--Advertisement--

डिटॉक्स वाटर : दिन में तीन बार इस खास पानी को पीने से मौसमी रोग, मोटापा और किडनी की बीमारियों से मिलेगी राहत

सही मात्रा में पानी पीने से मेटाबोलिज्म बढेगा।

Danik Bhaskar | Aug 30, 2018, 08:24 PM IST

हेल्थ डेस्क. मानसून में होने वाले वायरल बुखार, जुकाम और खांसी से बचने के लिए डिटॉक्स पानी बनाकर पीएं। यह पानी मौसमी बीमारियों से बचाता है। दिनभर एक एक लीटर की तीन बोतल पानी में एलोवेरा, धनिया, पोदीना, शहद, नींबू और सौंफ मिलाकर डिटॉक्स पानी बनाएं। यह शरीर में बढ़ती चर्बी दूर कर दिनभर आपको फ्रेश और एनर्जेटिक रखेगा। सही मात्रा में पानी पीने से मेटाबोलिज्म बढेगा। मार्केट में मिलने वाली कैलोरी ड्रिंक के बजाए घर में बने जीरा, अजवाइन, कलौंजी, सौंफ और मेथी दाना से तैयार पानी बीमारियों से बचाता है। इसे दिन में तीन बार पिया जा सकता है। नेचुरोपैथी विशेषज्ञ डॉ. किरन गुप्ता से जानते हैं इसे कैसे तैयार करें।

सुबह का पानी
सुबह की शुरुआत एंटीबॉयोटिक पानी से करें। इसमें एक लीटर सामान्य पानी में एक चम्मच सौंफ, धनिया,जीरा और एलोवेरा मिलाकर रात भर के लिए छोड़ दें। सुबह इस डिटॉक्स पानी में शहद मिलाकर घूंट-घूंट कर पीएं। इसे पीने से किडनी की सफाई होती है और इम्यून सिस्टम को मजबूत होता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स एंटीबॉयोटिक की तरह काम करते हैं। जीरे से कैल्शियम की कमी दूर होगी। यह एंटी डिप्रेशन का काम करेगा और सौंफ डाइजेशन में सुधार लाती है।

दोपहर का पानी
लंच से आधे घंटे पहले एक गिलास पानी पी सकते हैं लेकिन लंच के बाद करीब 45 से 1 घंटे बाद ही पानी पीना चाहिए। दोपहर के पानी को तैयार करने के लिए एक लीटर पानी में 10 से 15 पोदीना, धनिया पत्ती, खीरा और एलोवेरा का एक पीस डालकर हेल्दी पानी बनाएं। यह पानी रात को बनाकर रखा जा सकता है या सुबह फ्रेश भी बना सकते हैं। यह प्रोटीन, मिनरल्स और फोलिक एसिड की कमी दूर करता है।

शाम का पानी
शाम के पानी को बनाने के लिए एक लीटर पानी को उबाले उसमें एक से डेढ़ इंच अदरक का टुकड़ा, तीन से चार नींबू के छिलके, तुलसी पत्ते उबाल कर पानी नॉर्मल होने दें। पानी के गुनगुने होने पर एक छोटी चम्मच दालचीनी पाउडर डालकर मिलाएं। इस पानी को रात तक पीएं। बुखार, खांसी, जुकाम या वायरल इंफेक्शन जैसी दिक्कतें दूर होंगी।