--Advertisement--

एचटीसी भारत में स्मार्टफोन का बिजनेस बंद करेगी, कंट्री हेड समेत कई बड़े अधिकारियों का इस्तीफा

एचटीसी ने एक साल पहले भारत में फोन की मैन्युफैक्चरिंग बंद कर दी

Dainik Bhaskar

Jul 20, 2018, 12:30 PM IST
पिछले साल 78% लोगों ने एचटीसी को पिछले साल 78% लोगों ने एचटीसी को

नई दिल्ली. स्मार्टफोन मार्केट में चाइनीज कंपनियों के बढ़ते दबदबे के बीच ताइवान की प्रीमियम फोन कंपनी एचटीसी भारत में फोन बिजनेस समेट रही है। सूत्रों के मुताबिक एचटीसी इंडिया के कंट्री हेड फैजल सिद्दीकी, सेल्स प्रमुख विजय बालाचंद्रन और प्रोडक्ट हेड आर. नैयर समेत कई सीनियर एग्जीक्यूटिव्स ने इस्तीफा दे दिया है। कंपनी ने बाकी कर्मचारियों से भी इस्तीफा देने को कहा है। एचटीसी डिस्ट्रीब्यूटर्स के साथ एग्रीमेंट भी खत्म कर रही है। इसने करीब एक साल पहले भारत में फोन की मैन्युफैक्चरिंग बंद कर दी थी।

भारत में ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचेगी कंपनी : इसने एक बयान में कहा कि यहां वर्चुअल रियलिटी डिवाइस ऑनलाइन बेचेगी। इसने दावा किया कि वर्चुअल रियलिटी, ऑगमेंटेड रियलिटी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में कोई भी कंपनी एचटीसी से बेहतर काम नहीं कर सकती है। एक सूत्र ने बताया कि कंपनी भारत में सिर्फ ऑनलाइन फोन बेच सकती है। हालांकि इसमें वक्त लग सकता है, क्योंकि कंपनी भारत ही नहीं दूसरे देशों में भी बाजार हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए संघर्ष कर रही है। वहां स्थिति सुधारने के बाद ही ऑनलाइन मार्केट में कदम रखेगी। कंपनी की प्रवक्ता ने कहा कि एचटीसी भारत में स्मार्टफोन की बिक्री जारी रखेगी। कंपनी यहां उचित समय पर उचित सेगमेंट में निवेश करेगी। कर्मचारियों को हटाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इंडिया ऑफिस में अभी 10 से ज्यादा कर्मचारी हैं और कंपनी काम कर रही है।

जून में ग्लोबल बिक्री में 68% गिरावट : एचटीसी की बिक्री दुनियाभर में घट रही है। जून में इसकी ग्लोबल बिक्री में 68% गिरावट आई। यह 2 साल में सबसे बड़ी मासिक गिरावट है। पिछले दिनों इसने 20% कर्मचारियों की छंटनी का भी ऐलान किया था।

भारत में मार्केट शेयर 1% से भी कम : काउंटर पॉइंट रिसर्च के अनुसार भारत में इसका मार्केट शेयर 1% से भी कम है। 30 हजार रुपए से ज्यादा के प्रीमियम सेगमेंट में सैमसंग, एपल और चीन की वन प्लस का 95% मार्केट पर कब्जा है।

पिछले साल साइबर मीडिया रिसर्च (सीएमआर) के भारत में किए गए सर्वे में 78% लोगों ने सैमसंग और एपल के साथ एचटीसी को देश का सबसे सफल मोबाइल ब्रांड बताया था। एचटीसी ने इसी साल जनवरी में गूगल को अपनी डिजाइन टीम 7,500 करोड़ रुपए में बेच दी थी। एचटीसी टीम ने ही गूगल का 'पिक्सल' बनाया था। करीब 2,000 कर्मचारी गूगल में गए थे।

डिस्ट्रीब्यूटर कर सकते हैं मुकदमा : कुछ डिस्ट्रीब्यूटर्स का कंपनी पर बकाया है। ये डिस्ट्रीब्यूटर कंपनी पर मुकदमा ठोक सकते हैं। भारत में एचटीसी फोन का डिस्ट्रीब्यूशन एमपीएस और लिंक टेलीकॉम के जरिए करती थी। पिछले महीने इसने भारत में 2 स्मार्टफोन लॉन्च किए थे। लेकिन बिक्री ना के बराबर ही रही।

X
पिछले साल 78% लोगों ने एचटीसी को पिछले साल 78% लोगों ने एचटीसी को
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..