• Home
  • Jeevan Mantra
  • Jyotish
  • Rashi Aur Nidaan
  • hanumanji worship tips in hindi, आप भी करते हैं हनुमानजी की पूजा तो ध्यान रखें 12 बातें, दुर्भाग्य हो सकता है दूर
--Advertisement--

आप भी करते हैं हनुमानजी की पूजा तो ध्यान रखें 12 बातें, दुर्भाग्य हो सकता है दूर

हनुमानजी की पूजा करने से कुंडली के सभी दोष भी दूर हो सकते हैं।

Danik Bhaskar | May 07, 2018, 12:03 PM IST

रिलिजन डेस्क। हनुमानजी श्रीराम के परम भक्त हैं। मान्यता है कि हनुमानजी श्रद्धालुओं के दुखों को बहुत जल्दी दूर करते हैं और भक्त को सुखी और समृद्धिशाली बनाते हैं। इसी कारण इनके भक्तों की संख्या काफी अधिक है। मंगलवार और शनिवार को हनुमानजी के मंदिरों में भक्तों की भीड़ लगी रहती है। उज्जैन के इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी और ज्योतिर्विद पं. सुनील नागर के अनुसार शास्त्रों में कुछ नियम बताए गए हैं, जिनका पालन हनुमानजी का पूजन और दर्शन करते समय करना चाहिए। जानिए ये नियम कौन-कौन से हैं...

1. हनुमानजी की तीन परिक्रमा करने का विधान है। भक्तों को इनकी तीन परिक्रमा ही करनी चाहिए।

2. दोपहर में बजरंग बली को गुड़, घी, गेहूं के आटे से बनी रोटी का चूरमा अर्पित किया जा सकता है।

3. हनुमानजी को शाम के समय फल जैसे आम, केले, अमरूद, सेवफल आदि का भोग लगाना चाहिए।

4. सुंदरकांड करते समय हनुमानजी को सिंदूर, चमेली का तेल और अन्य पूजन सामग्री भी अर्पित करना चाहिए।

5. सुबह के समय हनुमानजी प्रसाद के रूप में गुड़, नारियल, लड्डू चढ़ाया जाना चाहिए।

6. बजरंग बली के श्रृंगार में या चोला चढ़ाते समय तिल के तेल या चमेली के तेल में मिला हुआ सिंदूर लगाना चाहिए।

7. श्रीराम के अनन्य भक्त बजरंग बली की कृपा प्राप्ति के लिए विशेष रूप से ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

8. भगवान को भोग लगाने के बाद भक्त को प्रसाद अन्य भक्तों में वितरित करके स्वयं भी ग्रहण करना चाहिए।

9. सप्ताह में दो दिन मंगलवार और शनिवार को हनुमानजी के निमित्त विशेष पूजन-अर्चन करना चाहिए। इन दिनों में बजरंगबली की विशेष कृपा प्राप्त होती है।

10. बजरंग बली को लाल या पीले रंग के फूल विशेष रूप से अर्पित किए जाने चाहिए। इन फूलों में कमल, गेंदा, गुलाब आदि विशेष महत्व रखते हैं।

11. हनुमानजी की पूजा या मंदिर में शुद्धता एवं पवित्रता का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

12. ध्यान रखें में हनुमानजी को केसर के साथ घिसा लाल चंदन का तिलक लगाना चाहिए।

Related Stories