Hindi News »Business» GST Collections In May Drop To Rs 94016 Crore

मई में जीएसटी कलेक्शन 94,016 करोड़ रुपए, अप्रैल में रिकॉर्ड 1.03 लाख करोड़ मिले थे

पिछले महीने 62.47 लाख जीएसटीआर-3बी दाखिल किए गए

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jun 01, 2018, 01:58 PM IST

  • मई में जीएसटी कलेक्शन 94,016 करोड़ रुपए, अप्रैल में रिकॉर्ड 1.03 लाख करोड़ मिले थे
    +1और स्लाइड देखें
    चालू वित्त वर्ष में जीएसटी काउंसिल ने 12 लाख करोड़ जुटाने का लक्ष्य रखा है।- सिंबॉलिक

    नई दिल्ली. मई में सरकार को जीएसटी से 94,016 करोड़ रुपए मिले हैं। इसमें सीजीएसटी से मिले 15,866 करोड़ और एसजीएसटी के 21,691 करोड़ शामिल हैं। अप्रैल की तुलना में जीएसटी कलेक्शन में कमी आई है। अप्रैल में 1.03 लाख करोड़ का रिकॉर्ड जीएसटी कलेक्शन हुआ।

    मई 2018 में जीएसटी कलेक्शन

    सीजीएसटी15,866 करोड़ रुपए
    एसजीएसटी21,691 करोड़ रुपए
    आईजीएसटी49,120 करोड़ रुपए
    सेस7,339 करोड़ रुपए

    -मई में जीएसटी से सरकार की आय घटने पर वित्त मंत्रालय का कहना है कि साल खत्म होने की वजह से पिछले महीने ज्यादा रेवेन्यू मिला था।

    - वित्त वर्ष के आखिरी महीने में लोगों की कोशिश रहती है कि पिछला बकाया भी जमा कर दिया जाए।

    - वित्त सचिव हसमुख अढ़िया ने ट्वीट कर कहा है कि 2017-18 के औसत मासिक कलेक्शन 89,885 करोड़ की तुलना में मई में 94,016 करोड़ रुपए मिले हैं। इससे पता चलता है कि ई-वे बिल के बाद स्थतियों में सुधार हुआ है।

    2018-19 के लिए 12 लाख करोड़ का लक्ष्‍य
    जीएसटी काउंसिल ने वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान जीएसटी से 12 लाख करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा है। सरकार को वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान हर महीने औसत 89,885 करोड़ जीएसटी से मिले।

  • मई में जीएसटी कलेक्शन 94,016 करोड़ रुपए, अप्रैल में रिकॉर्ड 1.03 लाख करोड़ मिले थे
    +1और स्लाइड देखें
    1 जुलाई 2017 को जीएसटी लागू किया गया था।- सिंबॉलिक
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: GST Collections In May Drop To Rs 94016 Crore
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Business

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×