--Advertisement--

नए घर में शिफ्ट हुई थी महिला, लेकिन पीछे के गार्डन में हर वक्त रहती थी गंदगी, लाख शिकायत करने के बाद नहीं सुलझी प्रॉब्लम

खुद सफाई करने आई, लेकिन बंद करना पड़ा काम और डर के मारे वहां से लगा दी दौड़

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 07:01 PM IST

(ये कहानी 'सोशल वायरल सीरीज' के तहत है। दुनियाभर में सोशल मीडिया पर ऐसी स्टोरीज वायरल हुईं हैं, जिसे आपको जानना चाहिए।)

एबे हल्टन. इंग्लैंड में एक महिला अपने घर के पीछे बने गार्डन की सफाई करने के दौरान बुरी तरह डर गई। दरअसल वहां काफी गंदगी थी, और जब महिला उसकी सफाई कर रही थी इसी दौरान उसे एक बड़ा सा पॉलिथिन बैग दिखा। जब महिला ने उसे खोला तो उसमें सुअर के कई मरे हुए बच्चे रखे हुए थे। वहां से 28 सुअर के बच्चों की लाश मिली। जिन्हें पॉलिथिन में भरकर उस गार्डन में गाड़ दिया गया था।

महिला ने की थी शिकायत

- ये स्टोरी इंग्लैंड के स्टेफोर्डशायर के एबे हल्टन में रहने वाली टिफनी सेनारा की है। 22 साल की टिफनी कुछ वक्त पहले ही अपने पति और दो बच्चों के साथ इस नए मकान में शिफ्ट हुई है।
- यहां आने के बाद टिफनी ने नोटिस किया कि घर के पीछे बने गार्डन में काफी गंदगी है। जिसके बाद उसने संबंधित विभाग को इस बारे में शिकायत करते हुए बताया। हालांकि कोई सफाई नहीं हुई।
- टिफनी के मुताबिक गार्डन में यहां-वहां टूटे ग्लास, कचरा और काफी ज्यादा पत्थर फैले हुए थे। जब कई बार शिकायत करने के बाद भी इस बारे में कोई एक्शन नहीं हुआ, तो उसने खुद ही गार्डन की सफाई करने के बारे में सोचा।

मिले मरे हुए सुअर के बच्चे


- टिफनी ने बताया, 'हाल ही में जब मैं गार्डन की सफाई करने पहुंची, इसी दौरान वहां मुझे एक उबड़-खाबड़ जगह दिखाई दी। जिसे साफ करने के लिए जैसे ही मैंने उस पर से कचरा और मिट्टी हटाई तो वो मुझे एक छोटी कब्र की तरह लगी। इसके बाद मैंने उस जगह की खुदाई शुरू कर दी।'

- ' थोड़ी खुदाई करने के बाद मुझे वहां एक बड़ी सी काली पॉलिथिन दिखी। मैंने जैसे ही पॉलिथिन को बाहर निकाला तो उससे भयानक बदबू आई और जब उसे खोलकर देखा तो उसमें कई मरे हुए सुअर के बच्चे रखे दिखे। मुझे वहां कुल 28 सुअर के बच्चों की लाश मिली। इसके बाद मैंने सफाई का काम बंद कर दिया और डर के मारे मैं वहां से भाग आई।'
- टिफनी ने इस बारे में अपनी सोसाइटी को बताने के अलावा पशुओं के लिए काम करने वाली संस्था को भी बता दिया। बाद में उसे पता चला कि पिछले साल उसी जगह से 42 मरे हुए सुअर के बच्चे भी बरामद हुए थे। जिसके बारे में कुछ पता नहीं चला।