--Advertisement--

अंतिम संस्कार से पहले बार-बार कहा जा रहा था- बेटी का चेहरा मत देखना, लेकिन फिर भी नहीं माना मां का दिल

बेटी का चेहरा देख शॉक्ड थी महिला, अंतिम संस्कार करने वाली कंपनी पर लगाया आरोप

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2018, 11:44 AM IST
Mum's heartbreak as funeral directors advise her not to see daughter's body because she's 'not in a good way'

मैनचेस्टर. इंग्लैंड में रहने वाली एक महिला की बेटी की मौत हाल ही में हो गई थी। महिला का कहना है कि बेटी की मौत के बाद उससे कहा गया था कि वो अंतिम संस्कार से पहले आखिरी बार बेटी का चेहरा ना देखे। महिला ने ये आरोप फ्यूनरल (अंतिम संस्कार) करने वाली कंपनी के डायरेक्टर पर लगाया है। हालांकि इसके बाद भी महिला ने उसकी बात ना मानकर बेटी का चेहरा देख लिया और इसके बाद वो शॉक्ड रह गई। दरअसल बेटी के शव की हालत काफी खराब हो गई थी, और इसी वजह से फ्यूनरल कंपनी का डायरेक्टर नहीं चाहता था कि वो अपनी बेटी का चेहरा देखे। इस मामले में महिला ने फ्यूनरल कंपनी पर घोर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

किडनी फेल होने से हुई थी मौत

- मैनचेस्टर में रहने वाली सोनिया डोर (60) की बेटी कैप्री (19) की मौत इस साल 20 जुलाई को किडनी फेल हो जाने की वजह से हो गई थी।
- बेटी की मौत के बाद कई दिन तक उसकी अंत्येष्टि नहीं की गई। इस दौरान सोनिया ने एक फ्यूनरल कंपनी को हायर करते हुए बेटी के शव को संभालने की जिम्मेदारी उसे दे दी थी।
- एक इंटरव्यू में सोनिया ने कहा, 'मेरी बेटी की डेडबॉडी को 27 अगस्त को पोस्टमार्टम के बाद ग्रेटर मैनचेस्टर के ट्रेफोर्ड जनरल हॉस्पिटल से लिया गया था। इसके बाद 31 अगस्त को हुए फ्यूनरल तक बॉडी उसी कंपनी के पास रही थी।'
- सोनिया ने बताया, 'जब मैंने उनसे बेटी का चेहरा दिखाने के लिए कहा तो उन्होंने ये कहते हुए मुझे ऐसा नहीं करने के लिए कहा कि वो ठीक हालत में नहीं है।'
- हालांकि इसके बाद भी वो नहीं मानी और बेटी का चेहरा देखने की जिद करने लगी। महिला ने बताया, 'जब मैंने उसकी बॉडी को देखा तो मैं भयानक शॉक में थी। मैंने उनसे डेडबॉडी को रेफ्रिजरेटेड या लेप लगाकर रखने के लिए कहा था। उन्होंने इसी बात के पैसे भी लिए थे। मगर ऐसा नहीं हुआ।'

फ्यूनरल के लिए दिए थे 3 लाख रुपए

- सोनिया ने बताया 31 अगस्त को बेटी के फ्यूनरल के बाद से ही वो ठीक से सोई नहीं है। क्योंकि वो काफी अपमानजनक रहा था। महिला के मुताबिक फ्यूनरल के लिए उसने कंपनी को 3 हजार पाउंड (करीब 3 लाख रु) दिए थे।
- महिला का कहना है कि 'बेटी की अंत्येष्टि से पहले मैं उसका चेहरा तक नहीं देख पाई क्योंकि उसकी कंडीशन बेहद खराब थी। इस वजह से मैं और मेरा परिवार काफी परेशान हैं। ये काफी अपमान भरा रहा।'
- वहीं फ्यूनरल करने वाली कंपनी ने इस मामले को काफी गंभीरता के साथ लेते हुए आंतरिक जांच शुरू करने की बात कही है। साथ ही उसने महिला से ली हुई पूरी फीस वापस करने की बात भी कही है।

Mum's heartbreak as funeral directors advise her not to see daughter's body because she's 'not in a good way'
Mum's heartbreak as funeral directors advise her not to see daughter's body because she's 'not in a good way'
X
Mum's heartbreak as funeral directors advise her not to see daughter's body because she's 'not in a good way'
Mum's heartbreak as funeral directors advise her not to see daughter's body because she's 'not in a good way'
Mum's heartbreak as funeral directors advise her not to see daughter's body because she's 'not in a good way'
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..