उपवास पर हैं तो दूध और इसके उत्पाद फल और सूरजमुखी के बीज का करें सेवन

Purnia News - नवरात्र महोत्सव शुरू हो गया है। नवरात्र में कई लाेग नौ दिनों का व्रत रखते हैं। कुछ व्रती एक समय फलहार लेते हैं तो...

Mar 27, 2020, 08:05 AM IST

नवरात्र महोत्सव शुरू हो गया है। नवरात्र में कई लाेग नौ दिनों का व्रत रखते हैं। कुछ व्रती एक समय फलहार लेते हैं तो कुछ बिना फलाहार लिए नौ दिन का व्रत रखने का संकल्प लेते हैं। व्रत निभाने के लिए शरीर में उर्जा होना भी जरूरी है। इसके लिए हम कुछ आहार के सुझाव लेकर आए है। परहेज कैसे करना है, यह तो व्रती को मालूम होता है, लेकिन इस बात का भी पूरा ध्यान रहे कि आहार में क्या क्या शामिल करना है। किस समय, क्या खाएं कि भक्ति के लिए शक्ति बनी रहे। यह हर व्यक्ति को जानना जरूरी है।

तिवारी बाबा की मानें तो कुछ व्रती एक दिन में सिर्फ एक चीज का सेवन करने का संंकल्प लेते हैं। ऐसे लोग नवरात्र शुरू होने के 1-2 दिन पहले से भोजन में धीमा परिवर्तन कर सकते हैं। अपने भोजन में दूध या इसके खाद्य पदार्थ जैसे दही, पनीर लें। फल जूस, लस्सी, नारियल पानी, सूप, सूखे मेवे, अलसी, कद्दू के बीज और सूरजमुखी के बीज का सेवन करें। गेहूं की रोटी की जगह रागी, ज्वार या बाजरा के आटे की रोटी खाएं। एक दिन के तीन समय के भोजन में अलग अलग दाल शामिल करें। इसके अलावा नारियल, पिंड खजूर लें। शक्कर की जगह गुड़ या शहद का इस्तेमाल करें। हाइड्रेट रहने के लिए नींबू पानी पिएं। सभी मौसमी फलों का सेवन करें। इन्हें आहार में शामिल करने से कैल्शियम और पोषक तत्व शरीर में बने रहेंगे।

व्रत खोलने के बाद धीरे धीरे भोजन करें : होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ. मनोज कुमार झा ने बताया कि अमूमन लोग पूरे नौ दिन व्रत रखने के बाद जब व्रत खोलते हैं तो एक साथ अधिक मात्रा में भोजन ग्रहण कर लेते हैं। ये तरीका गलत है। व्रत के बाद तीन चार दिन में धीरे धीरे भोजन की मात्रा बढ़ानी चाहिए ऐसा करने से शरीर की पाचन क्रिया सही रहेगी।

सुबह नाश्ते में इनका सेवन करें

दूध, फल सूखे मेवे या इनका शेक ले सकते है। दोपहर के भोजन में ये खाएं राजगीरे के आटे या मोरधन की रोटी, सब्जियां, दही, फल ले सकते है। शाम के आहार में ये शामिल करें। लस्सी, मूंगफली के दाने, रोस्टेड मखाने, सूखे मेवे लें या कोकोनट क्रश ले सकते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना