Hindi News »Business» Goverment Mulling To Air India IPO For Equity Sale

एयर इंडिया का आईपीओ ला सकती है सरकार, 76% विनिवेश की प्रक्रिया विफल रहने के बाद विकल्पों पर विचार

हिस्सा बिक्री की नई रणनीति पर फैसला मंत्री समूह करेगा

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 13, 2018, 07:39 PM IST

  • एयर इंडिया का आईपीओ ला सकती है सरकार, 76% विनिवेश की प्रक्रिया विफल रहने के बाद विकल्पों पर विचार
    +1और स्लाइड देखें
    एयर इंडिया पर 51,000 करोड़ का कर्ज है- फाइल
    • विनिवेश प्रक्रिया के तहत सरकार 24% शेयर अपने पास रखना चाहती थी
    • सरकार के पास 160 इन्क्वारी आईं लेकिन बोली लगाने के लिए कोई आगे नहीं आया

    नयी दिल्ली. एयर इंडिया की विनिवेश प्रक्रिया विफल होने के बाद सरकार अब आईपीओ के जरिए विनिवेश पर विचार कर रही है। इसके तहत सरकार इनिशियल पब्लिक ऑफर के जरिए रकम जुटाएगी। बाद में शेयर भाव बढ़ने पर सरकार और हिस्सेदारी बेचने पर विचार कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक विनिवेश प्रक्रिया नए सिरे से शुरू करने के लिए जिन विकल्पों पर विचार किया जा रहा है उनमें ये भी एक है।

    76% हिस्सा बिक्री की प्रक्रिया विफल रही
    कर्ज में डूबी एयर इंडिया को खरीदने के लिए कोई आगे नहीं आया। सरकार ने एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट के लिए डेडलाइन 14 मई से बढ़ाकर 31 मई की थी, लेकिन फिर भी किसी ने रुचि नहीं दिखाई।

    51,000 करोड़ के घाटे में है एयर इंडिया
    एयर इंडिया का घाटा लगातार 8 साल तक बढ़ता रहा और 51,000 करोड़ रुपए पहुंच गया। हालांकि 2015-16 में एयरलाइंस ने 105 करोड़ के मुनाफे की जानकारी दी लेकिन कैग ने जनवरी 2017 की रिपोर्ट में इसे 321 करोड़ का घाटा माना।

    चालू वित्त वर्ष में 80,000 करोड़ रुपए का विनिवेश लक्ष्य
    वित्त वर्ष 2018-19 में सरकार ने 80,000 करोड़ रुपए के विनिवेश का लक्ष्य तय किया है। एयर इंडिया को खरीदार नहीं मिलने से इसे झटका लगा है।

    5 महीने में 6,250 करोड़ का लोन लिया
    एयर इंडिया ने पिछले साल सितंबर से इस साल जनवरी के बीच अलग-अलग बैंकों से ये लोन लिया। साथ ही 1,000 करोड़ का वर्किंग कैपिटल लोन इसी महीने लिया जाएगा।

    सरकार से 26,000 करोड़ मिले
    अप्रैल 2012 में यूपीए सरकार ने इसके लिए 30,231 करोड़ के बेलआउट पैकेज का ऐलान किया था। 2013-14 तक एयर इंडिया को सालाना औसत 3,000-4,000 करोड़ रुपए मिले लेकिन इसके बाद से राशि काफी कम हो गई है। 2018-19 के लिए 650 करोड़ रुपए आवंटित किए गए।

  • एयर इंडिया का आईपीओ ला सकती है सरकार, 76% विनिवेश की प्रक्रिया विफल रहने के बाद विकल्पों पर विचार
    +1और स्लाइड देखें
    एयरलाइंस इस महीने 1,000 करोड़ का वर्किंग कैपिटल लोन लेगी।- फाइल
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×