ग्रामीण क्षेत्रों में युवाओं ने रास्तों को किया बंद

Jind News - पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा 14 अप्रैल तक पूरे देश के लॉकडाउन के आदेश के साथ बांगर की पंचायतें साथ आ रही हैं। 17 गांवों...

Mar 27, 2020, 08:40 AM IST
Uchana News - haryana news youth closed the roads in rural areas

पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा 14 अप्रैल तक पूरे देश के लॉकडाउन के आदेश के साथ बांगर की पंचायतें साथ आ रही हैं। 17 गांवों की पंचायतों ने भी अपनी-अपनी पंचायत की तरफ से फैसले लिए हैं कि 14 अप्रैल तक पूर्ण रूप से गांव को लॉकडाउन किया जाएगा। गांवों में युवा गांव में आने वाले रास्तों पर पहरा दे रहे हैं। आने वाले हर रास्ते को बंद कर कर्फ्यू लगा दिया है। गांव में न तो बाहरी व्यक्ति को जाने दे रहे हैं न ही गांव के किसी व्यक्ति को बिना काम के बाहर जाने दे रहे हैं। कोरोना को लेकर देश भर में लड़ी जा रही लड़ाई में पंचायतें, युवा पूरा साथ दे रहे हैं। खंड में अब 28 पंचायतें ऐसी हैं जहां युवाओं ने अपने हाथ पूरी तरह से लॉक डाउन की कमान ले ली है।

इन गांवों की पंचायतें भी आईं आगे: बड़ौदा, गैंडा खेड़ा, खरकभूरा, खटकड़, उचाना खुर्द, पालवां, मांडी कलां, करसिंधु, घासो खुर्द, घसो कलां, भौंगरा, सुंदरपुरा, काब्रच्छा, घोघड़िया, धनखड़ी, सुदकैन खुर्द, खेड़ी मंसानिया की पंचायतों द्वारा पंचायत की तरफ से फैसला लिया गया है कि गांव में किसी बाहरी व्यक्ति को गांव के अंदर बिना पूछताछ के नहीं आने दिया जाएगा। गांव में युवा, बुजुर्ग जो ताश खेलते हैं उनको भी हिदायतें दी गई है कि वो सामूहिक रूप से एकत्र न हो। आपस में दूर रहने से ही इस बीमारी को रोका जा सकता है। गांव में बाहर से आने वाले व्यक्ति का नाम दर्ज कर, कारण पूछ कर गांव में आते समय हैंडवॉश करवाए जाते हैं।

प्रमुख रास्तों पर शिफ्ट में युवा देते हैं पहरा

ग्रामीण रामनिवास, विक्रम पहलवान, दीपक, सुनील, मा. संदीप ने बताया कि दिन-रात गांव में आने वाले प्रमुख रास्तों पर पहरा दिया जाता है। युवाओं की टीमें बनाई गई हैं। ये टीमें शिफ्ट के हिसाब से ड्यूटी देती है। जो युवा पहरा देते है वो भी एक फीट की निर्धारित दूरी से दूर रहे इसका ध्यान रखा जाता है। सभी अपने अपने जाकरों, रिश्तेदारों को फोन करके कह चुके हैं कि उनके गांव में वो 14 अप्रैल तक न आए। किसी भी बाहरी व्यक्ति को गांव के अंदर नहीं जाने दिया जाता है। इस बीमारी से हम सबको मिलकर लड़ना है। इसकी दवा एक ही है आपस में दूरी बनाओ, घर पर रहो। गांवों में सुबह, शाम मुनादी भी करवाई जा रही है। पुलिस कर्मी भी मुनादी के साथ पंचायत प्रतिनिधि के साथ रहते हैं।

उचाना. खरकभूरा गांव में गांव में आने वाले रास्ते पर पहरा देते हुए युवा। फोटो | भास्कर

X
Uchana News - haryana news youth closed the roads in rural areas

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना