--Advertisement--

आईपीएल-11: टूर्नामेंट के 13वें मुकाबले में कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ दिल्ली डेयरडेविल्स का पलड़ा भारी

दिल्ली डेयरडेविल्स और केकेआर दोनों ने ही 3-3 मैच खेले। सिर्फ एक में ही जीत सके।

Danik Bhaskar | Apr 16, 2018, 03:08 PM IST
दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के कप्तान गौतम गंभीर ने 3 मैचों में 70 रन बनाए हैं। दिल्ली डेयरडेविल्स टीम के कप्तान गौतम गंभीर ने 3 मैचों में 70 रन बनाए हैं।

कोलकाता. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सोमवार को कोलकाता नाइटराइडर्स और दिल्ली डेयरडेविल्स के बीच टूर्नामेंट का 13वां मैच शाम 8:00 बजे से ईडन गार्डन स्टेडियम में खेला जाएगा। आंकड़ों की बात करें तो दिल्ली और कोलकाता ने एकदूसरे के खिलाफ अब तक 20 मैच खेले हैं। इनमें से कोलकाता ने 12 और दिल्ली ने 8 में जीत दर्ज की है। हालांकि आज के मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स का पलड़ा भारी लग रहा है। दरअसल, मुंबई इंडियंस के खिलाफ जीत दर्ज करने के बाद उसका आत्मविश्वास बढ़ा है। वहीं, पिछले दो मैचों में हारने वाली कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) कोखराब फॉर्म से जूझ रही है।

दिल्ली डेयरडेविल्स
ताकत : गंभीर की कप्तानी और जेसन की बल्लेबाजी
- गौतम गंभीर अपनी कप्तानी में केकेआर को 2012 और 2014 में आईपीएल का चैम्पियन बना चुके हैं। इस बार वह दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान हैं। आईपीएल-11 में दिल्ली की टीम राजस्थान के खिलाफ डकवर्थ लुईस नियम के आधार पर 10 रनों से हार गई थी। जबकि दूसरे मैच में उसने मुंबई इंडियंस के खिलाफ आखिरी गेंद पर 7 विकेट से जीत दर्ज की।

- जेसन रॉय ने मुंबई इंडियंस के खिलाफ 53 गेंद में 91 (नॉटआउट) रनों की पारी खेली थी। वह शानदार फॉर्म में हैं। गंभीर की कप्तानी और जेसन की फॉर्म इस मैच में दिल्ली का पलड़ा भारी कर रहा है।

कमजोरी : गेंदबाजी परेशानी का सबब
- दिल्ली के लिए गेंदबाजी अब भी परेशानी का सबब बनी हुई है। तीनों मैच में उसके गेंदबाज कुछ खास नहीं कर सके हैं। मोहम्मद शमी ने 3 मैचों में 91 रन देकर 2 विकेट ही ले सके हैं।

- आज का मैच कोलकाता में होना है, जो शमी का गृह मैदान है। संभव है वह अपने घेरलू मैदान पर कुछ खास कर सकें। क्रिस मौरिस ने भी दो मैचों में सिर्फ 1 विकेट ही लिए हैं।

कोकलाता नाइटराइडर्स
ताकत: गेंदबाज सुनील नरेन, पीयूष चावला और कुलदीप यादव की अच्छी फॉर्म
- केकेआर का गेंजबाजी अटैक बहुत अच्छा है। शनिवार को सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ मैच में उसने 20 ओवर में महज 138 रन बनाए थे। इसके बावजूद सनराइजर्स को यह टारगेट हासिल करने में 19 ओवर और 5 विकेट गंवाने पड़े।

- केकेआर के लिए सुनील नरेन ने 3 मैचों में 64 रन देकर 4 विकेट लिए हैं। सुनील ने सनराइजर्स के खिलाफ मैच में 4 ओवर में सिर्फ 17 रन दिए और दो विकेट लिए। इसके अलावा गेंदबाज कुलदीप यादव और पीयूष चावला भी फॉर्म में हैं।

कमजोरी: बड़ा स्कोर खड़ा नहीं कर पाना
- केकेआर 3 मैच में सिर्फ एक बार 200 का आंकड़ा पार कर सकी है। एक मैच में उसने 138 और एक में 177 रन बनाए। कप्तान दिनेश कार्तिक ने 3 मैच में 90 रन बनाए हैं। आंद्रे रसेल ने एक मैच में नॉटआउट 88 रन बनाए थे, लेकिन 3 मैच में उनका टोटल 112 रन ही है।

- 20 ओवर के मैच में अब 170 रन तक का टारगेट देने वाली टीम मैच जीतने की बहुत उम्मीद नहीं कर सकती। ऐसे में जब तक केकेआर के बल्लेबाज फॉर्म में नहीं लौटते हैं, तब तक उसका जीतना असंभव ही है।

टीमें (संभावित):
कोलकाता नाइटराइडर्स : दिनेश कार्तिक (कप्तान/विकेटकीपर), आंद्रे रसेल, क्रिस लिन, रॉबिन उथप्पा, कुलदीप यादव, पीयूष चावला, नितीश राणा, कमलेश नागरकोटी, शिवम मावी, मिशेल जॉनसन, शुभमन गिल, विनय कुमार, रिंकू सिंह, कैमरून डेलपोर्ट, जेवन सीयरलेस, अपूर्व वानखेड़े, इशांक जग्गी, टॉम कुरेन।

दिल्ली डेयरडेविल्स: गौतम गंभीर (कप्तान), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), श्रेयस अय्यर, ग्लेन मैक्सवेल, अमित मिश्रा, शहबाज नदीम, विजय शंकर, राहुल तेवतिया, मोहम्मद शमी, ट्रेंट बोल्ट, कोलिन मुनरो, क्रिस मौरिस, विजय शंकर, डेनियल क्रिस्टियन, जैसन राय, नमन ओझा, पृथ्वी शॉ, गुरकीरत सिंह मान, अवेश खान, अभिषेक शर्मा, जयंत यादव, हर्षल पटेल, मंजोत कालड़ा, संदीप लामीछाने, सायन घोष।

- दिल्ली डेयरडेविल्स ने इस टूर्नामेंट में अब तक 3 मैच खेले और एक में जीत दर्ज की। कोलकाता नाइटराइडर्स ने भी 3 मैच खेले। उसने अपना पहला मैच जीता, जबकि बाद के दोनों में उसे हार का सामना करना पड़ा। अंकतालिका में कोलकाता 5वें और दिल्ली 7वें नंबर पर हैं।

कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक ने 3 मैच में 90 रन बनाए हैं। कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान दिनेश कार्तिक ने 3 मैच में 90 रन बनाए हैं।