गांवों में पहरा और शहर में लापरवाही

Sirsa News - आमजन कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर 01666-247345 पर कोरोना वायरस के संबंध में भ्रामक प्रचार या अफवाह की सत्यता जान सकता...

Mar 27, 2020, 08:31 AM IST
आमजन कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर 01666-247345 पर कोरोना वायरस के संबंध में भ्रामक प्रचार या अफवाह की सत्यता जान सकता है

पीएम नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम मंगलवार रात को दिए गए संदेश को कोई रोड पर न निकले संदेश के साथ-साथ 21 दिनों लक्ष्मण रेखा को न लांघते हुए घरों में रहने का आह्वान किया। जिला में लॉक डाउन के चलते प्रशासन व पुलिस प्रशासन की ओर से मुनादी करवाकर घरों में ही रहने के बारे में बार-बार जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए क्षेत्र के लगभग 80 गांवों के युवाओं, पंचायतों ने अपने-अपने गांवों में आने वाले रास्तों पर वृक्षों की टहनियां, टायर, बेरिकड्स, रस्सियां लगाकर पहरा देना शुरू कर दिया है। गांवों में भी लॉक डाउन ग्रामीण पूरा पालन कर रहे हैं। न ही कोई गांव में दुकान खुली है और न ही एक जगह पर लोग एकत्रित नजर आते हैं। सब घरों में दुबके हुए हैं। गांव से कोई भी व्यक्ति बाहर नहीं जा रहा है तो गांव में बाहरी व्यक्ति के आने पर उससे पूरी जानकारी लेने के बाद ही गांव में जाने दिए जा रहा है। गांव में आने वालों के साबुन से हैंडवॉश करवाए जा रहे हैं। तो ग्राम पंचायतें, क्लब भी पूरे गांव में संक्रमण के रोकथाम के लिए पूरे गांव व गली-गली सेनेटाइजर व ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव करने में जुटे हुए हैं।

युवा लगा रहे पहरा

युवाओं ने गांव में आने वाले हर रास्ते पर पहरा देते हुए गांवों को लॉकडाउन किया हुआ है। किराड़कोट, अलीकां, रोड़ी, कागदाना, कुम्हारिया, खेड़ी, हंजीरा, नाथूसरी चौपटा, दड़बा कलां, गुडिया खेड़ा, शक्कर मंदोरी, शाहपुरिया, गुसाईयाना, जमाल, लुदेसर, रूपाणा, रूपावास, चाहरवाला, रामपुरा, जोगीवाला, गिगोरानी सहित 80 से अधिक गांवों में 14 अप्रैल तक अपने-अपने गांवों में फुल लॉकडाउन रखने के लिए बाकायदा युवाओं की टीमें बना पहरा दे रहीं हैं। इसके अलावा युवा गांव से बाहर खेतों में पशुओं से चारा लाने के लिए ग्रामीणों से भी पूरी पूछताछ बाद ही जाने दे रहे हैं।

सामूहिक जिम्मेदारी है, सभी को मिलकर करना होगा काम

सिरसा| डीसी रमेश चंद्र बिढ़ान ने कहा कि कोरोना वायरस के संबंध में किसी भी तरह की गलत जानकारी, भ्रामक प्रचार या अफवाह फैलाना अपराध की श्रेणी में आता है। उन्होंने हिदायत दी कि कोई भी नागरिक अगर गलत सूचना या अफवाह फैलाता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि नागरिक हित में अफवाहों की सत्यता जानने तथा कोरोना वायरस के संबंध में जानकारी पाने के लिए सिरसा एसडीएम कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। आमजन कंट्रोल रूम के दूरभाष नंबर 01666-247345 पर कोरोना वायरस के संबंध में भ्रामक प्रचार या अफवाह की सत्यता जान सकता है। उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना वायरस के बचाव व इसे फैलने से रोकने के लिए सभी की सामूहिक जिम्मेवारी है। इसलिए सभी नागरिक प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के बचाव व निवारण हेतू किए गए प्रबंधों व तैयारियों में अपना सहयोग करें। कोरोना वायरस से आम नागरिक घबराएं नहीं बल्कि सरकार द्वारा जारी की गई एडवाइजरी पालना करें और स्वच्छता को लेकर सावधानियां बरतें।

100 से ज्यादा गावों को सेनिटाइज किया, घर से बाहर न निकलने और कहीं भी समूह न बनाने की दी हिदायत

देश कोरोना वायरस जैसी आपदा से जूझ रहा है। ऐसे में अपनी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वाहन करते हुए ग्राम पंचायतें व युवा क्लबों ने गांवों को सैनिटाइज करने का बीड़ा उठाया हुआ है। सभी अपने-अपने गांवों में ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव कर रहे हैं।

वहीं गांव भावदीन में कांग्रेस नेता सुरजीत सिंह भावदीन व गांव के युवाओं ने सैनिटाइज व ब्लीचिंग पाउडर का छिड़काव किया गया। सुरजीत व युवाओं ने घर-घर जाकर कोरोना से सावधानी रखने व मुंह पर मास्क लगाने के बारे में विशेष रूप से बताया। उन्होंने बताया कि कोरोना को हराना है। इसके अलावा गांव धिंगतानियां, किराड़कोट, नटार, अलीकां, नागोकी, देसूमलकाना, शहीदांवाली, रोड़ी सहित करीब 100 गांवों की पंचायतों भी अपने-अपने तरीके से अपने गांव को सैनिटाइज करने का काम स्वयं शुरु कर दिया है।

कोरोना जैसी महामारी को रोकने के लिए व लॉक डाउन के चलते लोगों को मकान से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है। उन्होंने बताया कि गांव की सीमाओं को सील कर दिया गया है।

सुरजीत भावदीन ने कहा कि युवाओं ने गांव में गली-गली और घर-घर के मुख्य द्वार के आगे पोस्टर लगाकर कोरोना से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करके सचेत रहने और अपने-अपने घरों में रहने के लिए अपील की गई है। इस मौके पर गुरविंद्र सिंह, मनप्रीत सिंह, गोपी कंग, बूटा सिंह, जीणा सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

कोरोना से डर लगता है तो फोन पर मनोवैज्ञानिकों से ले सकते हैं परामर्श

सिरसा| कोरोना वायरस और इससे उत्पन्न रोग को लेकर डरे लोगों के मन से इसका भय निकालने के लिए मनोवैज्ञानिक डॉ. रविंद्र पुरी (9416091610) व मनोवैज्ञानिक डॉ. दलजीत सिंह (9416289087) आमजन को फोन पर नि:शुल्क परामर्श देंगे। आमजन प्रात: 11 बजे से दोपहर 3 बजे तक मोबाइल नम्बर पर अपनी परेशानी के बारे में बात कर सकतेे हैं। अपना व परिवार मनोज्ञानिक डॉ. दलजीत सिंह डाॅ. दलजीत सिंह ने आमजन से आह्वान किया है कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है बल्कि कुछ सावधानियां बरतने और अपने परिवार का ध्यान रखने की आवश्यकता है। पहले भी इस प्रकार की त्रासदियों आईं हैं लेकिन मानव ने अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति से उन पर काबू पाया है। उन्होंने बताया कि किसी बीमारी विशेष के संबंध में आसपास व मीडिया में चल रहे समाचारों को देखकर कई लोगों के मन में डर बैठ जाता है जिससे उबारने के लिए उन्हें मनोवैज्ञानिक के माध्यम से परामर्श की आवश्यकता होती है।

सरकारी भवनों, रिहायशी क्षेत्रों और बाजारों में किया जा रहा छिड़काव

मनोवैज्ञानिक डाॅ. रविंद्र पुरी ने कहा कि कोरोना वायरस से घबराने या डरने की आवश्यकता नहीं है। केवल सचेत रहने की जरूरत है। उन्होंने शहर वासियों को सचेत करते हुए कहा कि घर का वातावरण सारा दिन टीवी या सोशल मीडिया पर कोरोना से संबंधित बाते कर कर के माहौल को भयानक मत बनाएं। विशेष रूप से छोटे बच्चों को साफ सफाई का हवाला दे कर हाथ साफ करना सिखाएं न कि उनको कोरोना के भयानक रूप से भयभीत करके हाथ धोना सिखाएं। क्योंकि यह समय तो निकल जायेगा कहीं बच्चा गलत डर को गले न लगा ले। उन्होंने कहा कि दिन में दो तीन बार से ज्यादा कोरोना संबंधी खबरें मत देखें। सोशल मीडिया पर हर बात सच नही होती, इस लिए इन्हें परिवार के साथ शेयर मत करें। सचेत रहें, जागरूक रहें किंतु भयभीत और डरें नहीं।

बच्चों के भय से नहीं बल्कि प्यार से हाथ धुलवाएं : डाॅ. पुरी

ओढां की गलियों में सेनिटाइजर का छिड़काव करते ग्रामीण।

ओढां| वैश्विक महामारी से बचाव के लिए गांव ओढ़ा में सैनिटाइज का छिड़काव किया गया। सरपंच प्रतिनिधि सीताराम ने बताया की बीडीपीओ ओढ़ा के निर्देशानुसार कोरोना वायरस से बचाव हेतू सेनिटाइजर बनाकर पूरे गांव में छिड़काव किया गया। उन्होंने बताया कि पूरा देश कोरोना वायरस जैसी भयंकर महामारी से जूझ रहा है। ऐसे में ग्राम पंचायत ने अपनी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए पूरे गांव की सारी गलियों में व फिरनी पर सैनिटाइजर का छिड़काव किया। उन्होंने बताया कि सेनिटाइज बनाने में फिनाइल, डेटॉल व कैल्शियम हाइपोक्लोराइट आदि का घोल बनाकर तीन बड़े स्प्रे पंपों द्वारा छिड़काव किया गया। उन्होंने बताया कि इसके अलावा ग्राम सरपंच व पंचों ने अपने अपने वार्डों में कोरोना वायरस से बचाव हेतु जागृत किया। इसके अलावा पंचायत ने सभी दुकानदारों को अपनी दुकानें खोलने व बंद करने के समय की पालना करने का संदेश दिया और गांव वासियों को मास्क व दस्ताने प्रयोग करने की अपील की।

{कोरोना को हराने के लिए दूरी जरूरी : ग्रामीण महेंद्र, जोगेंद्र, प्रीतम, जगतार, सुखमंद्र ने कहा कि कोरोना को हराने के लिए आपस में दूरी जरूरी है। कुछ बातों का बचाव भी हमें करना है। यह लोगों को देखना है कि उन्हें घर रहना पसंद है या अस्पताल में।

पंचों ने संभाली जिम्मेदारी, अपने वार्डों में चलाई मुहिम

सिरसा के किराड़कोट में गांव को लगने वाली सड़कों पर वृक्षों की टहनियां रखकर पहरा देते युवा।

शहर में मिली सजा

सिरसा। लॉक डाउन के दौरान बाहर घूमने वालों को सजा देतीं महिला पुलिस कर्मचारी।

{ शहर में: घूमने निकले लोगों नेे पूछने पर एेसी वजह बताईं जिससे लापरवाही झलकी

{ गांव में: पहरा दे रहे युवा बोले, 2021 देखना चाहते हंै तो 21 दिन तक घर में ही बने रहें

जिले में कोरोना वायरस से बचाव करने व फैलाव को रोकने के लिए प्रशासन द्वारा गंभीरता से कार्य किए जा रहे हैं। आमजन को जागरूकता के साथ-साथ स्वच्छता के बारे में भी बताया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान लोगों को घरों में रहने और सरकार द्वारा जारी हिदायतों की पालना करने बारे आह्वान किया जा रहा है। नगर परिषद द्वारा दमकल वाहनों के माध्यम से सरकारी भवनों, बाजारों व रिहायशी क्षेत्रों में ब्लीचिंग पाउडर घोल से छिड़काव किया जा रहा है। सचिव नगर परिषद गुरशरण सिंह ने बताया कि परिषद द्वारा 4 दमकल विभाग की गाडिय़ों व 10 ट्रैक्टरों के माध्यम से शहर में ब्लीचिंग पाउडर के घोल का छिड़काव किया जा रहा है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना