अभिमन्यु दसानी के अपोजिट हूं। वे इतने जमीनी हैं जितने आम घरों के युवक नहीं होते। आप लोग यकीन नहीं करेंगे मुझे यह तक नहीं पता था कि वे भाग्यश्री के बेटे हैं। वो तो बाई चांस उनके घर में एक मीटिंग हुई, तब पता चला कि वे भाग्यश्री के बेटे हैं। मैंने उनसे कहा भी कि ये क्या है? ये कब हुआ? बहरहाल, हर फिल्म और हर कलाकार से मुलाकात करके मुझे एक नया एक्सपीरियंस मिल रहा है। पहली फिल्म ने मुझे बेहतर कुक बनाया। दूसरी ने मार्शल आर्ट के गुर सिखाए।'
फिल्म में है प्योर एक्शन

फिल्म 'मर्द को दर्द नहीं होता' के बारे में राधिका बोलीं, 'इस फिल्म में प्योर एक्शन है। इसके लिए मैंने सात से आठ महीनों तक मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग ली थी। इन 8 महीनों में मैंने एक मार्शल आर्टिस्ट की लाइफ जी है। यह फिल्म फिजिकली मेरे लिए बहुत चैलेंजिंग रही। चार घंटे तक ट्रेनिंग, फिर जिमिंग और बाकी चीजें। इसके अलावा पूरे आठ महीने तक हमें सोशल मीडिया से दूर भी रखा गया।'

मार्शल आर्टिस्ट के बारे में राधिका कहती हैं...'हैरान करने वाली बात यह है कि एक मार्शल आर्टिस्ट अमूमन तो बड़ा शांत रहता है। पर जब पंच मारता है तो उसमें क्या खूब अग्रेशन होता है। इस फिल्म से एक्शन की एक नई इबारत लिखी जाएगी। हमने कोई केबल, वायर आदि यूज नहीं किया। मारने से लेकर मार खाने तक मैंने भी बॉडी डबल का यूज नहीं किया।'

X
Radhika Madan : I'm living the life of a martial artist from last 8 months
Click to listen..