हार्ट पेशेंट्स आयुष्मान योजना के तहत करवा सकेंगे इलाज, अब तक 11 हार्ट सर्जरी हुईं

Panchkula Bhaskar News - हार्ट पेशेंट्स के लिए अब पंचकूला के ओजस अस्पताल ने आयुष्मान योजना के तहत सर्जरी करनी शुरू कर दी है। अब तक ऐसे 11...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:35 AM IST
Panchkula News - heart patients will be able to get treatment under ayushman scheme so far 11 heart surgeries have been done
हार्ट पेशेंट्स के लिए अब पंचकूला के ओजस अस्पताल ने आयुष्मान योजना के तहत सर्जरी करनी शुरू कर दी है। अब तक ऐसे 11 मरीजों की सर्जरी करने की भी बात अस्पताल की ओर से बताई जा रही है, जो आयुष्मान योजना के तहत यहां पर हुई है। वहीं, अस्पताल ने हार्ट पेशेंट्स की जरूरत और इसमें गंभीरता दिखाते हुए एक नई पहल भी शुरू की है। ओजस अस्पताल के हार्ट सर्जरी डिपार्टमेंट ने घोषणा की है कि मरीज की वित्तीय स्थिति कैसी भी हो, अस्पताल में जरूरतमंद मरीज की इलाज के खर्च करने की क्षमता के अनुसार उपचार का खर्च तय कर हार्ट सर्जरी की जाएगी और उसे जरूरी उपचार प्रदान करेगा। डॉ. वीरेंद्र सरवाल, डायरेक्टर, कार्डियोथोरेसिक एंड वेस्कुलर डिपार्टमेंट ने बताया कि ओजस दिल की सर्जरी में आयुष्मान योजना को स्वीकार करने वाला ट्राइसिटी में पहला निजी अस्पताल है और अब तक हमने इस स्कीम के तहत 11 मरीजों की हार्ट सर्जरी की हैं।

डॉ. वीरेंद्र सरवाल, डायरेक्टर, कार्डियोथोरेसिक एंड वेस्कुलर डिपार्टमेंट ने बताया कि अस्पताल ने हार्ट पेशेंट्स के लिए 24 घंटे उपलब्ध रहने वाली हेल्पलाइन लाॅन्च की है। उन्होंने बताया कि अगरी कोई भी हार्ट अटैक जैसी बिमारी की चपेट में आता है तो वह 8727066555 पर कॉल कर सकते है। इस परन हार्ट मरीज एक्सपर्ट की एक टीम से अपने हार्ट रोग के संबंध में फ्री गाइडेंस प्राप्त कर सकते हैं। जो मरीज ओजस अस्पताल में दिल की सर्जरी करवाते हैं, उन्हें लाइफ टाइम फ्री फॉलो-अप कंसलटेशन भी मिलेगी। अस्पताल दिल से संबंधित बीमारियों पर एक फ्री सैकेंड ओपिनियन क्लीनिक भी चला रहा है, जिसमें सर्जरी के लिए साइंटिफिक सही राय ली जा सकती है। ओजस मिनिमली इनोवेटिव सर्जरी की नई तकनीक ला रहा है, जिसमें चेस्ट बोन को ना तो काटा जाता है और ना ही इसे ओपन किया जाता है। डॉ. सरवाल ने बताया कि हमने एंडोस्कोपिक वेन की हार्वेस्टिंग भी शुरू कर दी है, जहां एंडोस्कोप की मदद से नस की पूरी लंबाई निकालने के लिए केवल 2 छोटे कट्स की आवश्यकता होती है। अब टांगों में किसी बड़े कट को लगाने की जरूरत नहीं रह गई है। ओजस के हार्ट सर्जरी विभाग में डॉ. अजय सिन्हा, हेड, कार्डिएक एनेस्थेसिया, डॉ.प्रवीण नायक, कंसल्टेंट कार्डिएक सर्जन और डॉ. खान, कंसल्टेंट क्रिटिकल केयर जैसे अनुभवी मेडिकल प्रोफेशनल्स की एक माहिर टीम है। डॉ.सरवाल को 27 वर्ष का एडल्ट और पीडियाड्रिक कार्डिएक सर्जरी का अनुभव है। अब तक वह 7200 ओपन हार्ट सर्जरीज कर चुके हैं, जिनमें 4700 हार्ट सर्जरीज वे ट्राईसिटी में साल 2003 से लेकर अब तक कर चुके हैं।


X
Panchkula News - heart patients will be able to get treatment under ayushman scheme so far 11 heart surgeries have been done
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना