• Hindi News
  • Haryana
  • Yamunanagar
  • Jagadhari News haryana news khattu flour was supplied from mehta sons the shop opened on the phone of tehsildar doctor and police repeatedly there was no flour

मेहता संस से सप्लाई हुआ था कुट्टू का आटा, तहसीलदार, डॉक्टर व पुलिस के बार-बार फोन पर खोली दुकान तो वहां आटा नहीं था

Yamunanagar News - किसी को माल-ढुलाई वाले टैंपो में अस्पताल लाया गया तो किसी को पड़ोसी बाइकों पर उठाकर लाए यमुनानगर| विजय नगर...

Mar 27, 2020, 07:22 AM IST
Jagadhari News - haryana news khattu flour was supplied from mehta sons the shop opened on the phone of tehsildar doctor and police repeatedly there was no flour

किसी को माल-ढुलाई वाले टैंपो में अस्पताल लाया गया तो किसी को पड़ोसी बाइकों पर उठाकर लाए

यमुनानगर| विजय नगर कॉलोनी निवासी आशू लंबे समय से व्रत रख रही हैं। पहले नवरात्र पर उन्होंने शाम को कुट्टू के आटे की रोटी बनाई थी। दो रोटी खुद खा लीं। जिस-जिस ने भी यह रोटी खाई, सभी को पहले तो उल्टियां लगने लगीं फिर बेहोश हो गए। आशू ने बताया कि उनके देवर राहुल ने कुट्टू के आटे की रोटी नहीं खाई थी इसलिए वह ठीक था। उसने एक सामान ढुलाई करने वाले टैंपो चालक को बुलाया और परिवार के लोगों को पीछे टैंपो में डालकर अस्पताल लेकर पहुंचा। इसी तरह डिंपल सिनेमा के पास रहने वाली सालू ने बताया कि उनका भी पूरा परिवार रोटी खाने के बाद बेहोश हो गया। आसपास के लोग उन्हें बाइकों पर बीच में बैठाकर अस्पताल लेकर आए। इस तरह के हालात कुट्टू का आटा खाने के बाद आशू और सालू के परिवार के भी थे। दर्जनों परिवार ऐसे हैं, जिसमें परिवार के सभी सदस्य कुट्टू के आटे की रोटी खाने से बेहोश हुए और उल्टी व दस्त लगे।

सरकारी अस्पताल कम पड़े, मरीजों को नीचे तक लेटना पड़ाः 138 लोग जगाधरी सिविल अस्पताल में भर्ती किए गए थे। वीरवार को 127 को डिस्चार्ज कर दिया गया। 11 वहीं पर एडमिट थे। वहीं यमुनानगर सिविल अस्पताल में 79 एडमिट हुए थे। 61 को डिसचार्ज कर दिया गया था। 18 एडमिट थे। 40 लोग प्राइवेट अस्पताल में गए थे। इसके साथ ही कुछ ऐसे भी थे जिन्हें दवा देकर घर भेज दिया गया था। कुल 353 लोगों की हालत बिगड़ी थी। इससे अस्पताल कम पड़ गए थे। अस्पताल में एक-एक बेड पर तीन-तीन मरीज लेटाने पड़े। मरीजों को कोरोना का भी डर सता रहा था।

प्यार में बच्चे को दी रोटी, दो साल तक के बच्चे हुए बीमार

ऐसा नहीं है कि कुट्टू के आटे की रोटी परिवार की महिलाओं और पुरुषों ने ही खाई थी। कुछ परिवार के लोग ऐसे हैं जिन्होंने प्यार में रोटी खाते हुए बच्चे को एक टुकड़ा दे दिया था। बच्चे ने वह खाया तो उसकी भी हालत बिगड़ गई। इसमें तेजस भी है। उसकी हालत इतनी खराब हो गई थी कि उसे पीजीआई रेफर करना पड़ा। वहीं सचित तीन साल का बच्चा है। उसने भी मां से प्यार में रोटी का एक टुकड़ा ले लिया था। इसी में उसकी हालत बिगड़ गई।

{मां को प्यार में बच्चे को कुट्टू के आटे की रोटी का एक टुकड़ा देना पड़ा भारी, दो से तीन साल के बच्चों की हालत भी बिगड़

{दुकानदार बोला- 50 बैग आए थे, सभी पहले ही सप्लाई कर दिए थे, एक बैग में 50 केजी था{25 क्विंटल यहीं से सप्लाई हुआ, वहीं अन्य दुकानों से भी शहर में सप्लाई हुआ कुट्टू का आटा


यमुनानगर | मेहता संस के मालिक से कुट्टू के आटा के बारे में पूछताछ करते एडीजीपी और एसपी।

यमुनानगर| पहले ही नवरात्र पर व्रत में कुट्टू का आटा खाने से शहर में 353 लोग बीमार हो गए। इतने लोगों के बीमार होने पर सुबह होते ही पुलिस, स्वास्थ्य विभाग की टीम शहर में उन दुकानों के लिए निकल पड़ी, जहां से बीमार हुए लोगों ने कुट्टू का आटा लिया था। टीम सैंपल लेना शुरू करती, इससे पहले ही दुकानें बंद कर दुकानदार घर पर बैठ गए। टीम सबसे पहले जगाधरी की सिंधवानी पतंजलि मेडिकल स्टोर पर पहुंची। यहां टीम को 4 किलो आटा मिला। सैंपल लिए और जो आटा बचा, उसे डिस्ट्रॉय कराया। यहां से पता चला कि जगाधरी में कुट्टू का आटा जगन्नाथ ट्रेडर्स के यहां से सप्लाई हुआ है।

टीम यहां पर पहुंची तो ट्रेडर्स मालिक रिषी दुकान बंद कर गायब था। इसके बाद टीम डीडी अग्रवाल स्कूल के पास कृष्णा जनरल स्टोर पर पहुंची। यहां पर जवाब मिला कि जगन्नाथ के यहां से 5 किलो लेकर आया था, जब पता चला लोगों की हालत बिगड़ गई तो जो बचा था, उसे ही वापस कर दिया। इसके बाद टीम को लगा कि जगाधरी में कुट्टू के आटे की सप्लाई हुई है। एसएचओ जगाधरी दिनेश कुमार ने जगन्नाथ ट्रेडर्स मालिक को फोन पर सख्ती से बात की तो वह दुकान खोलने को तैयार हुआ। टीम ने जब वहां पर जांच की तो पाया कि 50 किलोग्राम आटा यहां पर था। एक क्विंटल बेच दिया गया था। हालांकि ट्रेडर्स मालिक रिषी का कहना था कि जब उसे पता चला कि आटा खाने से लोगों की हालत खराब हो रही है तो उसके पास से जो भी दुकानदार ले गया था, उसने उन्हें फोन कर कह दिया था कि इस आटे को न बेचें। यहां तक पहुंचने के बाद टीम ने पता लगाया कि जगन्नाथ ने जगाधरी एरिया में आटे की सप्लाई की तो जगन्नाथ के पास कहां से आया। उसने बताया कि उसने रेलवे रोड यमुनानगर स्थित मेहता संस से आटा मंगवाया था। इसके बाद टीम मेहता संस पर पहुंची।

दुकान खोली तो एक दाना आटे का नहीं थाः टीम जगाधरी में जांच के बाद यमुनानगर में मेहता संस पर पहुंची। यहां देखा कि दुकान ही बंद है। पुलिस और डॉक्टर्स की टीम दुकान संचालक पर फोन करती रही, लेकिन वे नहीं आए। इसके बाद वहां पर तहसीलदार भी पहुंच गए। करीब एक घंटे इंतजार के बाद मेहता संस संचालक दुकान पर पहुंचे। उन्होंने दुकान खोली तो बोले, यहां आटे नहीं है। मेहता संस पर जांच शुरू की तो उन्होंने आटा सहारनपुर के गोबिंद सहाय शंकर लाल फर्म से आने के बिल दिखाए। उन्होंने कहा कि कई सालों से वे वहीं से आटा मंगवाते हैं। इस बार 50 बैग मंगवाए थे।

X
Jagadhari News - haryana news khattu flour was supplied from mehta sons the shop opened on the phone of tehsildar doctor and police repeatedly there was no flour

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना