--Advertisement--

देवांग्शु दत्ता का कॉलम: एलेरिस को खरीद सबसे बड़ी एल्युमिनियम कंपनियों में शुमार हो जाएगी हिंडालको

रिजर्व बैंक और अमेरिकी फेडरल रिजर्व दोनों बुधवार को पॉलिसी रेट की समीक्षा करेंगे

Dainik Bhaskar

Jul 30, 2018, 11:20 AM IST
देवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूट देवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूट

हिंडाल्को की अमेरिकी सब्सिडियरी नोवेलिस एल्युमीनियम कंपनी एलेरिस को 2.58 अरब डॉलर (17,800 करोड़ रु.) में खरीदेगी। इससे यह दुनिया की सबसे बड़ी एल्युमिनियम कंपनियों में शामिल हो जाएगी। कंसोलिडेटेड रेवेन्यू 1.5 लाख करोड़ रु. होगा। एलेरिस एयरोस्पेस सेक्टर के लिए हाईटेक प्रोडक्ट बनाती है। नोवेलिस इसे खरीदने की पूरी रकम कर्ज लेगी। डील 9 से 15 महीने में पूरी होने की उम्मीद है। इसके लिए अमेरिका, चीन और यूरोपियन यूनियन के रेगुलेटर्स की मंजूरी जरूरी होगी।

नतीजे :
रिलायंस को रिकॉर्ड मुनाफा, आईसीआईसीआई बैंक को पहली बार घाटा
रिलायंस इंडस्ट्रीज: जून तिमाही में प्रॉफिट 18% बढ़कर 9,459 करोड़ और रेवेन्यू 57% बढ़ कर 1.4 लाख करोड़ हो गया। रिलायंस जियो को 612 करोड़ का मुनाफा हुआ जो मार्च तिमाही से 20% ज्यादा है। रिटेल का रेवेन्यू 124% बढ़कर 25,890 करोड़ हो गया है। दुनिया में सबसे ज्यादा शेयरहोल्डर वाली इस कंपनी के शेयर सोमवार को चढ़ने की उम्मीद है।


मारुति सुजुकी: प्रॉफिट 27% बढ़कर 1,975 करोड़ और रेवेन्यू 28% बढ़कर 22,459 करोड़ हो गया। कंपनी ने 24% ज्यादा 4.9 लाख कारें बेचीं। पर कमोडिटी के दाम बढ़ने से मार्जिन कम हुआ है। बाजार की उम्मीदों के मुताबिक के नतीजे नहीं होने के कारण इसके शेयर 4% गिर गए।

एलएंडटी: भारत की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग कंपनी का प्रॉफिट 36% बढ़कर 1,215 करोड़ और रेवेन्यू 19% बढ़कर 28,284 करोड़ हो गया। कंपनी का ऑर्डर बुक 2.7 लाख करोड़ रुपए है। इसमें से 2.1 लाख करोड़ इन्फ्रा प्रोजेक्ट के हैं। पूरे साल में रेवेन्यू 12 से 15% बढ़ने की उम्मीद है।

एयरटेल: 97 करोड़ का कंसोलिडेटेड मुनाफा हुआ। हालांकि इसमें अफ्रीका में 1,844 करोड़ का टैक्स गेन शामिल है। कंसोलिडेटेड रेवेन्यू 21,958 करोड़ से घटकर 20,080 करोड़ रह गया। भारतीय बिजनेस में कंपनी को 1,457 करोड़ का नुकसान हुआ। पिछले साल इस तिमाही में 280 करोड़ का मुनाफा हुआ था। प्राइस वॉर के चलते 45.7 करोड़ ग्राहक होने के बावजूद एयरटेल संघर्ष कर रही है।

आईटीसी: एफएमसीजी कंपनी ने रेवेन्यू में 7.6% और प्रॉफिट में 10% ग्रोथ दर्ज की है। रेवेन्यू 10,707 करोड़ और प्रॉफिट 2,819 करोड़ रहा है। रेवेन्यू और प्रॉफिट बाजार की उम्मीदों के मुताबिक रहे इसलिए नतीजों के बाद शेयर में थोड़ी बढ़त रही।

आईसीआईसीआई बैंक: जून तिमाही में 119.5 करोड़ का घाटा हुआ। एक साल पहले 2,049 करोड़ का मुनाफा हुआ था। बैंक को पहली बार नुकसान हुआ है। इसका नेट एनपीए 5.5% रहा है जो मार्च तिमाही में 4.7% था। एनपीए के लिए बैंक ने 5,971 एक करोड़ की प्रोविजनिंग की है। कर्ज 15% बढ़ा है। आईसीआईसीआई प्रू. लाइफ में हिस्सेदारी बेचने से बैंक को 1,110 करोड़ का मुनाफा हुआ। इसके बिना नुकसान काफी ज्यादा होता।

पॉलिसी दरें बढ़ीं तो रुपया और कमजोर होगा: रिजर्व बैंक और अमेरिकी फेडरल रिजर्व दोनों बुधवार को पॉलिसी रेट की समीक्षा करेंगे। इसकी वजह से करेंसी मार्केट में थोड़ी अस्थिरता रह सकती है। इन्होंने ब्याज दरें बढ़ाईं तो रुपया आगे और कमजोर हो सकता है। अमेरिका टैरिफ पर यूरोपियन यूनियन और मेक्सिको से बात कर रहा है। हालांकि विश्लेषकों को अमेरिका और चीन के बीच समझौते की उम्मीद कम है। भारत ने भी 4 अगस्त से अमेरिकी उत्पादों पर टैरिफ बढ़ाने की चेतावनी दे रखी है। इससे भारत में कुछ अमेरिकी प्रोडक्ट, खासकर कृषि उत्पाद महंगे हो जाएंगे।
देवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूटिंग एडिटर, बिजनेस स्टैंडर्ड

X
देवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूटदेवांग्शु दत्ता, कंट्रीब्यूट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..