बॉलीवुड मुम्बई

--Advertisement--

फ्राइडे रिव्यू

गोविंदा कॉमेडी फिल्म फ्राइडे के साथ वापस आ गए हैं।

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 01:35 PM IST
Fryday film review
स्टार- 3
शुभा शेट्‌टी शाह
गोविंदा कॉमेडी फिल्म फ्राइडे के साथ वापस आ गए हैं। इस फिल्म में आपको गोविंदा के वे सभी रूप देखने को मिलेंगे जिनके लिए वे जाने जाते हैं। इस फिल्म में एक सीन है जिसमें गोविंदा मुगल- ए- आजम के सलीम का किरदार स्टेज पर निभाते हैं। वह सीन बेहद मजेदार है। जो आपको याद दिलाता है कि वे गोविंदा को क्यों याद किया जाता है। गोविंदा इस फिल्म में अपने पूरे चार्म के साथ हैं। जो लोग लंबे समय से उन्हें स्क्रीन पर मिस कर रहे हैं उन्हें ये फिल्म देखना चाहिए।

स्टोरी और स्क्रीनप्ले मनु ऋषि चड्ढा ने लिखा है जो कि काफी पुराना है। यह उस समय पर सूट हो सकता था जब गोविंदा सुपरस्टार थे। थिएटर एक्टर गगन (गोविंदा) की शादी प्रभ्लीन संधू से हुई है। वे एनजीओ में काम करती हैं इसलिए काफी बिजी रहती हैं। इसी बीच गगन दिगांगना सूर्यवंशी के साथ अफेयर शुरू कर देता है। जो कि पुलिस अफसर (राजेश शर्मा) की पत्नी है। इस स्टोरी के साथ ही एक दूसरी स्टोरी भी चल रही है जो कि वाटर प्यूरिफायर सेल्समेन राजीव (वरुण शर्मा) की है। जिसको अपने प्रोडक्ट्स को बेचना है। राजीव का घृणित बॉस, षड्यंत्रकारी सहकर्मी और लालची गर्लफ्रेंड उसकी लाइफ को मुश्किल बना रहे हैं। गगन पत्नी के बाहर जाने पर घर में गर्लफ्रेंड से मिलने का प्लान बनाता है। तभी राजीव घर में वाटर प्यूरीफायर इंस्टॉल करने आ जाता है। कंफ्यूजन तब क्रिएट होता है जब चोर (बृजेश काला) घर में घुस जाता है।
सहज कॉमेडी के साथ ही गोविंदा ही इस फिल्म की जान हैं। फिल्म के डायलॉग फनी हैं। यह गोविंदा का ही टैलेंट है कि वे फनी नहीं लगने वाले डायलॉग को भी ऐसे बोलते हैं कि उन पर हंसी आने लगती है। वरुण गंभीर और अच्छे लगे हैं। हीरोइनों के बीच में प्रभ्लीन का काम अच्छा है। दियांगना जिन्होंने इस फिल्म से इंडस्ट्री में कदम रखा है का काम अच्छा नहीं है। बृजेश काला ने अच्छा अभिनय किया है। एक और अच्छे एक्टर राजेश शर्मा के पास फिल्म में ज्यादा करने के लिए कुछ नहीं था।
डायरेक्टर अभिषेक डोगरा के पास गोविंदा जैसे टेलेंटेड एक्टर का साथ था जिन्हें लेकर वे एक अच्छी फिल्म बना सकते थे लेकिन, वे इसमें सफल नहीं हो सके। थोड़ा कल्पनाशील फिल्मांकन इस फिल्म को दूसरे लेवल पर ले जा सकता था।
फिल्म को गोविंदा के लिए देख सकते हैं। इस फिल्म को देखकर आपको गोविंदा के पुराने समय की याद आ जाएगी।
X
Fryday film review
Click to listen..