--Advertisement--

ज्योति ने शुरुआती 11 वर्ल्ड कप में एक भी मेडल नहीं जीता था, अब चार महीने में 6 मेडल जीत लिए

Dainik Bhaskar

Jul 24, 2018, 10:53 AM IST

भारतीय महिला तीरंदाजों में दीपिका ने सबसे अधिक आठ वर्ल्ड कप मेडल जीते हैं, ज्योति सुरेखा दूसरे नंबर पर

ज्योति ने जर्मनी में सिल्वर मे ज्योति ने जर्मनी में सिल्वर मे
  • 2014 एशियन गेम्स में भारत को महिला वर्ग में सिर्फ एक ब्रॉन्ज मेडल मिला था
  • ज्योति ने 6 साल में 12 वर्ल्ड कप खेले, पहली बार शंघाई में जीता मेडल

नई दिल्ली. 'जब आप नहीं जीत रहे होते हैं, तो जीत के बारे में सोचना भी मुश्किल हो जाता है। इसलिए जब आप जीतते हैं तो अपने इस सिलसिले को लगातार बढ़ाते रहिए।' यह कहना है ज्योति सुरेखा वेन्नम का, जिन्होंने इस साल तीरंदाजी वर्ल्ड कप में छह मेडल जीत लिए हैं। वे भारत के लिए दीपिका कुमारी के बाद वर्ल्ड कप में सबसे अधिक मेडल जीतने वाली महिला तीरंदाज हैं। दीपिका ने वर्ल्ड कप में आठ मेडल जीते हैं।

इसी साल जीता पहला वर्ल्ड कप मेडल: 22 साल की ज्योति ने इस साल अप्रैल में अपने करिअर का पहला वर्ल्ड कप मेडल जीता। यह उनका छह साल में 12वां वर्ल्ड कप (शंघाई) था। वे शुरुआती 11 वर्ल्ड कप में एक भी मेडल नहीं जीत सकी थीं। उन्होंने शंघाई के बाद अंताल्या, साल्ट लेक सिटी और बर्लिन आर्चरी वर्ल्ड कप में पांच और मेडल जीते। ज्योति ने 'ईएसपीएन' से कहा, 'मुझे कई बार लगता था कि मैं वर्ल्ड कप में मेडल नहीं जीत सकूंगी। पर मैंने हार के बावजूद कोशिश जारी रखी और आगे की कहानी सभी को पता है।'

एशियन गेम्स में बेहतर प्रदर्शन का लक्ष्य: ज्योति का अगला लक्ष्य एशियन गेम्स है। उन्होंने कहा, "हमने पिछले एशियन गेम्स में महिला वर्ग में सिर्फ एक ब्रॉन्ज मेडल जीता था। इस बार हमें बेहतर प्रदर्शन करना है।" एशियन गेम्स में तीरंदाजी में कड़ा मुकाबला होता है। दक्षिण कोरिया, चीन, ताइवान और जापान विश्वस्तरीय टीमें हैं।

X
ज्योति ने जर्मनी में सिल्वर मेज्योति ने जर्मनी में सिल्वर मे
Astrology

Recommended

Click to listen..