--Advertisement--

छेत्री की गोल करने की भूख कम नहीं हुई, हम खुशकिस्मत कि हमारे पास ऐसा कप्तान: गुरप्रीत सिंह संधू

गुरप्रीत ने कहा कि इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में खेलने से उनके खेल में सुधार हुआ है।

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 08:30 PM IST
गुरप्रीत इंटरकोंटिनेटल कप में सिर्फ एक गोल खाया।-फाइल गुरप्रीत इंटरकोंटिनेटल कप में सिर्फ एक गोल खाया।-फाइल

  • भारत ने इंटरकॉन्टिनेंटल कप के फाइनल में केन्या को हराया था
  • टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड, चीनी ताइपे और केन्या ने हिस्सा लिया था

नई दिल्ली. इंटरकॉन्टिनेंटल कप में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले टीम के गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने कहा है कि अगले साल भारतीय टीम एएफसी एशिया कप में अंडरडॉग्स टीम की तरह जाएगी। भारत को 17वें एशियाई कप में संयुक्त अरब अमीरात, थाईलैंड और बाहरीन के ग्रुप में रखा गया है। संधू ने कप्तान सुनील छेत्री की तारीफ करते हुए कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि छेत्री जैसा कप्तान हमारे पास हैं।

भारतीय गोलकीपर ने कहा- छेत्री बड़े मौकों पर आगे आते हैं
- गुरप्रीत ने कहा, "इंटरकॉन्टिनेंटल कप के बाद हमारा आत्मविश्वास काफी ऊंचा है। हम मुश्किल ग्रुप में हैं। इसलिए हम टूर्नामेंट में अंडरडॉग्स के रूप में जाएंगे।
- कप्तान सुनील छेत्री के बारे गुरप्रीत ने कहा, "सुनील छेत्री भारतीय फुटबॉल के महान खिलाड़ी हैं। उनकी गोल करने की भूख कम नहीं हुई है। "
- उन्होंने कहा, "वह हमेशा बड़े मौकों पर आगे आते हैं। मेसी के रिकार्ड की बराबरी करना बड़ी उपलब्धि है। हम अपने आप को भाग्यशाली मानते हैं कि हमारे पास छेत्री जैसा कप्तान है।"

गुरप्रीत ने कहा- इंडियन सुपर लीग से हुआ खेल में सुधार
- इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में खेलने से उनके खेल में सुधार हुआ है। गुरप्रीत आईएसल में बेंगलुरू एफसी के लिए खेलते हैं। सुनील छेत्री की कप्तानी में बेंगलुरू ने इस सीजन में पहली बार आईएसएल में कदम रखा था और फाइनल तक सफर तय किया था। फाइनल में उसे चेन्नयन एफसी के हाथों हार मिली थी।
- गुरप्रीत ने कहा, "इंडियन सुपर लीग में खेलना मेरे लिए फायदेमंद साबित हुआ। इसका पूरा श्रेय बेंगलुरू एफसी के गोलकीपिंग कोच और मुख्य कोच को जाता है। मुझे कई अच्छी गोलकीपिंग ड्रिल और कई नई तकनीक के बारे में सीखने को मिला जिसके कारण मैं अच्छे बचाव करने में सफल रहा। मेरी लंबाई से मुझे काफी मदद मिलती है।"

इंटरकोंटिनेटल कप में खाया सिर्फ एक गोल
- गुरप्रीत ने इंटरकॉन्टिनेंटल कप में सिर्फ एक गोल खाया था। केन्या के खिलाफ फाइनल में गुरप्रीत ने कई शानदार बचाव किए थे और भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी। इस टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड, चीनी ताइपे और केन्या ने हिस्सा लिया था।

सुनील छेत्री ने टूर्नामेंट के सभी मैच में गोल किए।-फाइल सुनील छेत्री ने टूर्नामेंट के सभी मैच में गोल किए।-फाइल
X
गुरप्रीत इंटरकोंटिनेटल कप में सिर्फ एक गोल खाया।-फाइलगुरप्रीत इंटरकोंटिनेटल कप में सिर्फ एक गोल खाया।-फाइल
सुनील छेत्री ने टूर्नामेंट के सभी मैच में गोल किए।-फाइलसुनील छेत्री ने टूर्नामेंट के सभी मैच में गोल किए।-फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..