--Advertisement--

रात में उठकर रोने लगी बीमार बच्ची, गुस्साई मां ने चबा डाले उसके होंठ और नाक, कई दिनों तक हॉस्पिटल में भी नहीं कराया एडमिट

जब डॉक्टर्स ने देखा तो बताई बच्ची के साथ हुए टॉर्चर की कहानी

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 05:56 PM IST

रेवदा. रूस में अपनी सगी मां के टॉर्चर का शिकार हुई लड़की ने जिंदगी को अलविदा कर दिया। लड़की 6 साल की थी, जब एक रात वो बीमारी की हालत में उठकर रोने लगी थी। इस बात से नाराज उसकी मां ने पहले उसे चुप कराने की कोशिश की। फिर गुस्से में उसका नीचे का होंठ और नाक की चबा गई। इस घटना के बाद बच्ची को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया, जहां चेकअप के साथ डॉक्टर ने उसके साथ पहले हुए टॉर्चर की कहानी बयां की।

डॉक्टर्स ने कहा- पहले भी की गई टॉर्चर
- मामला रेवदा टाउन का है, जहां तीन साल पहले कात्या सेप्सिवत्सेवा अपनी मां ल्यूडमिला के साथ रहती थी। बच्ची सेरेब्रल पाल्सी बीमारी से जूझ रही थी।
- बीमारी की हालत में कात्या एक रात अचानक उठकर रोने लगी। उसकी गुस्साई मां ल्यूडमिला ने उसे मार-पीटकर चुप कराने की कोशिश की, लेकिन वो और जोर से रोने लगी।
- इसके बाद ल्यूडमिला ने बच्ची पर हमला बोल दिया और गुस्से में बेटी का नीचे वाला होंठ ही चबा डाला। उसने नाक भी चबाने की कोशिश की लेकिन वो नाकाम रही।
- घटना के कई दिन बाद तक उसने कात्या को डॉक्टर को नहीं दिखाया। बच्ची उन्हीं जख्मों और भयानक दर्द से जूझती रही। कई दिन बाद ल्यूडमिला ने एंबुलेंस बुलाकर उसे हॉस्पिटल पहुंचाया।
- जब डॉक्टर्स ने बच्ची का पूरा चेकअप किया तो उन्हें उसके शरीर पर कुछ ताजा और कई पुराने घावों के निशान भी मिले। डॉक्टर ने ये भी बताया था कि वो बहुत सारी बीमारियों से जूझ रही है।
- कात्या का करीब सालभर अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चलता रहा और नई-नई बीमारियां सामने आती रहीं। डॉक्टर्स ने बताया कि वो देखभाल की कमी के चलते उसे ढेरों बीमारियों ने घेर लिया।

बच्ची को दूसरी फैमिली ने लिया गोद
- हॉस्पिटल में इलाज के दौरान ही कात्या को ब्लैक सी रिजॉर्ट टाउन के रहने वाली अन्ना मकरोवा ने गोद ले लिया और उसकी देखभाल करने लगीं। हालांकि, घटना के करीब तीन साल बाद इसी हफ्ते बच्ची ने दम तोड़ दिया।
- लोकल मीडिया के मुताबिक, आखिरी वक्त में वो एक साल से मकारोवा फैमिली के साथ ही रह रही थी। यहां पर उसकी अच्छे से देखभाल भी हो रही थी।
- उसे गोद लेने वाली अन्ना ने कहा कि हम अभी कात्या का साथ छोड़ने के लिए तैयार नहीं थे। उसने हमारे साथ बहुत कम वक्त गुजारा लेकिन फैमिली के लिए उसे भूल पाना नामुमकिन है।
- वहीं, होंठ काटने की घटना के बाद से कात्या की मां 4 साल की जेल की सजा काट रही है। वहीं उसके पिता ने उसकी पैदाइश के वक्त से ही फैमिली से रिश्ता तोड़ लिया और कभी इनसे कॉन्टैक्ट में नहीं किया।