• Hindi News
  • Haryana
  • Jind
  • Jind News haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them

फर्ज निभाएं : बेटी बोली- मेरी मां आप लोगों की सहायता के लिए मेरे से दूर है, आप भी घर रहकर उनकी सहायता करें

Jind News - कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ी रही जा रही इस जंग में कई लोग ऐसे भी हैं, जिनको अपनों से दूर रहना पड़ रहा है। वे चाहकर...

Mar 27, 2020, 07:47 AM IST
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them

कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ी रही जा रही इस जंग में कई लोग ऐसे भी हैं, जिनको अपनों से दूर रहना पड़ रहा है। वे चाहकर भी घर नहीं जा पा रहे या फिर बच्चों को अपने से दूर भेजना पड़ा है। इनमें से एक सिविल अस्पताल की महिला डॉक्टर शिवानी सेतिया हैं। कोरोना महामारी से बचाव को लेकर जब उनकी सिविल अस्पताल में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में ड्यूटी लगी तो उनको अपनी 10 साल की बेटी आर्या सेतिया को उसकी ननिहाल पंजाब के संगरूर में भेजना पड़ा। यह सब महिला डॉक्टर ने उनको संभाल न पाने के लिए किया, क्योंकि उन्हें कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में किसी भी समय ड्यूटी पर बुलाया जा सकता है। बेटी से दूर होने का भले ही महिला डॉक्टर को इतना दर्द न हो, लेकिन बेटी आर्या सेतिया को इसका पूरा दर्द है और उसने सोशल मीडिया पर पोस्टर के साथ एक पोस्ट वायरल कर कहा कि यह सब उसकी मां ने आप लोगों की सहायता के लिए किया है। बेटी ने अपील की है कि उनकी मां की सहायता आप घर में रहकर कर सकते हैं।

बेटी को समय नहीं दे पाऊंगी तो भेजा नानी के घर

हाउसिंग बोर्ड काॅलोनी में रहने वाली महिला डॉ. शिवानी सेतिया ने बताया कि मेरे पति हैदराबाद में आईटी सेक्टर में जॉब करते हैं। वे घर पर नहीं रह पा रहे। उनके घर में उनकी सास हैं। 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगने के दौरान उनकी सिविल अस्पताल में कोरोना से बचाव के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में ड्यूटी लगी है। किसी भी समय उन्हें ड्यूटी पर जाना पड़ सकता है। इसके कारण बेटी को संभाल पाना मुश्किल हो जाता। उन्होंने इस पर बेटी को उसकी नानी के घर पंजाब भेजने का फैसला लिया। 22 मार्च से बेटी वहीं पर है। वह इस तरह की क्रिएटिविटी से जहां अपना टाइम पास कर रही है वहीं वह उसका और अन्य लोगों का हौसला बढ़ा रही है।

सिविल सर्जन कई दिनों से नहीं जा पाए घर


सिविल सर्जन डाॅ. जयभगवान जाटान भी इन दिनों 24 घंटे लोगों की सेवा में दे रहे हैं। वे पिछले कई दिनों से चाहकर भी घर नहीं जा पाए हैं। क्योंकि समय-समय पर अधिकारियों के साथ होने वाली बैठक, कोरोना से बचाव को लेकर उठाए जाने वाले कदम, डॉक्टरों व कर्मचारियों को दिशा-निर्देश देने में व्यस्त रहते हैं। सिविल सर्जन डाॅ. जयभगवान जाटान का कहना है कि घर जाने का मजा तभी होता है जब किसी प्रकार की कोई टेंशन न हो। लेकिन इन दिनों वे व्यस्त इतने हैं कि घर भी जाना है उन्हें याद ही नहीं। दिन भर और रात को कोरोना को लेकर न केवल डॉक्टरों से संपर्क करते हैं।

इधर, स्वास्थ्य विभाग से नहीं मिली मदद तो पोकरी खेड़ी के दिव्यांग नरेश टेलर ने खुद बना डाले मास्क

विनोद जोशी | जींद

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से जहां देशभर में दहशत का माहौल बना हुआ और लोग घरों में कैद होने को मजबूर हो रहे हैं। शहर में मास्क व सेनिटाइजर की काफी कमी है। इसी बीच पोकरी खेड़ी गांव के निवासी दिव्यांग नरेश कुमार ने गांव में मास्क व सेनिटाइजर के लिए जब सिविल सर्जन को फोन कर मदद मांगी तो कोई मदद नहीं मिली। जिसके बाद नरेश ने खुद ही अपनी टेलर की दुकान पर सूती कपड़े से मास्क बनाने शुरू कर दिए और गांव के लोगों को वितरित कर रहा है। दिव्यांग युवा का ऐसा हौसला देख हर कोई हैरान है।

टेलर के अनुसार महामारी फैलने से रोकने के लिए ही देशहित में काम रहे हैं और देशभर में लॉकडाउन चल रहा है। जिससे लोगों को घरों में रहने की अपील की गई है और मास्क व सेनिटाइजर की काफी कमी आई है। जिस कारण हजारों की संख्या में लोगों को मास्क नहीं मिल पा रहे हैं। इसी को देखते हुए खुद ही मास्क बना रहे हैं और अभी तक 50 मास्क बनाकर बांट चुके हैं और 1 हजार मास्क बनाकर लोगों तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है। जल्द ही अधिक मास्क को तैयार कर लोगों फ्री में वितरित किया जाएगा।

जींद. सोशल मीडिया पर वायरल किए पोस्टर के साथ आर्या सेतिया।

बचपन से पांव से दिव्यांग है नरेश

नरेश टेलर की दुकान कर अपने परिवार का पालन पोषण कर रहा है और बचपन से ही एक पैर से ठीक से नहीं चला जा सकता। दिव्यांग होने के कारण कोई अन्य कार्य नहीं होने पर टेलर का काम सीखा और अब सभी के लिए एक मिसाल बन चुका है।


गांव में मास्क के लिए सिविल सर्जन को फोन पर बात की गई थी, लेकिन कोई संतोष पूर्वक जवाब नहीं मिला। इसके बाद घर पर रखे सूती कपड़े से ही दुकान में मास्क बनाने शुरू कर दिए। अभी तक कोई सरकारी मदद भी नहीं मिल रही है और फिलहाल 20 मीटर ही सूती कपड़ा बचा है और मास्क बनाने के लिए 50 मीटर सूती कपड़े की जरूरत है।


अभी तक नहीं मिली कोई सरकारी मदद

जींद. पोकरी खेड़ी में मास्क बनाकर देते टेलर नरेश।

Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them
X
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them
Jind News - haryana news do the duty daughter quote my mother is away from me to help you stay home and help them

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना