सेक्टर-19 का हाल गांव से भी बदतर, लाइटें खराब, सफाई होती नहीं, पार्कों में उगीं झाड़ियां, क्या ऐसे लेंगे इस बार वोट

Panchkula Bhaskar News - पॉलीटिक्स को लेकर पंचकूला का सबसे विवादित सेक्टर 19, जिसकी कनेक्टिविटी आरओबी के कारण बंद हो गई है। पीने के पानी से...

Bhaskar News Network

Sep 16, 2019, 07:30 AM IST
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
पॉलीटिक्स को लेकर पंचकूला का सबसे विवादित सेक्टर 19, जिसकी कनेक्टिविटी आरओबी के कारण बंद हो गई है। पीने के पानी से लेकर पार्कों, सड़क और बेसिक सुविधाएं भी न के बराबर है। इस सेक्टर के लोगों का तो कहना है कि अब तो इस सेक्टर की हालत गांव से भी बदतर होते जा रही है। रविवार को पंचकूला भास्कर की टीम ने सेक्टर 19 में विजिट किया, जहां लोगों से यहां होने वाले डेवलपमेंट वर्क को लेकर दिक्कतों के बारे में बारीकी से जाना। इस दौरान फोरा फेडरेशन ऑफ रेजीडेंट्स एसोसिएशन के भी मैंबर मौजूद रहे। सेक्टर 19 के लोगों ने बताया यहां आरओबर बनाने से लेकर अब तक लोगों के सामने परेशानी ही परेशानी साम ने आ रही है। यहां पर रहने वाले लोगों को ही पता है कि अब रास्ता बंद होने के कारण वह किस तरह परेशान हो रहे हैँ। पार्कों की हालत खराब पड़ी है, बिजली सप्लाई में दिक्कतें आ रही है। पंजाब बॉर्डर एरिया के साथ लगने वाले सेक्टर 19 में सुरक्षा के बंदोबस्त तक नहीं है। बिना बताए बिजली कट लगते है, कंप्लेंट करने पर भी नहीं आते बिजली वालेे, पार्कों में लंबी-लंबी घास खडी, बच्चे खड़े भी नहीं हो सकते।


रेलवे फाटक पर बन रहे आरओबी के चलते सफाई व्यवस्था चरमरा गई

 प्रशासन ने जब सेक्टर बसाया था तो सीवरेज सिस्टम का भी प्रबंध किया था। अब यहां पर सफाई का तो कोई काम रहा ही नहीं। यहां पर ना तो सफाई होती है और ना ही इसका कोई जिम्मेवार मानता है। हम तो यहां पर परेशान हो गए है, ना तो सफाई हाेती और ना ही कोई भरे हुए सीवरेज साफ करने आता। अब तो ऐसा हो गया है कि सरकारी सीवरेज को साफ करवाने के लिए सरकारी कर्मचारी को भी 700 से 1200 रुपए रिश्वत देकर काम करवाना पड़ रहा है। मैने अभी कुछ दिन पहले ही अपने घर के पास सीवरेज को साफ करवाया था, उसके लिए भी 700 रुपए दिए थे। इसके बाद भी सरकार ये बोल देती है कि करप्शन खत्म हो गई है। -मिनाक्षी

 सेक्टर 19 में पार्कों की हालत इतनी खराब है कि इन्हें देखकर हम अंदाजा नहीं, कनफर्म करते है कि इनसे बदतर पार्क पूरे पंचकूला में कहीं ओर नहीं होंगे। सेक्टर 19 के पार्कों में हालत देखें तो यहां पर कई महिनों से घास ही नही काटी गई। काफी बडी घास हो गई है आैर यहां बच्चों को खेलने के लिए भी नहीं भेजा जाता। कई बार तो छोटे सांप भी यहां बच्चों ने देखे थे, उसके बाद बुजुर्ग लोग भी यहां बैठना छोड़ गए है। यहां डस्टबीन भी रखे हुए थे जो कई दिनों से खाली ही नहीं हो पाए है। उनमें पूरी तरह से कूडा भरा हुआ है और अब पार्क में भी कूडा फैलना शुरू हो गया है। यहां भी लाइटें नहीं जलती और झूले टूटे पड़े है। -पुष्पा

सेक्टर 19 की सब्जी मंडी में रंगीन लाइट में खराब फल फ्रूट और सब्जियां ताजा दिखाकर लोगों के साथ ठगी की जा रही है। पिछले काफी समय से कई लोगों ने आपत्ति जताई कि फलों पर रंगीन लाइट पड़ती है, तो फल ताजा दिखते हैं। हमें तो ये नहीं पता कि क्या अफसरों की ड्यूटी सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक ही है। जब उनकी जिम्मेवार सब्जी मंडियों में चेकिंग करने की है तो वो अपना काम क्यों नहीं कर रहे। हम जब भी सब्जी मंडी से सब्जियां लेते है तो उनमें कई बार ज्यादातर ऐसी सब्जियां होती है जो मंडी में बिल्कुल हरी भरी दिखाई देती है और घर पर आकर वो खराब मिलती है। ऐसे ही फ्रूट्स में है, जिस रंग का फ्रूट होगा, उसी तरह का बल्ब लगाया जाता है। ऐसे में कई बार घर पर कच्चे फ्रूट भी आ जाते है। -एसएस लोहाट

 सेक्टर 19 इंडस्ट्रियल एरिया के अलावा पंजाब एरिया के साथ सटा हुअा है। यहां क्राइम रेट काफी ज्यादा है। कई बार व्हीकल चोरी हो चुके है और कई बार महिलाओं के साथ स्नैचिंग के मामले सामने आ चुके है। उसके बाद भी यहां पर पुलिस की व्यवस्था पर सवाल तो खड़े ही है, बल्कि नगर निगम की प्लानिंग पर भी सवाल खड़ा होता है। जब निगम ने पूरे शहर में सीसीटीवी लगवा दिए तो सेक्टर 19 कोई पंजाब का एरिया थोड़ा ना है। जब विधायक यहां उद्घाटन करने आ सकते है तो अफसर सेक्टर 19 को प्लानिंग में भी तोडाल सकते है। पूरे शहर को सीसीटीवी कैमरों से भर दिया, लेकिन इस सेक्टर में ना तो सिक्योरिटी गेट लगाए गए और ना ही कोई कैमरा इंस्टॉल करवाया गया। -करमजीत सिंह

 सेक्टर 19 में पहले भी बिजली के कट लगते थे और अब जब भाजपा सरकार 24 घंटे बिजली सप्लाई के दावे कर रही है तब भी लोगों के घरों में अंधेरा ही रहता है। आज के वक्त में भी बिना बताए बिजली के कई घंटों तक कठ लगाए जा रहे है। इसके बाद जब फोन करने इन्हें बताओ की सेक्टर में लाइट नहीं आ रही तो कोई रिस्पॉंस भी नहीं दिया जाता। हमने कई बार इस मांग को उठाया है कि बिजली बंद करने से पहले सूचना दी जाए, इसके बाद भी ना तो बताया जाता है और ना ही बिजली बंद करने के बाद जल्द फॉल्ट ठीक नहीं किया जाता। -बृज किशोर पांड

 एक तरफ तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने हर छोटे और बड़े भाषण में स्वच्छता की छाप छोड़ते हैं। स्वच्छ भारत अभियान को तेजी से बढ़ाने की बातें करते हैं। दूसरी ओर शहर में अगर कोई अधिकारी निकल कर देखे तो उसे पता चले प्रधानमंत्री का अभियान किस तरह चलाया जा रहा है। सेक्टर 19 में अगर इसकी वास्तविकता देखी जाए तो ग्राउंड लेवल पर बैठे अधिकारी इसी अभियान को मिट्टी करते नजर रहे हैं। यहां सब्जी मंडी लगने वाली जगह और रेलवे ट्रैक के पारस दो-तीन डस्टबीन रखे हुए है, उन्हें कोई भी साफ नहीं कर रहा। शहर को स्वच्छ बनाने के लिए कोई भी काम नहीं दिखते। काफी एरिया ऐसा है जहां पर कूड़े का ढेर लगा मिलता है। कहीं डस्टबिन की कमी है तो कहीं डस्टबिन है ही नहीं। -कमलेश लोहाट

सेक्टर-19 के रेलवे फाटक पर व्यकलपिक रास्ता

 सेक्टर 19 में इतने स्ट्रे कैटल है कि मैं खुद उनकी वजह से आज चोटिल हुई पड़ी हूं। 10 दिन पहले ही मैं सब्जी मंडी के पास सामान लेने गई थी, लेकिन यहां पर इतने आवारा पशु है कि उस वक्त मेरे ऊपर इन्होंने अटैक कर दिया और मेरी बाजू में फ्रेक्चर भी आ गया है। अब 10 दिनों से मैं घायल हूं और अब अपना प्राइवेट में ही इलाज करवा रही हूं। मुझे तो ये नहीं पता कि कई बार आवारा पशुओं को पकडऩे के लिए कंप्लेंट दी गई, लेकिन उस पर कोई एक्शन ही नहीं लिया जा रहा। आज ऐसा टाइम आ गया कि हमारी समस्याओं का कोई हल ही नहीं निकाला जाता। -जानकी

 एक तो पहले ही यहां घर पंजाब के बॉर्डर से लगते है और उसके बाद यहां ना तो पुलिस सुरक्षा है और ना ही रात को लाइटें जलती है। सेक्टर में कई गलियों में रात को अंधेरा रहता है, जिसकी कंप्लेंट भी की हुई है। अब खुद देखा जाए तो कहने के नाम की ही है डेवलपमेंट, अगर काम की बात करें तो बेसिक सुविधाएं भी यहां लोगों को प्रॉपर नहीं मिल रही। स्कूल में बच्चों कसे छोडने के लिए प्रॉपर रास्ता नहीं है। पीने का पानी जो सप्लाई होता है उससे कई बार डायरिया फैल चुका है, बरसात में घरों के अंदर पानी घुस जाता है। पब्लिक सिक्योरिटी के लिए कोई बंदोबस्त नहीं है। इसके बाद भी नेतागिरी करने वाले यहां पर डेवलपमेंट होने की बात बोल देते है। -सी.पी कख्शी

 पिछले पांच साल से सेक्टर 19 में लोगों के घरों में बारिश का पानी घुस जाता है। यहां बरसाती पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं है। इस समस्या के बारे में लोगों ने पांच दर्जन से ज्यादा बार हुडा ऑफिस में शिकायतें की गई। लेकिन आज तक इस समस्या का समाधान नहीं हुआ। इसका नतीजा हर बारिश में लोगों को झेलना पड़ता है। यहां घरों में पानी घुस जाता है। यहां गलियों में कई-कई फुट बारिश का पानी भर जाता है। अस साल भी जब बरसात हुई तो यहां कई मकानों में पानी भर गया था। यहां हालात को देखकर लगता है, मानो पिछले कई सालों से रोड गलियां की कोई मेंटेनस ही नहीं हुई हो। गलियों में गड्ढे पड़े हुए हैं। -प्रेम सिंह

Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
X
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
Panchkula News - hall of sector 19 is worse than the village the lights are not bad the cleaning is not done the bushes grow in the parks will they vote this time
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना