जिस स्कूल में पढ़ते थे, उसी में 44 साल बाद औरंगाबाद से आकर टॉपर्स को किया सम्मानित

Mohali Bhaskar News - सिटी रिपोर्टर | कुराली/मोहाली सरकारी स्कूलों की ओर भले ही कोई भी हाथ न बढ़ाता हो, लेकिन कुछ परिवार इन स्कूलों के...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:31 AM IST
Kurali News - honored toppers after coming from aurangabad after 44 years in the school where he studied
सिटी रिपोर्टर | कुराली/मोहाली

सरकारी स्कूलों की ओर भले ही कोई भी हाथ न बढ़ाता हो, लेकिन कुछ परिवार इन स्कूलों के प्रति समर्पित होकर यहां टॉप करने वाले छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहित करने में लगे हुए हैं। ऐसा ही एक परिवार बलदेव सिंह भाटिया का है।

बलदेव सिंह भाटिया की ओर से अपनी माता हरबंस कौर के देहांत के बाद उनके नाम पर टॉप करने वाली छात्राओं को कैश प्राइज देने की पांच साल पहले शुरुआत की थी। बलदेव सिंह भी अब इस दुनिया को छोड़ गए हैं, लेकिन परिवार ने उनके द्वारा शुरू किया गया कैश प्राइज रखा है। इस बार पांचवें साल का प्राइज छात्राओं को देने के लिए कुराली के गवर्नमेंट गर्ल्स स्कूल में महाराष्ट्र के औरंगाबाद से बलदेव सिंह की बहन सुखजीत कौर छतवाल स्पेशल पहुंचीं। उन्होंने माता के नाम पर रखे गए कैश प्राइज का आवंटन टॉपर छात्राओं को किया। सुखजीत कौर छतवाल ने बताया कि वे इस बात काे लेकर बहुत ज्यादा खुश हैं कि वे इसी गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी गर्ल्स स्कूल कुराली में पढ़ती थीं। 1975 में उन्होंने इसी स्कूल से 10वीं पास की थी। अब 44 साल बाद उन्होंने अपने ही स्कूल में आकर स्टूडेंट्स को कैश प्राइज और स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया। इनमें 10वीं में 91.5 फीसदी नंबर लेने वाली शिवानी गोस्वामी और 12वीं में टॉप करने वाली नवदीप कौर (91.77) शामिल हैं। सुखजीत कौर के साथ उनके पति खुशवीर सिंह छतवाल भी मौजूद थे। छतवाल परिवार औरंगाबाद में होटल कारोबार से जुड़ा हुआ है।


मनमोहन पाल सिंह उर्फ राणा भाटिया ने बताया कि उनकी दादी हरबंस कौर का देहांत होने पर उनके पिता बलदेव सिंह ने उनके नाम पर होनहार छात्राओं को कैश प्राइज देने की शुरुआत 2015 में की थी। एक साल बाद 2016 में उनके पिता बलदेव सिंह के देहांत के बाद उन्होंने अपनी माता जसवंत कौर और बड़े भाई हरप्रीत सिंह भाटिया के साथ मिलकर इस कैश प्राइज को देना जारी रखा। पहले यह प्राइज 12वीं की छात्रा को दिया जाता था, लेकिन अब 10वीं और 12वीं की छात्राओं को भी दिया जाता है। उनकी माता जसवंत कौर ने कहा है कि अब यह प्राइज आर्ट्स, कॉमर्स, साइंस, मेडिकल, नॉन मेडिकल तथा फाइन आर्ट्स में टॉप करने वाली 12वीं की सभी छात्राओं को दिया जाएगा। 10वीं में स्कूल में टॉप करने वाली छात्राओं को दिया जाएगा। यह प्राइज हर साल गर्ल्स स्कूल में ही दिया जाता है, ताकि बेटी पढ़े भी और बढ़े भी।

X
Kurali News - honored toppers after coming from aurangabad after 44 years in the school where he studied
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना