--Advertisement--

जब दादी ने 4 साल की पोती की आंखों के नीचे देखे काले निशान, तो लोगों से की शिकायत, लेकिन किसी ने नहीं की मदद

फिर मौत के बाद मां को कर लिया गया अरेस्ट, सामने आई शॉकिंग कहानी

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 07:04 PM IST

(ये कहानी 'सोशल वायरल सीरीज' के तहत है। दुनियाभर में सोशल मीडिया पर ऐसी स्टोरीज वायरल हुईं हैं, जिसे आपको जानना चाहिए।)

ग्रैंड प्रेयरी. अमेरिका के टेक्सास में कुछ वक्त पहले हुई 4 साल की बच्ची की मौत के एक मामले ने सबको हिलाकर रख दिया था। इस केस में पुलिस ने बच्ची की मां और उसके ब्वॉयफ्रेंड के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया था। जांच के दौरान सामने आया था बच्ची के साथ बहुत बुरी तरह से मारपीट की जाती थी, उसकी बॉडी पर चोट के कई निशान मिले थे। इस मामले में कोर्ट ने आरोपी मां को 50 साल कैद की सजा सुनाई है। खास बात ये है कि बच्ची की दादी ने उस पर हो रहे अत्याचार को लेकर शिकायत भी की थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने से बच्ची की जान चली गई।

बच्ची पर हुए थे बहुत जुल्म

- ये स्टोरी टेक्सास स्टेट के ग्रैंड प्रेयरी शहर में रहने वाली 4 साल की बच्ची लिलियाना राइट की है। मार्च 2016 में बच्ची की मौत बुरी तरह की गई पिटाई की वजह से हो गई थी। मौत के बाद उसकी बॉडी पर मारपीट के बहुत ज्यादा निशान मिले थे।
- आरोपी महिला ने कोर्ट में सुनवाई के दौरान बताया था कि वो बच्ची की वजह से काफी परेशान हो गई थी, इसलिए उसे अपने ब्वॉयफ्रेंड फिफर के भरोसे छोड़कर कहीं गई थी।
- इस मामले में पुलिस ने बच्ची की नशेड़ी मां जेरी क्यूजादा और उसके ब्वॉयफ्रेंड चार्ल्स वेन फिफर को आरोपी बनाया था। जांच के दौरान पता चला था कि चार्ल्स ने बच्ची के साथ बेल्ट, बांस और मछली पकड़ने वाली रॉड से बुरी तरह मारपीट करने के बाद उसे एक छोटे से कमरे में फेंककर बंद कर दिया था।
- लिलियाना की बॉडी पर सिर से लेकर पांव तक बैंगनी रंग के निशान थे, इसके अलावा चाबुक से हुई पिटाई की वजह से उसकी पीठ भी छीली हुई थी। फिफर ने बच्ची को गले से पकड़कर उठाते हुए उसे जमीन पर फेंक दिया था, साथ ही उसके हाथ पीछे मोड़कर वायर से बांध दिए थे।

दादी ने की थी सबसे पहले शिकायत

- लिलियाना कभी-कभी उसकी दादी एडलिन कार से से मिलने के लिए उनके घर भी जाती थी। एकबार जब वो उनके घर गई तो दादी ने ही उसकी आंखों और बाकी बॉडी पर मारपीट के निशान देख लिए। इसके बाद उसने इस बारे में ऑथोरिटीज से शिकायत भी की थी। लेकिन कुछ फायदा नहीं हुआ।
- कोर्ट में सुनवाई के दौरान कई ऐसी तस्वीरें दिखाई गईं थीं, जिनके जरिए बताया गया था कि लिलियाना के किस तरह की चोटें लगी हुई थीं। इन फोटोज में उसके चेहरे पर गंभीर चोट, आंख का काला होना और उसके जबड़े की चोट नजर आ रही थी।

बच्ची की बॉडी देख रो पड़ा था स्टाफ

- मामले की जांच करने वाले अधिकारी का कहना था कि लिलियाना की बॉडी पर जिस तरह की चोटें मिली थीं, वैसी कभी उसने किसी बच्चे की बॉडी पर नहीं देखी थीं। वहीं बॉडी देखने के बाद हॉस्पिटल की नर्स और पुलिसवालों के भी आंसू निकल आए थे।
- इस मामले में शिकायत मिलने पर जब पुलिस पहली बार बच्ची के घर पहुंची और उसके चेहरे और बॉडी पर लगे चोट के निशान के बारे में पूछा था, तो उसकी मां ने कहा था कि ये चोट बाथरूम में गिरने की वजह से लगी है।

चली गई कई लोगों की नौकरी

- कई शिकायतें मिलने के बाद सोशल सर्विस डिपार्टमेंट के कुछ लोग लिलियाना के घर जांच करने पहुंचे थे, लेकिन उन्हें वहां कुछ भी गलत नहीं लगा था। जिसके बाद वे बच्ची और उसके छोटे भाई की कस्टडी उसकी मां को ही सौंप आए थे।
- लिलियाना की मौत के बाद इस मामले में लापरवाही बरतने वाले टेक्सास डिपार्टमेंट ऑफ फैमिली एंड प्रोटेक्टिव सर्विसेस के कई लोगों को नौकरी से हटा दिया गया था या फिर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई थी।

4-year-old suffered like no child Grand Prairie cop had seen before, he testifies in murder trial
4-year-old suffered like no child Grand Prairie cop had seen before, he testifies in murder trial
X
4-year-old suffered like no child Grand Prairie cop had seen before, he testifies in murder trial
4-year-old suffered like no child Grand Prairie cop had seen before, he testifies in murder trial
Bhaskar Whatsapp

Recommended