नाबार्ड में पौने तीन करोड़ की दो सड़कें मंजूर, तरोपका सेर सवाहल सड़क बनेगी चार किमी

Hamirpur News - हमीरपुर में अभी भी कई इलाके ऐसे हैं, जो बरसात के सीजन में सड़क सुविधा ना होने के चलते दूसरे इलाकों से पूरी तरह से कट...

Jan 21, 2020, 07:20 AM IST
हमीरपुर में अभी भी कई इलाके ऐसे हैं, जो बरसात के सीजन में सड़क सुविधा ना होने के चलते दूसरे इलाकों से पूरी तरह से कट जाते हैं। अब ऐसे गांवों को साल भर बेहतर सड़क की सुविधा देने के लिए नाबार्ड ने हमीरपुर पीडब्ल्यूडी डिविजन में दो सड़कों की मंजूरी का तोहफा दिया हैं। इनके बनने से कई गांवों के हजारों लोगों को आने-जाने की रोजाना की सुविधा तो मिलेगी ही, बरसात में भी वो बेखौफ होकर इन सड़कों से आ-जा सकते हैं। इसके लिए करोडों रुपए नाबार्ड से मंजूर हुए हैं। इसी साल इन सड़कों का निर्माण करके इन्हें लोगों की सुविधा के लिए शुरू कर दिया जाएगा।

नाबार्ड के तहत पहली लिंक सड़क लंबलू टू गुराड़ मंजूर हुई है। करीब डेढ़ किलोमीटर लंबी यह सड़क गुराड़ गांव के लोगों के लिए तकदीर बदलने वाली होगी। गांव हर बार बरसात में बारिश के चलते दूसरे इलाकों से कट जाता था। खड्ड की वजह से लोगों को आवाजाही करने में मुश्किलें आती थीं। अब यहां सड़क बनाई जाएगी, पहाड़ी को काटकर खड्ड के किनारे-किनारे ही सड़क निकाली जाएगी। पिछले कई सालों से इस इलाके के ग्रामीण सड़क बनाने की मांग हर स्तर पर करते आए हैं। उनका यह सपना जल्द पूरा होगा। दूसरी लिंक सड़क तरोपका टू सेर स्वाहल वाया जमली एक किलोमीटर बनेगी। इस सड़क से बनने से लंबलू या मटनसिद्ध जाने के लिए एक शॉर्टकट सड़क बन जाएगी, जो कि करीब चार किलोमीटर शॉर्ट सड़क आवाजाही के लिए होगी। अभी लोगों को बाया बडू होकर हमीरपुर या मटनसिद्ध की तरफ आना पड़ता है। इस सड़क के बनने से काले अंब, ककडियार, जमली और सेर स्वाहल और तरोपका गांवों के लोगों को फायदा होगा।

2 करोड़ 70 लाख से बनेंगी सड़कें ...नाबार्ड ने हमीरपुर पीडब्ल्यूडी डिवीजन को इन दो महत्वपूर्ण सड़कों को बनाने के लिए 2 करोड़ 70 लाख रुपए का बजट मंजूर किया है। इन्हें मंजूर करवाने में स्थानीय विधायक नरेंद्र ठाकुर काफी खास योगदान रहा है। मार्च तक इन सड़कों की टेंडर प्रक्रिया पूरी करके गर्मियों के सीजन में इनका काम शुरू कर दिया जाएगा।

खड्ड के किनारे बनेगी लिंक सड़क लंबलू टू गुराड सडक


X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना