• Hindi News
  • Haryana
  • Sonipat
  • Ganaur News haryana news factory owner accused of giving out advance money to workers said if you get vehicle go to your home

फैक्ट्री मालिक पर श्रमिकों को एडवांस रुपए देकर निकालने का आरोप, कहा- व्हीकल मिले तो अपने घर चले जाअाे

Sonipat News - फैक्ट्री में काम करने वाले श्रमिकों के सामने संकट खड़ा हो गया। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन लगा हुआ है।...

Mar 27, 2020, 07:35 AM IST
Ganaur News - haryana news factory owner accused of giving out advance money to workers said if you get vehicle go to your home

फैक्ट्री में काम करने वाले श्रमिकों के सामने संकट खड़ा हो गया। कोरोना वायरस के चलते देशभर में लॉकडाउन लगा हुआ है। सरकार घरों में रहने का आह्वान कर रही हैं। बस व ट्रेनों के पहिए थम गए है। ऐसे में बड़ी इंडस्ट्री एरिया में एक ट्यूब बनाने वाली फैक्ट्री के श्रमिकों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है।

आरोप है कि फैक्ट्री मालिक ने उन्हें एडवान्स देने के साथ कह दिया, कि वे अब फैक्ट्री को छोड़कर कही भी रहे। ऐसे में श्रमिक कंधों पर बैग रखकर अपने घरों की तरफ निकल पड़े है। श्रमिकों का कहना है उनका घर करीब 300 किलोमीटर से ज्यादा दूर है। वाहन नहीं मिलता है तो पैदल ही घर जाएंगे। श्रमिक दीपक, मोहित, कुलदीप, सत्यप्रकाश, गोविंद यादव, सुमित, पप्पू, आकाश, सूरज आदि ने बताया कि एचएसआईआईडीसी बड़ी में फैक्ट्री नम्बर 106 में काम करने के साथ ही यहां बने कमरे में रहते है। गत दिनों से फैक्ट्री में काम बंद हो रहा है। उन्होंने राशन लेकर आने को लेकर मालिक से रुपए मांगे थे। आरोप है कि मालिक ने उन्हें हजार-दो हजार रुपए तो दे दिए, साथ ही कह दिया कि वे अब फैक्ट्री में नहीं रहेंगे। चाहे अपने घर चले जाओ। उन्हें किसी तरह का वाहन तक नहीं दिया गया। जिसमें बैठकर वे अपने घर तक चले जाएं। ऐसे में उनके पास रहने के लिए ठिकाना नहीं है। वे पैदल ही अपने घर जा रहे है। बताया कि फैक्ट्री से निकाले गए श्रमिक इलाहाबाद के रहने वाले है।

मजदूरों के साथ हो रहा गलत : प्रधान


लेबर यूनियन के प्रधान सुमित अत्री का कहना है कि फैक्ट्री के अंदर बने कमरों में रह रहे श्रमिकों के साथ गलत हो रहा है। लॉकडाउन होने पर वाहन सेवाएं बंद हो रही है। लेकिन फैक्ट्री मालिक ने 10 श्रमिकों को फैक्ट्री से बाहर निकाल दिया था। मजदूर पैदल जा रहे थे। किसी तरह उन्हें फैक्ट्री में भेजा गया है। अगर श्रमिकों को उनके घर भेजना है तो मालिक को वाहन का प्रबंध करना चाहिए। उन्होंने बताया कि मौके पर बड़ी थाना प्रभारी भी पंहुचे थे।

प्रशासन के आदेशों की पालना की

फैक्ट्री मालिक श्रवण ने बताया कि लॉकडाउन के चलते फैक्ट्री बंद है। फैक्ट्री में बने कमरों में श्रमिक रहते है उनको एडवांस रुपए दिए गए है। बताया कि श्रमिकों को फैक्ट्री से नहीं निकला गया। उन्हें कहा कि फैक्ट्री में ज्यादा आदमी नहीं रह सकते ऐसे में पास के गांव में किराए का कमरा लेकर रह लें। ऐसा कर प्रशासन के आदेशों की पालना की है। डीसी ऑफिस से भी फोन आया था।


बड़ी इंडस्ट्री एरिया फैक्ट्री के क्वार्टरों में रहते थे श्रमिक

गन्नौर. बड़ी इंड्रस्टी स्थित एक फैक्ट्री से निकाले गए श्रमिक।

X
Ganaur News - haryana news factory owner accused of giving out advance money to workers said if you get vehicle go to your home

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना