मध्यप्रदेश: कांग्रेस से गठबंधन की अटकलों के बीच गोंगपा की 90 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा, बसपा का रुख साफ नहीं

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भोपाल.  विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस से गठबंधन की अटकलों के बीच गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने 90 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। तीसरे मोर्चे के महत्वपूर्ण दल बसपा और कांग्रेस के बीच समझौते की स्थिति भी फिलहाल साफ नहीं है।

इधर, जय आदिवासी युवा शक्ति (जयस) ने 80 विधानसभा सीटों पर सक्रियता बढ़ा दी है। स्पष्ट है कि सत्तारूढ़ दल के खिलाफ खड़ी पार्टियाें में गठबंधन को लेकर मुश्किलें बढ़ रही हैं। माना जा रहा है कि आचार संहिता लगने के बाद गठबंधन के समीकरण साफ हो जाएंगे। प्रदेश में ढाई महीने बाद चुनाव होना है। कांग्रेस ने अब तक किसी दल से गठबंंधन नहीं किया है। यही वजह है कि बसपा, सपा ने अब तक अपने प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की है। गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने 90 सीटों पर प्रत्याशी खड़े करने की बात की है। इसके साथ ही गोंगपा के नेताओं ने यह भी स्पष्ट किया है कि भाजपा को हराने के लिए अगर कांग्रेस हाथ मिलाती है तो वे उसका समर्थन करने को तैयार हैं। इधर, सपाक्स भी तैयारियों में जुटा है। 

जयस का अादिवासी सीटों पर जोर, सपा और बसपा ने नहीं खोले अपने पत्ते : इधर, जयस ने 80 विधानसभा सीटोें पर अपनी तैयारी शुरू कर दी है। प्रदेश  धार, झाबुआ, रतलाम, बड़वानी, अलीराजपुर, खरगोन, खंडवा, देवास आदि स्थानों पर जयस संगठन को मजबूत कर रहा है। इसके अलावा होशंगाबाद, शहडोल जिलों में प्रत्याशी खड़े करने की तैयारी कर रहा है।  जयस के पदाधिकारियों के मुताबिक प्रदेश में 40 सामान्य सीटें ऐसी हैं जहां आदिवासियों की संख्या 50 हजार तक है। इस कारण गैर आदिवासी सीटों में भी जयस का प्रभाव बढ़ रहा है। इधर, सपा और बसपा ने भी अब तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। बसपा पदाधिकारियों के मुताबिक अब तक कांग्रेस ने स्थिति स्पष्ट नहीं की है। इस कारण वे सभी सीटों पर तैयारी कर रहे हैं। गठबंधन पर राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती फैसला लेंगी। इधर, सपा ने भी केवल सिलवानी सीट पर ही अपने प्रदेश अध्यक्ष गौरी सिंह यादव को मैदान में उतारा है।

हमारे पास हैं कई विकल्प : गोंगपा 90 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। अब तक कांग्रेस ने कोई चर्चा नहीं की है।  अगर गठबंधन पर चर्चा होगी तो गोंगपा तैयार है। हम भी भाजपा को सत्ता से बाहर करना चाहते हैं। - बेजार सिंह मरकाम, राष्ट्रीय संयोजक, गोंगपा 

कांग्रेस स्थिति साफ करे : अब तक कांग्रेस ने गठबंधन की स्थिति स्पष्ट नहीं की है। इस कारण अब तक प्रत्याशी घोषित नहीं किए हैं और इसमें देर हो रही है। हम अपनी तैयारी कर रहे हैं। सपा मजबूत स्थिति में है। - यश यादव,  प्रवक्ता, सपा 

सरकार ने नहीं मानीं मांगें : जयेस ने सरकार से 25 मांगें की थी। लेकिन, एक भी नहीं मानी। हम आदिवासी बहुल की 80 सीटों पर अच्छी स्थिति में है।  समर्थन उसी को देंगे जो आदिवासी सीएम के पक्ष में हो। - डॉ.हीरालाल अलावा, राष्ट्रीय संरक्षक, जयस

 

खबरें और भी हैं...