सुना था दिल्ली में क्राइम बहुत है, ताऊ से कहूंगी गुजरात जैसी व्यवस्था करें: दमयंती

News - दिल्ली में स्ट्रीट क्राइम का दर्द शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन को झेलना पड़ा। सिविल...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:20 AM IST
New Delhi News - i had heard that there is a lot of crime in delhi i will ask tau to make arrangements like gujarat damayanti
दिल्ली में स्ट्रीट क्राइम का दर्द शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन को झेलना पड़ा। सिविल लाइंस इलाके में गुजराती भवन गेट के ठीक सामने उनका पर्स झपट बदमाश स्कूटी से फरार हो गए। वारदात के बाद दमयंती मोदी ने भास्कर से बताया कि दिल्ली आने से पहले सुना था कि दिल्ली में क्राइम बहुत है। लेकिन मेरे साथ ऐसी घटना हो जाएगी ऐसा सोचा भी नहीं था। गुजरात के मुकाबले दिल्ली में क्राइम ज्यादा है। मैं ताऊ से कहूंगी कि यहां भी गुजरात जैसी कानून-व्यवस्था लागू करें। दिल्ली में महिलाओं को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। लेकिन दिल्ली पुलिस ने मेरी पूरी मदद की। जबकि पुलिस को नहीं पता था कि मैं पीएम की भतीजी हूं। गुजराती समाज भवन में आने वाला हर कोई वीवीआईपी नहीं होता है। हम लोग एक सामान्य आदमी की तरह ही गुजराती समाज भवन में 6 घंटे रुकने आए थे। वहीं पिता प्रह्ललाद मोदी ने कहा कि हम सामान्य जीवन जीते हैं और कानून से चलते हैं। इस मामले को प्रधानमंत्री से बताने की जरूरत नहीं है, हो सके तो कानून तेजी से अपना काम करें। सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर ली है और जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। चूंकि हाईप्रोफाइल मामला है कि पुलिस भारी दबाव में है।

दिल्ली में 9 महीने के अंदर झपटमारी के 4,516 मामले दर्ज, महिलाओं के मोबाइल-पर्स और चेन निशाने पर

नीरज आर्या |नई दिल्ली

दिल्ली में इस साल 15 सितंबर तक 4,516 झपटमारी की वारदातें हुईं। जिनमें बदमाशों ने पर्स, मोबाइल व बैग झपट लिए। हालांकि, आधे से ज्यादा केस पुलिस ने सुलझा भी लिए। पिछले साल झपटमारी का यही ग्राफ इस समय तक 4,707 केस पर अटका हुआ था, तब पुलिस ने करीब पचास फीसदी मामले सुलझा लेने का दावा किया था। महिलाएं झपटमारी के लिए सबसे सॉफ्ट टारगेट हैं। शनिवार को पीएम की भतीजी से हुई झपटमारी की वारदात के बाद कुछ पीड़ित लोगों के दर्द को भास्कर ने टटोलने की कोशिश की। इस बातचीत में यह बात निकलकर सामने आई कि शायद इस वारदात के बाद अब सरकार की नींद टूटे और पुलिस प्रशासन कुछ ऐसे ठोेस कदम उठाए जिससे भविष्य में सड़क पर होने वाली इस तरह की वारदातों को हमेशा के लिए दूर किया जा सके।

18 अगस्त की शाम मंडी हाउस इलाके में फिक्की ऑडिटोरियम के नजदीक बाइकर्स ने सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया तुषार मेहता की प|ी अपर्णा को ही निशाना बना डाला। बदमाश उनका मोबाइल छीनकर फरार हो गए। बेहद हाईप्रोफाइल केस में पुलिस की जांच जारी है लेकिन पीड़िता का मोबाइल अभी चालू नहीं हो सका है।

15 सितंबर तक हुई झपटमारी की वारदात

2019 2018 बाहरी जिला 577 415

रोहिणी जिला 299 503

मध्य जिला 169 248

उतर पूर्वी जिला 314 310

उतर पश्चिम जिला 288 379

बाहरी उतरी जिला 182 203

पश्चिम जिला 475 600

उतरी जिला 175 208

शाहदरा जिला 587 572

पूर्वी जिला 334 349

दक्षिण पूर्वी जिला 255 202

दक्षिणी जिला 392 242

नई दिल्ली जिला 41 48

द्वारका जिला 270 228

दक्षिण पश्चिम जिला 117 152

मैट्रो 1 3

केस-1

दमयंती से लूट के डेढ़ घंटे बाद सामने आया फुटेज

इधर, पीएम की भतीजी से लूट पर सियासत शुरू

मनोज तिवारी बोले- 90% घुसपैठिए जिम्मेदार


8 मार्च की शाम जनकपुरी एरिया में प्ले स्कूल चलाने वाली शोभा कंवर (53) मोबाइल पर बात कर रही थीं, तभी बाइक पर आए दो लोगों ने उनके हाथ में टंगे पर्स को झपटने की कोशिश की। शोभा ने विरोध किया और पर्स नहीं दिया। बारह फीट दूर घसीटती चली गई। आखिर में लुटेरे पर्स लेकर फरार होने में कामयाब रहे।

केस-2

पुलिस जांच में पता चला है एक आरोपी सदर बाजार इलाके का रहने वाला है, जबकि दूसरा सुल्तानपुरी एरिया में किराए के मकान में रहता है। झपटमारी की वारदात करने के बाद आरोपी पहाड़गंज के मुल्तानी ढांडा इलाके में गए थे।

आप का तंज- पीएम का परिवार ही सुरक्षित नहीं


- राघव चड्‌ढा, आप

X
New Delhi News - i had heard that there is a lot of crime in delhi i will ask tau to make arrangements like gujarat damayanti
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना