--Advertisement--

100 में 57 लोगों ने कहा- रोज सुबह एक घंटा गाना सुनने से हुआ फायदा

सर्वे में पाया गया कि जिन लोगों ने रोजाना सुबह एक घंटे गाना सुना उनकी एंजायटी और डिप्रेशन की प्रॉब्लम कम हो गई।

Danik Bhaskar | Jun 10, 2018, 10:38 PM IST

हेल्थ डेस्क। ज्यादातर लोग म्यूजिक को इंटरटेनमेंट के लिए सुनते हैं। लेकिन कई रिसर्च में यह साबित हुआ है कि म्यूजिक के जरिए बीमारियों को भी कंट्रोल किया जा सकता है। 100 लोगों पर किए गए सर्वे में पाया गया कि जिन लोगों ने रोजाना सुबह एक घंटे म्यूजिक सुना उनकी एंजायटी और डिप्रेशन की प्रॉब्लम कम हो गई। 57 ने माना कि म्यूजिक सुनने से अच्छा फील होने लगा। हार्ट केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष और वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. केके अग्रवाल ने बताया कि एंजायटी मानसिक बीमारी है। जिसमें सिर्फ 20% ही लंबे समय तक अच्छी तरह से रह पाते हैं।

मूड हल्का करता है म्यूजिक

डॉ. अग्रवाल ने बताया कि म्यूजिक स्ट्रेस से छुटकारा दिलाता है। यह एंजायटी और डिप्रेशन को कम करता है। यह मूड को भी हल्का करने में मदद करता है। म्यूजिक का यूज मरीज को ठीक करने में किया जा सकता है। जिन लोगों ने रोजाना म्यूजिक सुना उनमें यह लक्षण 80% तक कम हो गए।

ये हैं एंजायटी के संकेत

बेचैनी, डर लगना, जी घबराना, ठंड लगना, पसीना आना, सुस्ती, सांस उखड़ना, मुंह सूखना, मांसपेशियों में तनाव और चक्कर आना।

एंजायटी और डिप्रेशन के मरीज ऐसे रखें ख्याल

- कॉफी, चाय, कोला, चॉकलेट और कैफीन जैसी चीजों को कम से कम लें।
- कैफीन से मूड बदलता है और इससे एंजायटी और डिप्रेशन और बढ़ सकता हैं।
- हेल्दी डाइट लें, एक्सरसाइज करें। डिप्रेशन से राहत दिलाने में एरोबिक्स भी मदद करता है।
- सात से आठ घंटे की नींद जरूर लें।