लाॅकडाउन की शांति में जंगली चिड़िया ने लोगों को मोहा

Hazaribagh News - लॉक डाउन से लोगों की परेशानी बढ़ी हुई है। लोग घराें से नहीं निकल रहे हैं। इसका सुखद परिणाम पक्षियों के विचरण पर...

Mar 27, 2020, 06:56 AM IST

लॉक डाउन से लोगों की परेशानी बढ़ी हुई है। लोग घराें से नहीं निकल रहे हैं। इसका सुखद परिणाम पक्षियों के विचरण पर पड़ा है। आम तौर पर आबादी वाले इलाकों में नहीं आनेवाले शहर में दिखने लगे हैं। कुछ पक्षी मानव आबादी के आसपास अपना भोजन जुटाते हैं और कुछ मानव आबादी से दूर रहना पसंद करते हैं। धनेश या हॉर्नबिल आबादी के बीच कम ही दिखता है। लॉक डाउन के बाद कार्मल स्कूल के पीछे बने घरों के बागान में दिखने लगे हैं। इसके अलावा पीलक और क्रौंच मिशन अस्पताल रोड के खेत और पेड़ों पर दिखने लगे हैं। शहर से सटे कनहरी पहाड़ी के रास्ते के दोनों ओर की पेड़ों पर एक दर्जन पक्षी की आवाजें सुनने को मिल रही हैं। वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में दिखनेवाले ग्रेट बार्बेट या बड़ा ठठेरा चिड़िया कनहरी में दिख रहा है। फॉरेस्ट कॉलोनी निवासी बर्ड वॉचर इंद्रजीत सामंता इन पक्षियों की आवाजाही देखकर हर्षित हैं। इंद्रजीत बताते हैं लगभग 20 साल से पक्षियों का अवलोकन करना उनका शौक रहा है। उन्होंने बताया कि यह मेरे लिए चौंकानेवाला है कि जिन्हें देखने के लिए जंगल जाता था, वह मेरे घर के आसपास दिख रहा है।

हर सुबह कनहरी पहाड़ी परिसर में दो घंटे बितानेवाले इको क्लब के सचिव मृत्युंजय शर्मा भी नए पक्षियों को देखकर उत्साहित हैं । उन्होंने बताया कि पहाड़ी के किनारे बने गोलाकार रास्ते में पक्षियों का चहकना बढ़ गया है । मृत्युंजय ने बताया कि शहर में लॉक डाउन के बाद कनहरी पहाड़ी के पास आवाजाही घटी है । युवा नेचर फोटोग्राफर अमित जैन बताते हैं कि गाड़ियों की रफ्तार थमी है। मंदिर के कंगूर पर दिखनेवाले कबूतर सड़क पर भी दिखने लगे हैं। ब्राउन रॉक चैट शहर में दिख रहा है। शिकरा या छोटा बाज बाड़म बाजार में दिख रहा है। शहर में कोयल की आवाज सुनना भी रोमांचकारी है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना